बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : नारी शक्ति को किया प्रणाम

ब्यूरो, अमर उजाला/ हापुड़ Updated Wed, 08 Mar 2017 09:35 PM IST
विज्ञापन
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
मोनाड विश्वविद्यालय में बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। इसमें कुलसचिव कर्नल डीपी सिंह ने कहा कि आज का दिन महिलाओं के प्रति सम्मान व्यक्त करने का दिन है। महिलाएं ही अपने त्याग, समर्पण और परिश्रम से हमारे जीवन में रंग भरती हैं।
विज्ञापन


ऐतिहासिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो ऋग्वेद दौर तक देश में महिलाओं को समान अधिकार प्राप्त थे, परंतु कालांतर में स्थिति बिगड़ने लगी। वहीं विवि की छात्रा मानसी श्रेया ने कहा कि सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्तर पर समुचित भागीदारी के बिना महिला सशक्तीकरण का लक्ष्य पूरा नहीं हो सकता।


समारोह में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम व डॉक्यूमेंट्री फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। मुख्य अतिथि विमला देवी और विशिष्ट अतिथि डॉ. ऊषा सिंह को अंगवस्त्र व तुलसी का पौधा देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के छायाचित्र पर दीपांजलि व सरस्वती वंदना से हुआ। कार्यक्रम में डॉ. पायल भारद्वाज, डॉ. प्रशांत आर्यन, डॉ. निखिल कौशिक मौजूद रहे। 

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर बुधवार को कल्याणम सेवा संस्था के आह्वान पर सैकड़ों युवाओं ने नगर में जागरूकता रैली निकाली। घर-घर जाकर पदाधिकारियों ने ‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ’ का संदेश दिया। नागरिकों ने भी कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर भाग लिया।

रेलवे रोड स्थित माता मंदिर से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। संस्था के अध्यक्ष अभिनव ने कहा कि आज महिलाओं का चौतरफा उत्पीड़न हो रहा है। इसका मुख्य कारण यह है कि हम बेटियों को बेटों से कम आंकते हैं।

संस्था के सचिव प्रतीक ने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना चाहिए। उपाध्यक्ष मनोज त्यागी ने कहा कि हम महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं करते।

इस दौरान सैकड़ों युवाओं ने रेलवे रोड सहित नगर के कई मोहल्लों में रैली निकाल लोगों को महिलाओं की शिक्षा और सम्मान के प्रति जागरूक किया। इस मौके पर हरीश, आकाश, प्रज्ज्वल, दीपक, सिद्धार्थ, मिलन, शशि चहल आदि का सहयोग रहा।

अवंतिका ग्रुप ऑफ कंटेपरेरी आर्टिस्ट एंड इंटेलेक्चुअल्स नई दिल्ली द्वारा गाजियाबाद रॉयल्स स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में विब्ग्योर इंटरनेशनल स्कूल पिलखुवा की प्रधानाचार्या छाया अग्रवाल को अवंतिका शिक्षक सम्मान से नवाजा गया।

यह सम्मान उन्हें शिक्षण क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए दिया गया। कार्यक्रम में अवंतिका ग्रुप के अध्यक्ष आनंद अग्रवाल ने प्रधानाचार्या द्वारा किए गए कार्यों को काफी सराहा। सम्मान समारोह से लौटने पर विद्यालय के समस्त शिक्षक शिक्षिकाओं और शहर के गणमान्य लोगों ने उन्हें बधाई दी।

ज्योति पुंज महिला एवं ग्राम विकास संस्थान के तत्वावधान में बुधवार को ग्राम ट्याला में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस महिला जागरूकता दिवस के रूप में मनाया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि विमला देवी ने कहा कि समाज में संतुलन

बनाए रखने के लिए महिलाओं को बराबरी का दर्जा दिए जाने की आवश्यकता है। महिलाएं समाज व परिवार की रीढ़ होती हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ सावित्री बाई फुले के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

