जीएसटी इम्पैक्टः आयकर विभाग ने यूपी में ऐसे पकड़ा 101 करोड़ का खेल

ब्यूरो/अमर उजाला आगरा Updated Mon, 02 Oct 2017 02:20 PM IST
income tax raid in agra with the help of gst
income tax
नोटबंदी और जीएसटी पर सरकार और अर्थशास्त्रियों के बीच बहस बेशक हो, लेकिन आयकर विभाग को आगरा में 101 करोड़ रुपये की अघोषित आय सरेंडर होने की मुख्य वजह नोटबंदी और जीएसटी ही रही। 

बीते साल नवंबर में नोटबंदी से लेकर जीएसटी लागू होने तक के लेनदेन और बोगस फर्म के जरिए भुगतान पर नजर रखने के कारण ही दोनों कारोबारी समूहों पर शिकंजा कस पाया। शहर में ऐसे 40 बड़े कारोबारी आयकर विभाग के रडार पर हैं, जिन पर ऐसे ही बड़े आयकर छापे और बड़ी आय के खुलासे हो सकते हैं।

नोटबंदी के दौरान सभी बैंक खातों में जमा किए गए 500 और 1000 रुपये के बंद नोटों का ब्यौरा बैंकों ने आयकर विभाग को भेजा था। जिन खातों में बड़ी रकम जमा की गई और आरटीजीएस के जरिये एक- दो नहीं, बल्कि पांच-छह कंपनियों को भेजी गई, उनकी जांच के बाद आयकर विभाग ने टैक्स रिटर्न देखा तो श्री बसंत ऑयल ग्रुप और बीएनआर का पूरा खेल समझ आ गया।
आगे पढ़ें

नोटबंदी के बाद पहला मामला

Spotlight

Most Read

Champawat

एसएसबी, पुलिस, वन कर्मियों ने सीमा पर कांबिंग की

ठुलीगाड़ (पूर्णागिरि) में तैनात एसएसबी की पंचम वाहिनी की सी कंपनी के दल ने पुलिस एवं वन विभाग के साथ भारत-नेपाल सीमा पर सघन कांबिंग कर सुरक्षा का जायजा लिया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

दिल्ली से आगरा जा रही ट्रेन का हादसा, तेज आवाज के बाद उड़ी चिनगारियां

रेलवे हादसों का सिलसिला लगातार चलता आ रहा है। शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे दिल्ली से आगरा जा रही गोंडवाना एक्सप्रेस डिरेल हो गई।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper