अव्यवस्था पर हाईकोर्ट ने सरकार से किया जवाब तलब

लखनऊ/ब्यूरो Updated Fri, 19 Oct 2012 02:25 PM IST
high court asks question on critical condition of hospital
राजधानी समेत प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में व्याप्त अव्यवस्था, मशीनों व दवाओं की कमी व जांचों की लचर व्यवस्था के आरोपों वाली पीआईएल पर हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने राज्य सरकार से जवाब तलब किया है। कोर्ट ने दो हफ्ते बाद अगली सुनवाई नियत की है।

वरिष्ठ न्यायमूर्ति उमानाथ सिंह व न्यायमूर्ति डॉ. सतीश चंद्रा की खंडपीठ ने गुरुवार को यह आदेश एक पीआईएल पर दिया। इसमें, सूबे के सरकारी अस्पतालों में व्याप्त अव्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश देने का आग्रह किया गया है। याची के वकील का आरोप था कि राजधानी समेत प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में अव्यवस्थाओं के साथ सुविधाएं खस्ताहाल हैं। जांच मशीनें कम हैं या फिर खराब हैं, वेंटीलेटर की कमी के साथ-साथ आम लोगों के लिए दवाओं की कमी भी है। कई अस्पतालों के भवन जर्जर हैं। याची ने इन सभी अव्यवस्थाओं को सुधारने की गुहार लगाई थी।

उधर, राज्य सरकार की ओर से अपर महाधिवक्ता बुलबुल गोदियाल ने याची के आरोपों को नकारते हुए याचिका का कड़ा विरोध किया। उन्होंने याचिका की बावत निर्देश प्राप्त करने के लिए समय दिए जाने का आग्रह कोर्ट से किया। इस पर अदालत ने समय देते हुए दो हफ्ते बाद मामले की अगली सुनवाई नियत की है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

स्वास्थ्य कर्मचारियों को मिलेगा दोगुना वेतन, दिल्ली सरकार देने जा रही है तोहफा

सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन दोगुना करने के साथ-साथ हर साल चिकित्सीय अवकाश के तौर पर 15 दिन की छुट्टी देने का फैसला लिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: काशी यात्रा की म्यूजिकल नाइट में जमकर थिरके छात्र

IIT BHU में चल रहे सांस्कृतिक महोत्सव काशी यात्रा की म्यूजिकल नाइट में स्टूडेंट्स ने जमकर मस्ती की। म्यूजिकल नाइट में संगीतकार और गायक अमित त्रिवेदी के गीतों पर सभी स्टूडेंट्स झूमते नजर आए।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper