शिक्षकों की प्रमोशन प्रक्रिया रुकी

Jaunpur Updated Fri, 04 May 2012 12:00 PM IST
जौनपुर। प्राइमरी और जूनियर हाईस्कूलों के शिक्षकों की पदोन्नति प्रक्रिया फिर रोक दी गई है। दो दिन काउंसिलिंग कराए जाने के बाद प्रमोशन प्रकरण पर स्थिति साफ नहीं हो पाई है। कहा जा रहा है कि फिलहाल शासन के अगले आदेश तक पूरी प्रक्रिया ठंडे बस्ते में रहेगी। बताया जा रहा है कि शासन स्तर से ही मौखिक आदेश पर प्रमोशन प्रक्रिया रोकी गई थी। ऐसा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर किया गया था। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ जाने के बावजूद कोई नया आदेश नहीं आया। जिले के करीब साढ़े छह सौ शिक्षक सीधे तौर पर प्रभावित हो रहे हैं। प्रोन्नत वेतनमान के साथ वरिष्ठता भी प्रभावित होगी। तय नहीं है कि प्रमोशन में रिजर्वेशन रखा जाए या फिर बगैर रिजर्वेशन के प्रमोशन किया जाएगा। शासन की गाइड लाइन का इंतजार हो रहा है।
अभी पिछले महीने 12 से 14 अप्रैल तक 640 शिक्षकों की काउंसिलिंग की गई थी। काउंसिलिंग में 31 दिसंबर 2005 तक भर्ती सामान्य वर्ग और फरवरी 2009 तक भर्ती हुए अनुसूचित जाति जनजाति के शिक्षकों को शामिल किया गया था। इन्हें नए शैक्षिक सत्र से प्रमोशन देने का भरोसा दिलाया गया था। प्राइमरी स्कूलों के सहायक अध्यापक प्रमोशन के बाद प्राइमरी स्कूलों के प्रधानाध्यापक या फिर जूनियर हाईस्कूलों के सहायक अध्यापक पद पर तैनात किए जाने थे। इसी तरह प्राइमरी स्कूलों के प्रधानाध्यापक जूनियर के हेडमास्टर पद पर पदोन्नति के लिए बुलाए गए थे। तीन दिन तक चली काउंसिलिंग के बाद पूरा मामला ठंडे बस्ते में चला गया। वजह बताई गई कि सुप्रीम कोर्ट में प्रमोशन में आरक्षण से संबंधित रिट याचिका पर फैसले की तिथि घोषित कर दी गई है। इस नाते कोर्ट के आदेश की प्रतीक्षा में प्रमोशन रोक दिए गए। यह भी कहा जा रहा है कि शासन स्तर से पदोन्नति प्रक्रिया रोकने के मौखिक आदेश हुए थे। यही कारण है कि पूरी प्रक्रिया ठंडे बस्ते में डाल दी गई। प्रमोशन के संबंध में राज्य सरकार से भी कोई आदेश नहीं आने के कारण फिलहाल इस पर कोई कार्यवाही नहीं चल रही है। यहां तक कि शिक्षकों की वरिष्ठता सूची भी जारी नहीं हो पाई। प्रमोशन का इंतजार कर रहे शिक्षक बीएसए कार्यालय में तहकीकात करा रहे हैं लेकिन कोई स्थिति साफ नहीं हो रही है। यही बताया जा रहा है कि फिलहाल अभी कुछ नहीं होगा।

वर्जन:--
फिलहाल प्रमोशन प्रक्रिया रोकी गई है। जब तक शासन का अगला कोई आदेश नहीं आ जाता तब तक कोई निर्णय नहीं होगा। - डा. विनोद कुमार शर्मा, बीएसए

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls