बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

कक्षा तीन के बच्चे का शांतिभंग में चालान

ब्यूरो/अमर उजाला कौशाम्बी Updated Wed, 01 Apr 2015 11:51 PM IST
विज्ञापन
crime news

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
चायल (कौशाम्बी)। पुलिस घटनाओं की जांच और कार्रवाई कैसे थाने पर बैठकर करती है, इसकी ही एक बानगी बुधवार को चायल तहसील में देखने को मिली। जहां सरायअकिल पुलिस ने परिवार की दो महिलाओं में हुए झगड़े में तीसरी क्लास में पढ़ने वाले नौ साल के छात्र पर ही शांतिभंग का खतरा जताते हुए उसका चालान कर दिया है। मासूम बच्चे को जमानत के लिए आया देख एसडीएम सन्न रह गए। उन्होंने एसओ को कड़ी फटकार लगाई। उनसे स्पष्टीकरण भी मांगा है। साथ ही पुलिस अधीक्षक को भी सरायअकिल पुलिस की इस मनमानी से अवगत कराया। एसपी रतनकांत पांडेय ने भी प्रकरण की जांच और कार्रवाई की बात कही है।
विज्ञापन


देखें तो सरायअकिल कोतवाली क्षेत्र के खोंपा गांव की माया देवी पत्नी चित्रकेत का देवरानी लक्ष्मी देवी से विवाद है। दोनों के बीच इसी पुराने विवाद को लेकर 15 दिन पहले झगड़ा हो गया। शिकायत पर पुलिस ने शांतिभंग की आशंका जताते हुए माया देवी के पति चित्रकेत और दूसरे पक्ष की लक्ष्मी देवी और उसके नौ साल के बेटे जय सिंह (9) पर निरोधात्मक कार्रवाई कर दी। बुधवार को लक्ष्मी देवी अपने नौ साल के बेटे को लेकर जमानत करवाने एसडीएम चायल की अदालत पहुंची। मासूम को अदालत में जमानत के लिए आया देख एसडीएम रजनीश मिश्र की भौहें तिरछी हो गईं। मामले की जानकारी करने के बाद उन्होंने एसओ सरायअकिल को फटकार लगाई।


सरायअकिल पुलिस की इस मनमानी से उन्होंने एसपी को भी अवगत कराया। एडीएम ने एसओ को दो दिन के भीतर इस मामले में स्पष्टीकरण के साथ तलब किया है। एसडीएम ने बताया कि एसओ के मुताबिक कनैली चौकी प्रभारी द्वारा यह कार्रवाई की गई है। बता दें कि सरायअकिल पुलिस की मनमानी की ऐसी ही शिकायत मंगलवार को दौरे पर आए आईजी विशेष जांच प्रकोष्ठ से भी एक विवाहिता ने की थी। मामले में पुलिस अधीक्षक रतनकांत पांडेय ने बताया कि प्रकरण की जांच कराकर दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सरायअकिल पुलिस की मनमानी पर नाराजगी जताते हुए उप जिला मजिस्ट्रेट चायल रजनीश मिश्र ने अपने क्षेत्र के सभी कोतवाली प्रभारियों को निरोधात्मक  कार्रवाई के दौरान आरोपी के नाम के साथ उनकी उम्र का भी जिक्र करने का निर्देश दिया है। चेताया कि लापरवाही पर संबंधित पुलिसवालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us