मौत का साया बनकर आए भैंसे को खिलाते थे देसी अंडे

टीम डिजिटल, अमर उजाला, कानपुर Updated Mon, 06 Nov 2017 05:47 PM IST
eggs were used to feed buffalo who killed two persons
इसी भैंसे ने ली जान - फोटो : अमर उजाला
मौत का साया बनकर आए भैंसे को अजय पाल रोज देसी अंडे खिलाता था। उस भैंसे ने दोनों की सांसें छीनकर हमेशा-हमेशा के लिए गहरी नींद में सुला दिया। जानें डाक्टरों की राय...
ग्रामीणों ने बताया कि अजय पाल प्रजनन प्रक्रिया में सक्रिय रखने के लिए रोजाना देसी मुर्गी के कई अड्डे अपने पालतू भैंसे को खिलाता था। साथ ही हरा चारा, भूसा के संग तेल और गुड़ भी खिलाया जाता था। शनिवार को भैंसे को चारा वाली हौदी से दूर बांधने और उसके सामने ही चारा तैयार करने पर भैंसा आक्रामक हो गया। जब मालकिन अनारकली उसे खोलकर चारा वाली हौदी पर ले जाने लगी, तभी भैंसे ने हमलाकर मार डाला।

भूख में बेकाबू हो जाते हैं पशु
शिवराजपुर के राजकीय पशु चिकित्सालय में तैनात डा. आरडी राम ने बताया कि ग्रामीण भैंसों के प्रजनन के लिए अच्छी नस्लों के भैंसे पालते हैं। लोग उत्तेजना बनाए रखने वालीं खाद्य वस्तुएं उन्हें खिलाते हैं साथ ही पशु बहुत ज्यादा भूखे होने पर गुस्सा जाते हैं और हमलावर हो जाते हैं। हरनू गांव में हुई घटना का कारण इन्हीं दो बातों में से एक है। डाक्टर के अनुसार नवंबर माह पशुओं में गर्भाधान का उपयुक्त समय है, जितनी सर्दी होनी चाहिए उतनी है नहीं, जबकि भैंसे को लगातार उत्तेजक चीजें खिलाई जा रही होंगी  इसलिए वह और बेकाबू हो गया।


कानपुर चिड़ियाघर के पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आरके सिंह ने बताया कि भैंसे के आक्रामक होने के पीछे कई वजहें हो सकती हैं। प्रमुख वजहें ये हैं।

- भैंसे को बिच्छू, सांप जैसे किसी जहरीले जीव द्वारा काट लेना
- कुत्ते के काटने की वजह से काफी बाद रेबीज हो जाना 
- भैंसे को हष्ट पुष्ट रखने के लिए गर्म दवाओं के रिएक्शन से
- किसी आवाज से अचानक बिदक जाने पर क्रोध आ जाना
- मादा के साथ मिलन के दौरान अवरोध पैदा करने से बिदकना

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kanpur

पेटदर्द बना मौत की वजह, पेशाब करने के बहाने घर से निकला था

यूपी के हरदोई जिले के माधौगंज थाना क्षेत्र के ग्राम धनीगंज मजरा बढ़ैयाखेड़ा निवासी एक युवक ने पेट दर्द से परेशान होकर फांसी लगाकर जान दे दी।

24 फरवरी 2018

Related Videos

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत यहां एक-दूसरे के हुए 63 जोड़े

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत मण्डी समिति सुमेरपुर में 63 जोड़े ने शादी की। जिसमें एक मुस्लिम, दो नेत्रहीन जोड़े भी परिणय सूत्र में बंधे।

24 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen