ग्राम पंचायत अधिकारी निलंबित

Kushinagar Updated Fri, 24 Jan 2014 05:45 AM IST
पडरौना। तमकुही विकास खंड के ग्राम पंचायत अधिकारी विजय प्रताप सिंह को सोमवार को जिला पंचायतराज अधिकारी ने निलंबित कर दिया। इनके ऊपर शौचालय की धनराशि आवंटन में धांधली करने का आरोप लगाया गया था, जिसकी जांच एसडीएम कसया से कराई गई थी।
तमकुहीराज विकास खंड के बसडीला निवासी प्रमोद पांडेय ने तहसील दिवस पर शिकायत की थी कि उनके गांव के ग्राम पंचायत अधिकारी ने एक ऐसे व्यक्ति के नाम शौचालय का आवंटन कर दिया है, जिस नाम तथा जाति के व्यक्ति उस गांव में निवास नहीं करते हैं। इस मामले की जांच कसया के एसडीएम को दी गई, उन्हाेंने अपने जांच आख्या में बताया कि आरोपी के नाम और जाति का व्यक्ति उस गांव में निवास नहीं करते हैं। इसके बाद जिला पंचायतराज अधिकारी ने पहले तो शौचालय के नाम पर आवंटित धन 3200 रुपये से आधे-आधे की वसूली ग्राम पंचायतराज अधिकारी और ग्राम प्रधान करने का आदेश दिया। इसके बाद सोमवार को उन्होंने ग्राम पंचायत अधिकारी को निलंबित करते हुए उन्हें तमकुहीराज कार्यालय से संबद्ध कर दिया।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी का रिश्वतखोर लेखपाल कैमरे में कैद

ये वीडियो एक लेखपाल का है जो किसान से उसकी एक रिपोर्ट के लिए पांच हजार रुपये की मांग कर रहा है। वीडियो कुशीनगर की खड्डा तहसील का बताया जा रहा है।

7 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls