लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Agra ›   Agra Police Arrested Hello Gang Leader With Members Crime News

हेलो गैंगः सरगना सहित 13 गिरफ्तार, नौकरी का झांसा देकर दो हजार लोगों से ठगे पांच करोड़ रुपये

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, आगरा Published by: Abhishek Saxena Updated Sat, 29 Aug 2020 12:12 AM IST
सार

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि गैंग का सरगना कमलेश कुमार है। वह सोशल साइट्स पर विज्ञापन देता है। इसमें कई तरीके की नौकरी लगवाने का झांसा देते थे। कंपनी में मैनेजर, सुपरवाइजर, सिक्योरिटी गार्ड, लाइन मैन की नौकरी, स्पा सर्विसेज, वर्क फ्रॉम होम, पार्ट टाइम जॉब का झांसा दिया जाता था।

आगरा पुलिस ने पकड़े हेलो गैंगे सदस्य और सरगना
आगरा पुलिस ने पकड़े हेलो गैंगे सदस्य और सरगना - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चंबल के बीहड़ स्थित जैतपुर के दड़हेता गांव में शुक्रवार को एक और हेलो गैंग के सरगना सहित 13 सदस्यों को पुलिस और साइबर सेल की टीम ने पकड़ लिया। पुलिस का दावा है कि आरोपी लोगों को पार्ट टाइम और फुल टाइम नौकरी का विज्ञापन देकर ठगते थे। दो साल में उत्तर प्रदेश सहित 12 राज्य के दो हजार से अधिक लोगों से पांच करोड़ रुपये की ठगी की जानकारी मिली है। हालांकि रकम बरामद नहीं हुई है। इससे पहले भी ऐसे दो गैंग पकड़े जा चुके हैं।


एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि गैंग का सरगना कमलेश कुमार है। वह सोशल साइट्स पर विज्ञापन देता है। इसमें कई तरीके की नौकरी लगवाने का झांसा देते थे। कंपनी में मैनेजर, सुपरवाइजर, सिक्योरिटी गार्ड, लाइन मैन की नौकरी, स्पा सर्विसेज, वर्क फ्रॉम होम, पार्ट टाइम जॉब का झांसा दिया जाता था।


ये भी पढ़ें- आगरा के स्कूल में हुई थी रिया चक्रवर्ती की पढ़ाई, चुलबुलापन आज भी याद करते हैं बचपन के दोस्त

इसके अलावा रिवार्ड प्वाइंट कैश कराने और इंटरनेट के बिल में छूट दिलाने का लालच देते थे। गैंग ने उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटका, बिहार, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तराखंड, ओडिशा आदि के लोगों को ठगा है। कॉल करके खातों में रकम जमा करा लेते थे। इसके बाद मोबाइल नंबर बंद कर लेते थे। किराए पर लिए खातों से रकम निकालते थे।

50 हजार रुपये महीने की नौकरी
एसएसपी ने बताया कि गैंग के सदस्य लोगों को कॉल करने पर झांसे में लेते थे। कहते थे कि 4,999 से लेकर 49,999 रुपये तक की नौकरी लगवाएंगे। इसके लिए रजिस्ट्रेशन के नाम पर 400 रुपये पेटीएम, गूगल पे, फोन पे, भारत पे, आईएमपीएस, क्यूआर कोड स्कैन आदि तरीकों से जमा करा लेते थे।


इसके बाद नियुक्ति पत्र के नाम पर कई बार में रकम जमा कराते थे। पुलिस को गुजरात के तीन लोगों ने ई-मेल से शिकायत की थी। इस पर जांच की गई। जांच के बाद पुलिस ने गैंग की पड़ताल की। साइबर क्राइम सेल को लगाया गया। इसके बाद 13 आरोपियों को पकड़ लिया।

यह हुई बरामदगी
आरोपियों से दो कारें, छह बाइक, 40 मोबाइल, 45 फर्जी सिम कार्ड, 25 आधार कार्ड बरामद हुए हैं।

इनकी हुई गिरफ्तारी
कमलेश कुमार, हुकुम सिंह, गौरव राजपूत, प्रेमपाल, मान सिंह, मनीष, खुशीलाल, आशीष, घनश्याम, परमार निवासी दड़हेता, जैतपुर और फौरन सिंह निवासी फिरोजाबाद सहित दो नाबालिगों को पकड़ा है।

ये हैं फरार
बनी सिंह, बृजेश, नंदकिशोर, सुनील और रामग्यान।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00