अध्यक्षता कश्मीरी देवी व संचालन रुचि ने किया। इस मौके पर दीपाली, रक्षा देवी, अंजुम, रेशमा, अंजली, नेहा, रीना, बबीता, प्रिया, दीपा, सुमन आदि मौजूद रहीं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर गढ़ क्षेत्र की शिक्षण संस्थाओं में जागरूकता गोष्ठी और पौधरोपण किया गया। रेलवे रोड स्थित राजकुमार गोयल गर्ल्स डिग्री कॉलेज में जागरूकता से जुड़े विभिन्न कार्यक्रम हुए। इनका शुभारंभ प्रिंसिपल डॉ. कुसुम त्यागी ने किया।

कार्यक्रम में पौधरोपण भी किया गया। वहीं अक्षय सेवा समिति की ओर से जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें क्रिस्तो ज्योति कान्वेंट स्कूल के बच्चों ने रंगारंग और देशभक्ति कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

सीडीओ कुणाल सिल्कू, एसडीएम आरएन पांडेय, इंस्पेक्टर समरजीत सिंह और पालिका चेयर पर्सन संगीता पुरुषोत्तम ने महिलाओं को समानता का दर्जा और बालिका शिक्षा को विशेष बढ़ावा दिए जाने की आवश्यकता पर खास जोर दिया।

डीएम स्कूल में कार्यक्रम का शुभारंभ स्कूल प्रबंधक राजेंद्र सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। प्रिंसिपल मंजू चौधरी ने महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और उनके सशक्तिकरण के लिए बालिका शिक्षा पर जोर दिया।

उन्होंने स्कूल की चतुर्थ श्रेणी महिला कर्मियों को वस्त्र देकर सम्मानित भी किया। इस दौरान स्कूल कोऑर्डिनेटर सुदर्शनपाल, कुलदीप सिंह, आचार्य रामकुमार, अजय शर्मा, युधिष्ठिर यादव समेत अधिकांश टीचर मौजूद रहे।

बिहूनी गांव में त्यागी-ब्राह्मण महासभा के तत्वाधान में कार्यक्रम हुआ। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुबोध ने कहा कि रानी लक्ष्मीबाई और पन्ना धाय जैसी महिलाओं के त्याग को भुलाया जाना संभव नहीं है। ग्राम प्रधान संगठन जिलाध्यक्ष मेजर भीष्म त्यागी, श्यामसुंदर, पवन शर्मा, अमित शुक्ला, मिथुन त्यागी, विक्की मौजूद रहे।

राजनैतिक जागरूकता, सामाजिक सक्रियता और आर्थिक स्वावलंबन के लिए सोच में बदलाव का मंत्र लेकर महिलाएं सशक्त हो रही हैं। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम ‘वीमेन इन द चेंजिंग वर्ल्ड ऑफ वर्क-प्लानेट 50-50 ब्वॉय 2030’ को लेकर चर्चा में है।

धौलाना तहसीलदार रेनुका दीक्षित कहती हैं कि देश में महिलाओं की स्थिति में बड़े बदलाव हुए हैं। पिछले 2-3 दशकों में कामकाजी महिलाओं के प्रतिशत में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। देश एवं विदेशों के प्राइवेट एवं सरकारी संस्थानों में से कई की मुख्य कार्यकारी अधिकारी महिलाएं ही हैं।

यह सब महिलाओं की प्रगतिशील सोच एवं संविधान द्वारा महिलाओं को दिए गए अधिकारों द्वारा ही संभव हो सका है। धौलाना सब रजिस्ट्रार शुभ्रा राय मानती हैं कि महिलाओं को सशक्तिकरण के लिए आगे आकर अपनी भूमिका तय  करनी होगी।

मातृ शक्ति को आत्मबल मजबूत कर असामाजिक प्रवृतियों से लड़ने के लिए निर्भय होकर दूषित मानसिकता का विरोध दर्ज कराने की आवश्यकता है। सह समन्वयक ब्लाक धौलाना सीमा तोमर के मुताबिक दुनिया के हर क्षेत्र में महिलाओं के लगातार योगदान से सब कुछ बदल रहा है।

एक तरफ हम वैश्विक बन रहे हैं, डिजिटल क्रांति की तरफ बढ़ रहे हैं। जबकि नारी और पुरुष दोनों समाज के अभिन्न अंग हैं तो अधिकारों में असमानता क्यों। कंधे से कन्धा मिलाकर चलने वाले समाज को स्नेह व विश्वास के साथ काम करने के अवसर व सम्मान देने की जरूरत है।

महिलाओं को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें समूह बनाकर स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। इसके लिए सरकारी स्तर से प्रोत्साहन के साथ ही अनुदान भी दिया जाएगा। महिलाओं को प्रशिक्षण देने के लिए गढ़ में जल्द ही प्रशिक्षण केंद्र खोला जाएगा। 

इसके लिए भूमि उपलब्ध कराने का जिम्मा तहसील प्रशासन को सौंपा गया है। योजना के तहत 10-10 महिलाओं के समूह बनाए जाएंगे। जिन्हें प्रशिक्षण केंद्र में समूह को चलाने और आगे बढ़ाने, बैंक से लेनदेन व ऋण हासिल करने के विषय में ट्रेनिंग दी जाएगी।

प्रशिक्षण हासिल करने वाले समूहों को पशु पालन, मूढ़ा-टोकरी, डेयरी, मुर्गी, बकरी पालन सहित स्थानीय स्तर पर उपलब्ध रोजगार से जोड़ा जाएगा। इसके लिए ब्लॉक स्तर से एक लाख तक का अनुदान भी मिलना प्रस्तावित है।

एसडीएम आरएन पांडेय का कहना है कि स्वर्ण जयंती ग्रामीण स्वरोजगार योजना के तहत अगर महिलाओं का प्रशिक्षण केंद्र बनाने के लिए भूमि मुहैया कराने की कोई डिमांड आती है, तो उसके आधार पर प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना के लिए भूमि उपलब्ध करा दी जाएगी।

तगासराय स्थित रामनिवास बालिका स्मारक इंटर कॉलेज में महिला दिवस के अवसर पर छात्राओं ने पौधारोपण किया। इस अवसर पर प्रधानाचार्या पूनम त्यागी ने कहा कि महिलाओं को अपने आत्मबल को बढ़ाते हुए आगे बढ़ना चाहिए।

इस दौरान विद्यालय अध्यक्ष परमानंद त्यागी, विद्यालय प्रबंधक हरीराज त्यागी, मंत्री गिरीश त्यागी ने अपने विचार व्यक्त किए।

इस दौरान काव्यंाजली वेलफेयर सोसाइटी की अध्यक्षा प्रीती त्यागी ने विद्यालय को भेंट 20 पौधे किए। इस मौके पर संतोष त्यागी, सरलेश तेवतिया, शशी बाला, आदेश कुमारी, वर्षा त्यागी, पूनम रानी आदि मौजूद रहे।

सिंभावली के बीआरसी कार्यालय में बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इसमें क्षेत्र की दस अध्यापिकाओं सोनिया सिंह, आरती वाजपेयी, रेखा रानी, चारू शर्मा, सीमा शर्मा, सीमा परवीन, प्रीति रानी,

अतुल माहेश्वरी, शालिनी रावत और अंजू रानी को एबीएसए मोहम्मद राशिद ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

एबीएसए ने कहा कि सम्मानित हुई सभी अध्यापिकाओं का शिक्षा के प्रचार प्रसार से जुड़े अभियान में खास योगदान और उनके स्कूलों में हाजिरी भी सर्वाधिक रही है। कार्यक्रम में एबीआरसी प्रवीण शर्मा, प्रदीप तेवतिया, निशा रानी, चंद्रकिरण, खानचंद शर्मा, मनोज कुमार, मुन्ना लाल रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X