विज्ञापन
विज्ञापन

महज ढाई साल में हुईं 154 हत्याएं

अमर उजाला ब्यूरो प्रतापगढ़ Updated Fri, 24 Jun 2016 12:10 AM IST
154 murder in 30 months
ख़बर सुनें
बेल्हा में ढाई साल के भीतर 154 लोगों की हत्या कर दी गई। बेखौफ लुटेरे और चोरों के आगे भी पुलिस पूरी तरह से नतमस्तक होती नजर आई। इस अवधि के भीतर जहां 122 घटनाएं लूट की हुईं। वहीं चोरी की 664 और बाइक चोरी की 307 वारदातों को अंजाम दिया गया। जनपद की कानून व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन जमीन व रंजिश के साथ ही छोटे मामलों को लेकर लहू बहाया जा रहा है। कानून के रखवालों के तमाम प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं।
विज्ञापन
अधिकारियों का आदेश थानों की रद्दी की टोकरी में डाला जा रहा है। जिसके चलते हत्या से लेकर संगीन अपराधों में लगातार वृद्धि होती आ रही है। बेखौफ अपराधी थानों में घुसकर हत्या करने से भी नहीं चूक रहे हैं। मानिकपुर थाने पर अंधाधुंध फायरिंग करने के साथ ही संतरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हाल ही में जेठवारा, मानधाता, लालगंज में हत्याएं होती रहीं। खास बात यह है कि वर्ष 2016 के आगाज से ही लोगों को खून बहने लगा। पांच महीने के भीतर जनपद में अब तक हत्या के 26, डकैती के 3, लूट के 31, नकबजनी के 59, वाहन चोरी के 156, जानलेवा हमले के 9 दुष्कर्म के 30 मुकदमे थानों में दर्ज किए जा चुके हैं।

हत्या में लालगंज तो बाइक चोरी में नगर कोतवाली अव्वल
जनवरी से लेकर मई माह के भीतर लालगंज में पांच हत्याएं हो चुकी हैं। नगर कोतवाली में चार मर्डर हुए हैं। इसके अलावा नगर कोतवाली में ही 71 वाहन चोरी के मामले दर्ज हैं। लूट के मामले में सांगीपुर में सबसे अधिक पांच और नगर कोतवाली में चार केस दर्ज हुए हैं। इससे इतर कोहड़ौर, फतनपुर, महेशगंज, सांगीपुर और उदयपुर में अभी तक हत्या की एक भी घटना नहीं हुई।

अपराध कम करने के लिए केस दर्ज करने में होती है हीलाहवाली
शासन को हर माह अपराध समीक्षा रिपोर्ट भेजी जाती है। जिसमें तीन वर्ष के अपराधों की तुलना अधिकारी करते हैं। आंकड़ों की बाजीगरी को सही करने के लिए केस दर्ज करने में सभी थानों की पुलिस हीलाहवाली करती है। अधिकारियों के बार- बार आदेश के बाद भी मुकदमा दर्ज करने से थानेदार भागते रहते हैं। ताकि उनके क्षेत्र में अपराध की कमी आंकड़ों में दर्शायी जा सके। मानधाता, जेठवारा, रानीगंज, फतनपुर, नगर कोतवाली, लालगंज, सांगीपुर , उदयपुर थाने में बाइक चोरी के साथ ही दूसरी चोरी की घटनाएं दर्ज करने से पुलिस बचती रहती है। जब आला अधिकारियों का डंडा चलता है या फिर सत्तादल के नेताओं का दबाव पड़ता है, तब जाकर मुकदमा दर्ज किया जाता है।
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Pratapgarh

पीठासीन अधिकारी ने दो लोगों के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

पीठासीन अधिकारी ने दो लोगों के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

23 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

कमलेश तिवारी हत्याकांड में ATS को मिली कामयाबी, दोनों मुख्य आरोपी गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों आरोपियों को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों आरोपियों के नाम अश्फाक और मुईनुद्दीन है.

22 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree