रानी के किले की तलहटी में बिखरे कला- संस्कृति के रंग

Jhansi Updated Sun, 09 Dec 2012 05:30 AM IST
झांसी। गीत - संगीत और नृत्य की तमाम प्रस्तुतियों के साथ शनिवार को झांसी महोत्सव का शुभारंभ हुआ। इसी के साथ शुरू हुआ देश की विविध हस्त कलाओं को अपने में समेटे हुए क्राफ्ट मेले का। इस अवसर पर वक्ताओं ने बुंदेलखंड की गौरवशाली पुरा विरासत को याद करते हुए इसे वीरों की धरा बताया तथा आधुनिक विकास की मुख्य धारा से जोड़ने की बात कही।
महोत्सव की शुरुआत में दिल्ली से आए शहनाई वादक पं. दयाशंकर ने तीन ताल बंदिश, होली गीत धुन, श्याम कल्याणी राग व राग काफी की सुंदर प्रस्तुति की। उनके साथ शहनाई पर अश्वनी शंकर, तबले पर आनंद शंकर व हारमोनियम पर विजय स्वामी ने संगत दी। दिल्ली से आईं कत्थक नृत्यांगना रानी खानम ने सूफियाना अंदाज में कत्थक की विभिन्न विधाओं की शानदार प्रस्तुति की। उन्होंने प्रस्तुति की शुरुआत में लक्ष्मीबाई को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद अंदाज ए रक्स, खोलो जी किवड़िया गीत पर नृत्य, अमीर खुसरो की कव्वाली छाप तिलक ...., गुल्ले शाह के सूफियाना गीत तेरे इश्क ने नचाया ता ता थैय्या की प्रस्तुति की। अंत में सूफियाना शैली में गाए गाए दमादम मस्त कलंदर गीत पर कत्थक नृत्य प्रस्तुत कर खूब तालियां बटोरी। उनके साथ शालिनी शर्मा, शिल्पा वर्मा, नेहा चौहान व अनुपमा कौशिक ने कत्थक नृत्य की प्रस्तुति की। गायक शोएब हसन ने आयोजन में जमकर समां बांधा। तबले पर नौशाद अहमद ने संगत दी। अंत में कोलकाता के मैनडोलिन वादक सुघातो भादुड़ी ने दक्षिण भारतीय राग चारूकेशी छेड़ा। इस दौरान उन्होंने अलाप बाजन, मध्य लय सितारख्वानी व द्रुत तीन ताल की प्रस्तुति की। अनिल मोघे ने तबले पर संगत दी।
इससे पूर्व किले की तलहटी में स्थित क्राफ्ट मेला ग्राउंड में शनिवार की शाम मेला का शुभारंभ मुख्य अतिथि मंडलायुक्त सत्यजीत ठाकुर ने किया। मेला परिसर का भ्रमण करते हुए उन्होंने हस्त शिल्पियों की कला के नमूनों को देखा। साथ ही मंडलायुक्त ने मेला परिसर में प्रदर्शन के लिए रखे गए आर्मी के साजो - सामान व अन्य उपकरणों का अवलोकन किया तथा जानकारियां लीं। मंडलायुक्त ने कहा कि क्राफ्ट मेला का प्रमुख उद्देश्य देश के कोने - कोने में बिखरी हस्तकला को एक मंच पर लाना है, ताकि लोगों को देश की कला विरासत को जानने का मौका मिले। तदुपरांत, कमिश्नर ने मुक्ताकाशी मंच पर झांसी महोत्सव का दीप प्रज्ज्वलन व वीरांगना महारानी लक्ष्मी बाई के चित्र पर माल्यार्पण के साथ शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने रानी, वानपुर के राजा मर्दन सिंह की वीरगाथा को याद किया। साथ ही मेजर ध्यानचंद को भी श्रद्धासुमन अर्पित किए। वेद व्यास को याद कर उन्होंने बुंदेलखंड की पुरा महत्व के बारे में बताया। साथ ही उन्होंने लोगों से झांसी को हरा - भरा व स्वच्छ रखने की अपील की। इस दौरान जिलाधिकारी गौरव दयाल ने मंडलायुक्त का शॉल व श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। जबकि, जिलाधिकारी का मुख्य विकास अधिकारी अनुज कुमार झा ने स्वागत किया। शाकुंतल ग्रुप के कलाकारों ने मुख्य द्वार पर बुंदेली नृत्य की प्रस्तुति कर अतिथियों का स्वागत किया। लोक मान्य तिलक कन्या इंटर कालेज की बालिकाओं ने स्वागत गीत व सरस्वती वंदना प्रस्तुत की।
इस मौके पर मेयर किरन वर्मा, पूर्व राज्य मंत्री हरगोविंद कुशवाहा, अपर आयुक्त (प्रशासन) पिंकी जोवेल, मुख्य विकास अधिकारी अनुज कुमार झा, संयुक्त आयकर आयुक्त वृंदा दयाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के एजिलरसन, अपर जिलाधिकारी उमेश नारायण पांडेय, नगर मजिस्ट्रेट पी के श्रीवास्तव समेत निरंकार नाथ पांडेय, संतराम पेंटर, मोहन नेपाली, कैलाश चंद्र जैन, नीति शास्त्री, रामतीर्थ सिंघल, चंद्रकांत अवस्थी, रामकिशन निरंजन आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018