बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बांदा में 41 और चित्रकूट में 29 संक्रमित मिले

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Thu, 13 May 2021 11:49 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
बांदा/चित्रकूट। बांदा में बृहस्पतिवार को 41 नए कोरोना मरीज पाए गए। सक्रिय मरीजों की संख्या 913 हो गई। इनमें ग्रामीण क्षेत्र के 27 संक्रमित शामिल हैं। उधर, चित्रकूट में 29 कोरोना संक्रमित मिले। सबसे ज्यादा राहत वाली बात यह रही कि बांदा में जहां 77 संक्रमित स्वस्थ हुए, वहीं चित्रकूट में 60 कोरोना संक्रमितों ने जंग जीतकर अपने-अपने घरों को चले गए।
विज्ञापन

बांदा के सीएमओ डा. एनडी शर्मा ने बताया कि नए पॉजिटिव मरीजों में 17 महिला व 24 पुरुष हैं। शहर में सिविल लाइन, अलीगंज, कटरा, बलखंडी नाका और ग्रामीण क्षेत्र में अतर्रा, बिसंडा, कमासिन, महुआ, मरका, खुरहंड के कोरोना पॉजिटिव शामिल हैं। उन्होंने बताया कि गुरुवार को 77 संक्रमित स्वस्थ हो गए। अब तक कुल 5650 मरीज ठीक हो चुके हैं। उधर, चित्रकूट जिले में बृहस्पतिवार को फिर राहत की खबर आई जब जांच रिपोर्ट के आधार पर सिर्फ 29 नए संक्रमित मरीज मिले। जिसमें एक जिला जेल का बंदी शामिल है। इसके अलावा पहले से पॉजिटिव मरीजों में 60 स्वस्थ होकर घर लौट गए। जिले में मृतकों की संख्या 64 और एक्टिव केस 901 हैं।

चित्रकूट में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या लगातार पांचवें दिन भी घट रही है। जिले के मानिकपुर, मऊ, रामनगर, राजापुर, पहाड़ी, सरैंया, भरतकूप, शिवरामपुर व सीतापुर क्षेत्र के स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना संक्रमितों की जांच का काम जारी रहा। बृहस्पतिवार को मिले पाजिटिव मरीजों में 4 मरीज पालिका कर्वी क्षेत्र के हैं, जबकि 25 अन्य सभी ग्रामीण क्षेत्रों के हैं। मुख्यालय के जिला अस्पताल समेत शहरी पीएचसी और नगर पालिका के पास स्कूल में जांच की गई। प्रभारी सीएमओ डा. इम्त्यिाज अहमद ने बताया कि सभी जगह मिलाकर कुल 1347 लोगों की जांच हुई है जिसमें 29 नए पाजिटिव मरीज मिले हैं। मृतकाें की कुल संख्या 64 है। जिले में कुल एक्टिव केस 901 हैं।
इंसेट---
चार और विचाराधीन बंदी पैरोल पर रिहा
बांदा। जेल से चार और विचाराधीन बंदियों को 60 दिन की पैरोल पर रिहा किया गया है। अब रिहा होने वाले बंदियों की संख्या 32 हो गई। उधर, 41 बंदियों की पैरोल पर रिहाई के लिए प्रार्थनापत्रों को स्वीकृति के लिए न्यायालयों को भेजा गया है। कारागार अधीक्षक प्रमोद तिवारी ने बताया कि शासन के आदेश पर एक सैकड़ा से अधिक विचाराधीन बंदियों को पैरोल पर रिहा करने को चिह्नित किया गया है। सूची शासन को भेज दी गई। कोर्ट की स्वीकृति के बाद दो दिन में 32 बंदियों को रिहा किया गया। 41 प्रार्थनापत्र स्वीकृति के लिए न्यायालय भेजे गए हैं। सात साल या इससे कम सजा वाले कैदियों की रिहाई का निर्णय शासन लेगा। (संवाद)
इंसेट---
कोरोना सर्वेक्षण अभियान का जायजा लिया
बांदा। डीएम आनंद कुमार सिंह ने सदर तहसील के तिंदवारा गांव में कोरोना लक्षणयुक्त सर्वेक्षण का जायजा लिया और ग्रामीणों से कहा कि संदिग्ध मरीजों को चिह्नित किया जाए। सर्दी, बुखार, खांसी होने पर आशा से मेडिकल किट लेकर खुद होम आइसोलेशन में रहें। कोरोना से बचाव के लिए गाइडलाइन का पालन करें और मास्क लगाएं। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोग कोविड पोर्टल या आरोग्य सेतु एप पर रजिस्ट्रेशन कराकर टीकाकरण अवश्य कराएं। डीएम ने कोरोना लक्षण वाले मरीजों को स्वयं मेडिकल किट दी। न्यू पीएचसी बड़ोखर खुर्द में संदिग्ध कोरोना मरीज मुकुंद लाल से वार्ता की। ग्रामीणों ने बताया कि सफाई कर्मचारी कई दिनों नहीं आ रहा है। डीएम ने बीडीओ को जांच व कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। एसडीएम सुधीर कुमार, सीएमओ डा.एनडी शर्मा, तहसीलदार अवधेश निगम आदि मौजूद रहे। (संवाद)
इंसेट---
कोरोना योद्धा घोषित करने की मांग
बांदा। समाचारपत्र विक्रेता संघ ने सीएम को संबोधित ज्ञापन प्रशासन को सौंपा। इसमें कहा कि पत्रकारों की तरह समाचारपत्र वितरकों को भी कोरोना योद्धा घोषित किया जाए। कोरोना योद्धा घोषित करने में सरकार द्वारा समाचार पत्र वितरकों की उपेक्षा की गई है। पत्र वितरक कोरोना काल में जान जोखिम में डालकर घर-घर जाकर समाचार पत्र बांट रहे हैं। मांग की कि पत्र वितरकों को कोरोना योद्धा घोषित करते हुए सुविधाएं व जोखिम मुआवजा दिया जाए। अगुवाई महामंत्री नरेश कुमार प्रजापति ने की। इस मौके पर राजकुमार गुप्ता, मलखान कबीर आदि मौजूद थे। (संवाद)
इंसेट---
पुलिस के दोहरे रवैए पर नाराजगी जताई
बदौसा। कोरोना कर्फ्यू में पुलिस गरीब ठिलिया, रिक्शा व फुटपाथी दुकानदारों को परेशान कर रही है। कोरोना गाइडलाइन का पालन न करने वाले बड़े व छोटे दुकानदारों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। भाजपा नेता कन्हैया श्रीवास्तव ने पुलिस के दोहरे रवैये पर नाराजगी जाहिर की है। कहा कि बड़े अफसरों से शिकायत की जाएगी। उधर, उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष नवीन जैन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष शिव प्रसाद, शाहनवाज खां, रवि वामरे, इमरान खां आदि ने बाजार का भ्रमण कर व्यापारियों से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रशासन का सहयोग करने को कहा। (संवाद)
इंसेट---
फोटो परिचय-2-अतर्रा में आधा शटर खोलकर बिक्री करता दुकानदार। संवाद
कोरोना संक्रमण बढ़ा रहे व्यापारी
अतर्रा। चंद पैसों के लालच में व्यापारी कोरोना संक्रमण को रफ्तार दे रहे हैं। लॉकडाउन के बावजूद नरैनी रोड, सिविल लाइन, चौक बाजार, बांदा रोड, स्टेशन रोड आदि में दुकानदार आधा शटर खोलकर दुकानदारी कर रहे हैं। कई दुकानदार पुलिस के भय से लोगों को दुकान के अंदर कर शटर बंद कर लेते हैं। खरीदारी के बाद उन्हें गुपचुप तरीके से बाहर कर निकाल देते हैं। सीएचसी प्रभारी डा. शिव सागर के मुताबिक, पिछले तीन दिनों में 28 लोग एंटीजन टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए गए। उनका कहना है कि लॉकडाउन के प्रति सख्ती जरूरी है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने से कोरोना बढ़ रहा है। (संवाद)
इंसेट---
मंडल में ब्लैक फंगस का कोई रोगी नहीं
नरैनी। संयुक्त निदेशक (स्वास्थ्य) डा. नरेश सिंह तोमर ने बृहस्पतिवार को सीएचसी का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस से घबराने की जरूरत नहीं है। फिलहाल मंडल में अभी इसका कोई रोगी नहीं है। फिर भी दवा सहित सारी व्यवस्थाएं की जा रही हैं।
संयुक्त निदेशक ने दिखितवारा सहित गांवों में तेजी से फैल रहे कोरोना की वजह जानी। जांच व दवा वितरण सहित वैक्सीनेशन की जानकारी ली। चिकित्सकों को निर्देश दिए कि गंभीर रोगी के पूरे परिवार पर नजर रखी जाए, जिससे संक्रमण फैलने न पाए। वैक्सीनेटर मीरापाल व फार्मासिस्ट उदय भान पांडेय से वैक्सीनेशन की जानकारी ली। कहा कि 10 लोगों के आने पर ही वैक्सीन लगाई जाए। वैक्सीन को ज्यादा देर तक खुला न रखें। वैक्सीन को आइस बॉक्स में रखने की हिदायत दी। स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि अभी 45 से अधिक उम्र के लोगों को टीकाकरण किया जा रहा है। ब्लाक प्रोग्राम मैनेजर भीष्म नारायण गिरी, दंत सहायक राजेश कुमार से ऑक्सीजन सिलिंडरों की जानकारी ली। बाद में 35 वर्षीय संक्रमित युवक के घर पहुंचकर परिजनों व संक्रमित से स्वास्थ्य की जानकारी ली। (संवाद)
इंसेट---
इम्युनिटी बढ़ाने में मशरूम सहायक
बांदा। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पोषक और औषधीय गुण वाले खाद्य पदार्थ सब्जी, अनाज, फल को भोजन में शामिल करने की जरूरत है। यह बात कृषि विवि कुलपति डॉ. यूएस गौतम ने कही। कहा कि मशरूम में कई प्रकार के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के निर्माण के लिए उपयोगी होते हैं। मशरूम यूनिट प्रभारी डॉ. दुर्गा प्रसाद ने बताया कि मशरूम में 22 से 35 फीसदी उच्च कोटि की प्रोटीन पाई जाती है। जो पौधों से प्राप्त प्रोटीन से कहीं अधिक होती है। औषधीय गुणों से परिपूर्ण मशरूम में पौष्टिक गुणों के अलावा अन्य औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसमें फंफूद, जीवाणु एवं विषाणु अवरोधी गुण पाए जाते हैं। कोरोना महामारी में यह बेहतर खाद्य पदार्थ है। (संवाद)
इंसेट---
फोटो परिचय-11- डिंगवाही में महिलाओं को मास्क बांटते आयुक्त दिनेश कुमार सिंह। संवाद
ग्रामीणों को गांव में आयुक्त ने बांटे मास्क
बांदा। मंडलायुक्त दिनेश कुमार सिंह ने बृहस्पतिवार को पीएचसी बड़ोखर खुर्द और डिंगवाही का आकस्मिक मुआयना किया। डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों से कोरोना संबंधी सवाल जवाब किए। ग्रामीणों को मास्क का वितरण किया। बड़ोखर पीएचसी में डॉ. नरेंद्र विश्वकर्मा ने जानकारियां दीं। आयुक्त ने कहा कि एंटीजन जांच की रिपोर्ट पाजिटिव हो तो तत्काल मरीज को सूचना देने के साथ दवा भी दी जाए। लक्षण मिलने पर दवा किट देने के निर्देश दिए। आशा, आंगनबाड़ी और लेखपालों को घर-घर पहुंचने और अपने पास इंफ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर और दवाओं की किट साथ रखने को कहा। डिंगवाही में मातृ शिशु एवं परिवार कल्याण उप केंद्र का निरीक्षण किया। आयुक्त ने एसडीएम को निर्देश दिया कि ग्रामीणों को प्रेरित करें। गांव में सफाई न मिलने पर डीपीआरओ को तत्काल सफाई और खुद गांव का निरीक्षण करने के निर्देश दिए। बिना मास्क लगाए घूम रहे ग्रामीणों को चेतावनी दी। आयुक्त ने कई महिला पुरुषों को मास्क भी बांटे। (संवाद)
इंसेट---
ऑनलाइन भेजें पुलिस को अपनी अर्जी
बांदा। पुलिस की मदद लेने के लिए तहरीर लेकर कोरोना कर्फ्यू के माहौल में थाने या पुलिस कार्यालय आने की जरूरत नहीं है। फरियादी अपनी अर्जी या तहरीर घर से ही व्हाट्सएप, ट्वीट या ई मेल के जरिए पहुंचा सकते हैं। बांदा पुलिस द्वारा जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। कहा गया कि अर्जी प्राप्त होते ही जांच होगी। गुण-दोष के आधार पर निस्तारण किया जाएगा। फरियादियों से कहा गया कि अपनी अर्जियों पर अपना मोबाइल नंबर भी डालें। ताकी उन्हें कार्रवाई के बारे में अवगत कराया जा सके। पुलिस का व्हाट्सएप नंबर 7839862480 है। इसके अलावा ट्वीटर पर एट दि रेट बांदा पुलिस (अंग्रेजी में) है। (संवाद)
इंसेट---
फोटो परिचय-10- चित्रकूट के सदर तहसील परिसर के कम्युनिटी किचन में भोजन बनवाते एसडीएम व तहसीलदार। संवाद
कम्युनिटी किचन से बांटे भोजन पैकेट
चित्रकूट। लॉकडाउन व कोविड के चलते रोज कमाने खाने वाले परिवारों पर इसका प्रभाव पड़ रहा है। शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने जिले की चारों तहसील में कम्युनिटी किचन योजना शुरू की है, जिसमें अफसरों की मौजूदगी में भोजन बनवाकर इनके पैकेट सरकारी कर्मी जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे हैं। डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ल ने बताया कि तहसील कर्वी में तीन दिन से कम्युनिटी किचन तहसील कर्वी परिसर में चलाया जा रहा है। तहसील क्षेत्र के जरूरतमंदों के लिए चलाया गया है। बताया कि अब तक तहसील कर्वी के अंतर्गत 450 पैकेट बांटा गया है। सदर एसडीएम रामप्रकाश व तहसीलदार संजय अग्रहरि ने बताया कि व्यवस्था जिलाधिकारी के अंतरिम आदेश तक चलती रहेगी। (संवाद)
इंसेट---
संक्रमण से बचने के लिए लगवाएं वैक्सीन
चित्रकूट। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव विदुषी मेहा ने प्राविधिक स्वयंसेवकों के साथ बृहस्पतिवार को वर्चुअल बैठक कर कहा कि मौजूदा समय में पूरा देश कोरोना संक्रमण की महामारी से जूझ रहा है। इससे बचाव के लिए सभी लोगों को वैक्सीन लगवाना चाहिए। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार 15 मई तक जिले के सभी प्राविधिक स्वयंसेवक पैनल अधिवक्ता एवं मध्यस्थगण कोविड 19 से बचाव के लिए हर हाल में टीकाकरण करवा लें। जिन लोगों ने पहली डोज ले ली है वह निर्धारित समय में दूसरी डोज ले लें और जो लोग वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं, वह प्रमाणपत्र जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय में जमा कर दें। इस मौके पर पीएलवी ममता वर्मा, दीपक कुमार व अमित शुक्ला आदि मौजूद रहे। (संवाद)
इंसेट---
कोरोना से डरने के बजाय लड़ने की जरूरत
खोही (चित्रकूट)। दीनदयाल शोध संस्थान परिसर में दिल्ली के वरिष्ठ डाक्टरों के पैनल के साथ एप के माध्यम से डाक्टरों से ऑनलाइन कोविड 19 परामर्श कार्यक्रम हुआ। इसमें डाक्टरों ने अपने सुझाव दिए। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण परिषद के सदस्य डॉ. हरीश गुप्ता ने बताया कि कोरोना का कोई भी लक्षण प्रकट होने पर तुरंत अपने को औरों से अलग करें। डाक्टर से सलाह लें तथा कोरोना की जांच अवश्य कराएं। ऑक्सीमीटर व थर्मामीटर के माध्यम से ऑक्सीजन का लेवल व बुखार की जांच करते रहें। डाक्टर की सलाह से ही दवाओं का सेवन करें। पौष्टिक आहार लें तथा पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं। कोरोना वायरस से डरने की बजाए उससे लड़ने की जरूरत है। दीनदयाल शोध संस्थान के राष्ट्रीय संगठन सचिव अभय महाजन ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में महामारी ज्यादा फैल रही है। इसमें सावधानी के साथ जागरूकता की जरूरत है। इस मौके पर सीनियर कंसलटेंट पीडियाट्रीशियन डॉ. सुनील सिंघल, सीनियर कंसलटेंट पल्मनोलॉजिस्ट निजहरा हॉस्पिटल दिल्ली डॉ. गौरव निजहरा, डॉ. शैलेंद्र गोड व रोहतास नगर के विधायक और चौपाल संस्था के निदेशक जितेंद्र महाजन शामिल रहे। (संवाद)
इंसेट---
फोटो परिचय-5- जानकारी देते डा. इलेश जैन।
नि:शुल्क कोविड केयर सेंटर शुरू
चित्रकूट/खोही। जानकीकुंड अस्पताल के प्रमुख ट्रस्टी डा. इलेश जैन ने कोविड का इलाज नि:शुल्क शुरू किया है। सद्गुरु सेवा संघ के 30 बेड के कोविड केयर में ऑक्सीजन कन्संट्रेटर की सुविधा उपलब्ध है। ट्रस्ट के प्रशासक डा. इलेश जैन ने बताया कि यह सुविधा उन लोगों के लिए है जिनके पास होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं है। वार्ड की पूरी देखरेख आनलाइन वह खुद देखते हैं और स्टाफ का हौसला बढ़ाकर खुद भी पूरी सुरक्षा के साथ मरीजों तक पहुंच रहे हैं। डा. जैन ने कहा कि जो भी कोरोना मरीज वार्ड में भर्ती होगा उनको सारी सुविधा बेड, दवा, भोजन पूरी तरह से नि:शुल्क रहेगी। (संवाद)
इंसेट---
सैनिटाइजेशन कराया गया
चित्रकूट। कई स्थानों पर स्वास्थ्य विभाग ने सैनिटाइजेशन का कार्य किया। बृहस्पतिवार को डीएम कैंप कार्यालय, एसपी आवास, एडीएम आवास, जज कॉलोनी, कोतवाली कर्वी, एसडीएम कॉलोनी कर्वी, डाक बंगला, कचहरी परिसर, न्यायालय, शिवरामपुर, बेड़ी पुलिया, शंकर बाजार गोकुलपुरी वार्ड 25, राजकीय संप्रेक्षण गृह, वृद्धा आश्रम, कोरोना जांच सेंटर, सीएमओ कार्यालय, डीटीओ कार्यालय पीपीसी कार्यालय, डीपीएम कार्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शहर, पोस्टमार्टम हाउस सहित अन्य प्रमुख स्थानों एवं हॉटस्पॉट के क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन का कार्य किया। इसके अलावा होम आइसोलेशन के मरीजों से कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में लगे कर्मचारियों द्वारा लगातार स्वास्थ्य आदि के बारे में जानकारी की गई। (संवाद)
इंसेट---
फोटो परिचय-13- शिवरामपुर गांव में ग्रामीणों से बातचीत करते डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ल। संवाद
गांव जाकर डीएम ने संक्रमितों का हाल
शिवरामपुर (चित्रकूट)। डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ल ने बृहस्पतिवार को ग्रामीण क्षेत्र में चल रहे कोविड-19 के प्रति सजगता तथा संभावित रोगियों को चिन्हीकरण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया। चित्रकूट धाम कर्वी की ग्राम पंचायत रसिन व शिवरामपुर का निरीक्षण कर होम आइसोलेन में पॉजिटिव मरीज के परिवारों से स्वास्थ्य, दवा वितरण आदि के बारे में जानकारी की। घर-घर जाकर स्वास्थ्य के बारे में जानकारी कर दवाओं का वितरण भी किया। निरीक्षण से लौटने के बाद जनपद में बढ़ रहे कोरोना संक्त्रस्मण के दृष्टिगत डीएम ने निगरानी समिति, रैपिड रिस्पांस टीम एवं दवाई की किट वितरण आदि के संबंध में सीडीओ, सीएमओ और एसडीएम के साथ निगरानी समिति की कार्य प्रगति की समीक्षा की। निर्देश दिए कि स्थलीय भ्रमण कर निगरानी समिति के किए जा रहे कार्यों का जायजा लिया जाए। सीएमओ को ग्राम में तैनात निगरानी समिति को निर्देशित करते हुए कहा कि निगरानी समिति अपने क्षेत्रों में एक्टिव रहकर डोर टू डोर सर्वें करेंगी। कोरोना किट का वितरण कार्य आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से कराया जाएं। किट का वितरण सही तरीके से न होने पर नाराजगी व्यक्त की। डीएम ने कहा कि सीएम ने निर्देश दिए हैं कि निगरानी समिति द्वारा गांव में बाहर से आए हुए लोगों को पहचान करें। सभी गांव में आइसोलेशन सेंटर बनाया जाए। इस मौके पर सीडीओ अमित आसेरी, एडीएम गणेश प्रसाद सिंह, सीएमओ डा. विनोद कुमार यादव, मानिकपुर एसडीएम संगमलाल, कर्वी एसडीएम रामप्रकाश, राजापुर एसडीएम राजबहादुर यादव आदि मौजूद रहे। (संवाद)

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us