हलकी बारिश में नरक हुआ शहर

Allahabad Updated Mon, 09 Jul 2012 12:00 PM IST
ज्यादातर सड़कों पर जलभराव, राह चलना मुश्किल
जगह-जगह धंसी सड़कें, फिसलन से लोग परेशान
आज स्कूल खुलने के बाद और बढ़ जाएगी मुसीबत
इलाहाबाद। चार दिन से रुक-रुक हो रही बारिश में ही शहर की सड़कों की पोल खुल गई है। सीवर लाइन बिछाने के बाद जो सड़कें बनाई गई, वह धंस गई हैं। आदेश के बावजूद सिविल लाइंस में नालियों का निर्माण अब तक नहीं हुआ है जिस वजह से तकरीबन सभी सड़कों पर जलभराव हो गया है। नगर निगम, गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई और लोक निर्माण विभाग के काम की रफ्तार काफी धीमी होने का खामियाजा शहरियों को भुगतना पड़ रहा है। सोमवार को शहर के सभी स्कूल खुल रहे हैं। ऐसे में जगह-जगह धंसी सड़क और जलभराव के कारण बच्चों को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

लगातार धंस रहीं सड़कें
सीवर लाइन बिछाने के बाद गंगा प्रदूषण नियंत्रण की ओर से बनवाई गई सड़कें जगह-जगह से धंस रही हैं। रविवार को सिविल लाइंस महात्मा गांधी मार्ग पर बस अड्डे के ठीक सामने तकरीबन 20 मीटर तक सड़क धंस गई। पत्थर गिरजाघर के पास दो जगह और हाईकोर्ट स्थित अंबेडकर प्रतिमा चौराहा पर 15 दिन पहले बनी सड़क धंस गई। नवाब यूसुफ रोड पर डीआरएम ऑफिस के सामने सड़क धंसे से रविवार को उधर से गुजर रहे बाइक सवार दो युवक गिरकर घायल हो गए। यही हाल मधवापुर, जार्जटाउन थाने के सामने आनंद भवन के सामने, राजापुर हनुमान मंदिर के पास, नया कटरा में जगराम चौराहा से बेली की ओर जाने वाली सड़क भी कई जगह से धंस गई है।

खुदी सड़क से लगा जाम
तेलियरगंज बाजार में सीवर लाइन बिछाने के लिए चार माह पहले खोदाई की गई। लाइन बिछाने के बाद सड़क अब तक नहीं बनाई गई है। बारिश के कारण गड्ढे में पड़ी मिट्टी काफी दूर तक धंस गई है। इस वजह से यहां लंबा जाम लग रहा है, क्योंकि आधी सड़क खुदी होने के कारण निकलने का रास्ता काफी कम है। एक ही तरह से वाहन आ-जा रहे हैं। इस सड़क पर पैदल चलने के लिए भी रास्ता नहीं बचा है।

सिविल लाइंस की हर सड़क पर जलभराव
सिविल लाइंस की सभी सड़कों पर जलभराव की स्थिति है। इस समस्या से निपटने के लिए हाईकोर्ट ने नगर निगम को यहां नाली बनाने का आदेश दिया था। तकरीबन तीन माह बीत जाने के बाद अब सभी सड़कों पर नालियां नहीं बनाई जा सकी हैं, जिन सड़कों पर नालियां बन गई हैं, उनका अभी इंटरकनेक्शन नहीं किया गया है, जिस वजह से नालियों से पानी नहीं निकल पा रहा है। स्थिति यह है कि निगम अभी सुभाष चौराहा से अटलांटिस मॉल के सामने और वहां से कूपर रोड पर अभी नाली का निर्माण हो रहा है। पैलेस सिनेमा से एनपीए आर्केड के सामने बनाई गई नाली को भी अब मुख्य लाइन से नहीं जोड़ा गया है। बारिश के कारण इन सड़कों पर जगह-जगह पानी इकट्ठा हो गया है। इसके अलावा एलगिन रोड, स्ट्रैची रोड, पत्रिका मार्ग, ताशकंद मार्ग आदि पर भी जलभराव की स्थिति है।

नाले में ढह गई मिट्टी
नगर निगम गेट के ठीक सामने तकरीबन छह महीना पहले सफाई के लिए दो जगह से तोड़ा गए नाले की कलवर्ट अब तक नहीं बन सकी है। बारिश के कारण वहां की मिट्टी रविवार को ढह कर नाले में गिर गई। इससे नाला जाम हो गया लेकिन निगम गेट के ठीक सामने खुदे नाले की मरम्मत को लेकर अफसरों ने अब तक काम नहीं शुरू किया है।

गड्ढे, कीचड़ से राह चलना मुश्किल
सीवर लाइन बिछाने और सड़कों के चौड़ीकरण के लिए खोदी गई मिट्टी अब तक हटाने से बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है। सोहबतियाबाग, जवाहर लाल नेहरू रोड, दयानंद मार्ग आदि पर मिट्टी के कारण बारिश में फिसलन हो गई है। अलोपीबाग फ्लाईओवर के नीचे नए पुल की ओर जाने वाली सड़क पर कीचड़ और गड्ढे के कारण रविवार को कई वाहन फंस गए। यही हाल फोर्ट रोड चौराहा से शास्त्री पुल की ओर जाने वाली सड़क का भी रहा। जगह-जगह बड़े-बडे़ गड्ढे में वाहन फंसने से लोग परेशान रहे हैं। इसकी वजह से जाम की स्थिति भी बनी रही।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले पकड़े गए 83,753 बोगस स्टूडेंट्स

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू होने से ठीक पहले ये बात सामने आई है कि परीक्षा आवेदनों में करीब 84 हजार बोगस स्टूडेंट हैं।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper