Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Varanasi ›   BJP mission 2022: BL Santosh spoke to workers in Varanasi give mantra of booth from Diya Youth 

भाजपा का मिशन 2022: वाराणसी में कार्यकर्ताओं से बोले बीएल संतोष- जनता के बीच सक्रिय होकर बांटें दुख-दर्द, दिया यूथ से बूथ का मंत्र

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Published by: गीतार्जुन गौतम Updated Thu, 21 Oct 2021 01:22 AM IST

सार

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में कहा कि अति आत्मविश्वास और अहंकार जनप्रतिनिधियों के लिए घातक है। उन्होंने जनता के बीच सक्रिय होकर दुख-दर्द बांटने को कहा।
मंचासीन राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष साथ में क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव व प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा व अन्य पदाधिकारी।
मंचासीन राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष साथ में क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव व प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा व अन्य पदाधिकारी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पूर्वांचल की सियासी बिसात को साधने पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने कार्यकर्ताओं से बिना अपेक्षा संगठन में काम करने की नसीहत दी। बैठक में जनप्रतिनिधियों के पेंच कसे और कहा, अहंकार और अति आत्मविश्वास जनप्रतिनिधियों के लिए घातक होता है। आवश्यक है कि हम जनता से निरंतर संपर्क में रहे और उनके काम को प्राथमिकता दे। पुराने कार्यकर्ताओं, पार्षदों, पंचायत सदस्यों, ब्लाक प्रमुखों, पार्टी कार्यकर्ताओं एवं विचार परिवार के कार्यकर्ताओं से समन्वय व संवाद निरंतर बनाए रखे।

विज्ञापन


उन्होंने संगठन में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने की बात कही और कहा, महिलाओं को कार्यक्रमों में तिलक-अक्षत तक सीमित न करें। उन्हें सक्रिय राजनीति में लाएं और उनकी संख्या बढ़ाएं। संगठन और सरकार की समीक्षा करने आए राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने पार्टी पदाधिकारियों और सांसद-विधायकों के साथ रोहनिया स्थित क्षेत्रीय कार्यालय पर अलग-अलग बैठक की।


उन्होंने जनप्रतिनिधियों को नसीहत दी कि जनता के बीच सक्रिय होकर यह समझें कि कहीं नाराजगी तो नहीं है। अगर ऐसा फीडबैक मिले तो सब मिलकर उसे दूर करें। विधानसभा चुनाव की आहट के बीच विवाद और अनावश्यक बयानबाजी से बचने की जरूरत है। उन्होंने कहा, काशी से ही जीत की राह निकलती है। उन्होंने कहा, काशी क्षेत्र की 71 में 55 सीटें भाजपा ने जीती थीं और इस बार 65 सीट का लक्ष्य हमारे सामने है।

विपक्षी मंसूबों को बेनकाब करने को कहा

इसके लिए सार्थक तरीके से विपक्षी मंसूबों को बेनकाब करें और सरल भाषा में अपनी बात जनता तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों के बीच महिलाओं से सम्पर्क के दौरान महिला कार्यकर्ता की अगुआई में ही सम्पर्क अभियान की शुरुआत करे। इसी तर्ज पर अनुसूचित जाति एवं जनजाति से सम्पर्क करने का दायित्व उसी समाज को सौंपा जाए। काशी के प्रभारी सुब्रत पाठक ने भी संबोधित किया। क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव ने स्वागत भाषण दिया।

दिल्ली-लखनऊ का चक्कर छोड़ क्षेत्र में जुटें

राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने संगठन का पाठ पढ़ाया और कहा, कार्यकर्ता, पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि दिल्ली-लखनऊ का चक्कर छोड़ दें और अपने क्षेत्र में जुटें। सप्ताह में पांच दिन विधानसभा में रहें और हर छोटी-बड़ी घटनाओं पर नजर रखें। बूथ स्तर तक की कमेटियों का गठन करें और यह सुनिश्चित करें कि सभी जातियों की भागीदारी संगठन में दिखाई दे।

प्रदर्शन पर तय होगी उम्मीदवारों की सूची
बैठक में राष्ट्रीय महामंत्री संगठन ने साफ किया कि संगठन में सक्रियता और जनता के बीच कामकाज ही विधानसभा में टिकट का आधार होगा। ऐसे में किसी मुगालते में न रहें और पूरी ताकत से अपने क्षेत्र में सकारात्मक काम करें। उम्मीद्वारों की सूची तय होने से पहले दावेदारों का प्रदर्शन ही अहम होगा।

पीएम की सभा से होगा चुनावी शंखनाद

बीएल संतोष ने पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि आगामी 25 अक्तूबर को वाराणसी की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा ऐतिहासिक होनी चाहिए। इसके लिए सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता अपने-अपने स्तर पर जी-जान से जुट जाएं। प्रधानमंत्री को काशी, प्रदेश और देश के लोग अगाध स्नेह करते हैं, यह उनकी जनसभा के दौरान दिखाई भी देना चाहिए। बैठक में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, सांसद सीमा द्विवेदी, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार रविंद्र जायसवाल, विधायक अवधेश सिंह, सुरेंद्र नारायण सिंह, लक्ष्मण आचार्य, भाजपा प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा, क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव, महामंत्री अशोक चौरसिया, क्षेत्रीय मंत्री अशोक तिवारी, किसान मोर्चा के क्षेत्रीय महामंत्री जयनाथ मिश्र सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

जातिवाद से राष्ट्रवाद की ओर लाना है चुनाव
पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में राष्ट्रीय महामंत्री संगठन ने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनावों को जातिवाद से राष्ट्रवाद की और ले जाना है। चुनाव की तैयारियों में लगभग 70 दिन का समय बचा है। विधानसभा प्रभारी को अपनी विधानसभा में सप्ताह में 4 से 5 दिन मंडल में प्रवास करना होगा। संगठन द्वारा बनाई गयी रचना के अनुसार जनप्रतिनिधियों, चुनाव संचालन समिति, मंडल पदाधिकारी एवं बूथ समिति से निरंतर संपर्क और संवाद स्थापित करना होगा तथा विधानसभा चुनाव संचालन समिति की नियमित बैठके करनी होगी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00