सीपी मिशन में हुई लाखों की चोरी का खुलासा

Jhansi Updated Mon, 06 Aug 2012 12:00 PM IST
झांसी। नगर के सीपी मिशन कंपाउंड में दवा व्यवसायी के घर से करीब 22 लाख रुपये के जेवरात की चोरी के मामले का एसओजी टीम ने रविवार को खुलासा कर दिया है। गिरोह के सरगना समेत चार शातिरों को दबोच लिया गया है। चोरों की निशानदेही पर एक ज्वैलर्स से हीरे के दो हारों को छोड़कर सोने- चांदी के सभी जेवरात बरामद कर लिए गए हैं। वारदात में प्रयुक्त दो चौपहिया वाहन भी जब्त कर लिए गए हैं।
बीते 14 जुलाई की रात सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के सीपी मिशन कंपाउंड निवासी दवा व्यवसायी संजय अग्रवाल पुत्र बृजमोहन अग्रवाल का पूरा परिवार रात करीब एक बजे खाना खाकर सो गया। 15 जुलाई की सुबह करीब साढ़े छह बजे वृद्ध बृजमोहन अग्रवाल ने जब अपने कमरे का दरवाजा खोला तो वह नहीं खुला। उन्होंने अपने नौकर गोपी को आवाज दी। तब गोपी ने बाहर से दरवाजा खोला। इसकी जानकारी होने पर पूरा परिवार जाग गया। तब परिजनों को पता चला कि ऊपरी मंजिल के एक कमरे की खिड़की खोलकर घर में घुसे बदमाश एक कमरे में रखी अलमारी में रखे जेवरात से भरे ब्रीफकेस को उठा ले गए हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस को नजदीक के निर्माणाधीन मकान से खाली ब्रीफकेस मिला था।
इस सनसनीखेज वारदात के खुलासे के लिए एसएसपी के एजिलरसन ने थाना पुलिस और एसओजी टीम को लगाया था। शनिवार की रात एसओजी टीम को सूचना मिली कि सागर, गुना व शिवपुरी आदि जिलों में चोरी की बड़ी वारदातों को अंजाम देने वाले पारदी गैंग ने इस वारदात को अंजाम दिया है और इसका सरगना कोतवाली क्षेत्र का निवासी है। इसके बाद टीम ने घेराबंदी कर रात करीब दस बजे सरगना अजीत यादव उर्फ बूबा को दबोच लिया। कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने दवा व्यवसायी के घर लाखों के जेवरात की चोरी की वारदात कबूल ली। उसने बताया कि वारदात को अंजाम देने वालों में 13 लोग शामिल थे। पूरा गिरोह टाटा सूमो विक्टा और इंडिका में सवार होकर गया था। उसने बताया कि वह दवा व्यवसायी को पहले से जानता था। वारदात से कुछ दिन पूर्व वह दवा व्यवसायी से मिलने के बहाने उसके घर गया और पूरे घर की रैकी की। इसके बाद पारदी गैंग के सक्रिय सदस्यों को गुना, शिवपुरी व अन्य स्थानों से बुलाया। वारदात का खुलासा होने के बाद एसओजी टीम सरगना को लेकर पूरी रात दबिश देती रही। टीम ने अलग- अलग स्थानों से चार लोगों को दबोच लिया। गिरफ्तार लोगों ने बताया कि चुराए गए जेवरात उन्होंने आंतिया ताल नई बस्ती निवासी एक सुनार को बेचे थे। इस पर पुलिस ने दुकान में छापा मार कर चोरी के समस्त सोने- चांदी के जेवरात बरामद कर लिए।

चोरी की इस वारदात के खुलासे में एसओजी टीम ने दिन रात बहुत कड़ी मेहनत की है। इस टीम को पुरस्कृत किया जाएगा।
- डा. के. एजिलरसन एसएसपी

वारदातों को अंजाम देने को खरीदे हैं वाहन
गिरफ्तार गिरोह के एक सक्रिय सदस्य ने कड़ाई से पूछताछ में बताया कि चोरी की बड़ी वारदातों को अंजाम देने के लिए उसने टाटा सूमो विक्टा और इंडिका कार खरीदी है। वारदात को अंजाम देने के बाद होने वाले हिस्से में एक हिस्सा वह गाड़ी खर्च के रूप में लेता है। उसने बताया कि विगत दिनों शिवपुरी और सागर में हुई बड़ी चोरी की वारदातों में भी उसकी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया था।


गनीमत रही वारदात को समय कोई नहीं जागा
गिरोह के सरगना अजीत यादव उर्फ बूबा ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के लिए गिरोह के करीब छह सदस्य उसके साथ घर के अंदर घुसे थे। उनके हाथ में सब्बल और असलहे थे। चूंकि, काफी मात्रा में माल हाथ लगना था, इसलिए फैसला किया गया था कि यदि कोई जागकर विरोध करेगा तो उसे वहीं धराशाई कर देंगे।

नकली हीरे समझकर दोनों हारों को फेंक दिया
गिरफ्तार लोगों ने बताया कि जेवरात चुराने के बाद वह भाग गए। सुनार के पास जाने से पहले उन्होंने जेवरातों को देखा तो उन्हें लगा कि दो हार नकली हीरे के हैं, जिसके चलते उन्होंने दोनों फेंक दिए। सिर्फ सोने और चांदी के जेवरातों को अपने पास रखा।

दो घंटे तक खंगालते रहे घर को
वारदात को अंजाम देने से पहले गिरोह के सदस्य दवा व्यवसायी के घर के आसपास चक्कर लगाते रहे। जब उन्होंने देखा कि पूरा परिवार सो गया है तो वह घर के अंदर घुसे। सरगना ने बताया कि गिरोह करीब डेढ़ बजे घर के अंदर घुसा और साढ़े तीन बजे पूरा घर खंगालकर बाहर आ गया।

वारदात के बाद हिमाचल घूमने गया था गिरोह
पुलिस की सक्रियता के चलते पूरा गिरोह घूमने के लिए हिमाचल चला गया। वहां कई स्थानों पर 15 दिन तक घूमता रहा और लगातार पुलिस की सक्रियता की जानकारी लेता रहा। जब उन्हें पता चला कि पुलिस का ध्यान हट गया है तो वह दूसरी वारदात को अंजाम देने के लिए गिरोह के सभी सदस्य लौट आए।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper