निवाड़ा में घुमंतु परिवारों को पुलिस ने भगाया

Meerut Bureau Updated Sat, 11 Nov 2017 12:58 AM IST
निवाड़ा में घुमंतु परिवारों को पुलिस ने भगाया
बागपत। निकाय चुनाव के मद्देनजर पुलिस ने निवाड़ा गांव में रह रहे घुमंतु परिवारों को भगाया। हिदायत दी कि दोबारा यहां पर डेरा डाला तो कार्रवाई की जाएगी। निकाय चुनाव को देखते हुए पुलिस काफी सतर्क है। निवाड़ा गांव में दर्जनों घुमंतु परिवार अचानक आकर बस गए थे। गोपनीय रूप से जानकारी मिली कि यह परिवार चुनाव में गड़बड़ी कर सकते है। पिछले दिनो इस तरह के परिवार के सदस्यों द्वारा एक बड़ी अपराधिक वारदात को अंजाम दिया। चुनाव में माहौल न बिगड़ जाए। इसी को देखते हुए पुलिस ने बृहस्पतिवार को घुमंतु परिवार को खदेड़ा। हिदायत दी कि बगैर अनुमति के इस तरह से किसी को भी नहीं रहने दिया जाएगा। निवाड़ा चौकी इंचार्ज निरंजन सिरोही का कहना है कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर कार्रवाई की गई है।
सलमू बोला, पुलिस ने मुझे धमकाया
बागपत। तंबू लगाकर रहने वाले सलमू ने कहा कि पुलिस ने उसको धमकाते हुए यहां से जाने के लिए कहा। सलमू का कहना है कि प्रशासन ने उसको मकान देने के लिए कहा था। लेकिन अभी तक मकान नहीं दिया गया। उसने प्रशासन से मकान की मांग की है।
मीना को हरिद्वार में तलाश करके लौट आया सलमू
बागपत। हरिद्वार से बुग्गी खिंचकर लाने वाली किशोरी मीना का 20 दिन पूर्व हरिद्वार में अपहरण हो गया था। उसके पिता सलमू को उसकी हरिद्वार में होने की जानकारी मिली थी। सलमू ने बताया कि उसने गांव के तीन लोगों के साथ मिलकर हरिद्वार में बेटी की तलाश की,लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला।

Spotlight

Most Read

Gonda

सकरी पुलिया में घुसी बाइक, दो युवकों की मौत

सकरी पुलिया में घुसी बाइक, दो युवकों की मौत

25 फरवरी 2018

Related Videos

बागपत में ग्रामीणों और ठेकेदार के बीच पत्थरबाजी और फायरिंग

बागपत में दो पक्षों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई और फायरिंग हुई। रेत खनन के लिए रास्ता बनाने का विरोध कर रहे ग्रामीणों पर ठेकेदार पक्ष के गुट ने फायरिंग कर दी। जिसमें काफी लोग घायल हो गए।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen