छठ पूजा: गोमती के तट पर आस्था और उल्लास का सैलाब, किसी ने संतान तो किसी ने यूपीएससी ने सफलता की कामना की

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Thu, 11 Nov 2021 03:53 PM IST
Pics of Chhath Pooja on the bank of river gomati in Lucknow.
1 of 5
विज्ञापन
गोमती का किनारा, चारों तरफ से ढोल-नगाड़ों की आवाज पर थिरकते बच्चे और युवा, नदी किनारे सजी सुशोभिता को पूजतीं सोलह सिंगार में सजी-धजी सुहागिनें। दउरा व सूप सजाते घर के पुरुष व बच्चे। यह नजारा लक्ष्मण मेला, झूलेलाल, कुड़िया घाट पर बने पूजा स्थलों पर था। अपार्टमेंट परिसरों, पार्कों व छतों पर बनाए कृत्रिम तालाबों पर भी आदित्योपासना के लिए परिवार इकट्ठा थे।

शाम के पांच बजते-बजते महिलाएं भरी कोसी हाथों में लिए कमर तक पानी में उतर चुकी थीं और निगाहें पश्चिम में धीरे-धीरे लाल होते सूरज देवता पर टिकी थीं। 5.19 होते ही जैसे सूरज अस्त हो चला, हर तरफ से छठी मइया और भगवान भास्कर का जैकारा लगाने की आवाज, शंखनाद और मंत्रोच्चारण की ध्वनियां गूंज उठी। श्रद्धालुओं ने भगवान को अर्घ्य देकर सुख-समृद्धि-शांति की प्रार्थना की।
Pics of Chhath Pooja on the bank of river gomati in Lucknow.
2 of 5
किसी ने मांगा संतान का आशीर्वाद तो किसी ने सिविल सर्विसेज में सफलता
एक तरफ आस्था का सैलाब उमड़ा हुआ तो दूसरी तरफ इच्छित वर प्राप्ति का विश्वास मन में लिए सभी ने झोली भगवान भास्कर के आगे फैला रखी थी। अर्घ्य की धार के साथ चिनहट से आईं मालती ने अच्छे घर में विवाह के लिए भगवान को धन्यवाद कहा और संतान के लिए प्रार्थना की। वहीं, इंदिरानगर निवासी रौनक और रुचि ने सिविल सर्विसेज में सफलता की कामना की।

चालीस साल से व्रत करती आ रहीं आशा देवी इस साल व्रत बहू को सौंप कर खुद को धन्य मान रही हैं। बहू अमृता का कहना था कि एक झिझक तो है कि इतना कठिन व्रत का पालन कैसे कर पाऊंगी पर हो जाएगा ऐसा भरोसा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
Pics of Chhath Pooja on the bank of river gomati in Lucknow.
3 of 5
पहले अर्घ्य, फिर सेल्फी तो जरूरी है, वीडियो कॉल करके कराया दर्शन
कमर तक पानी में उतरे परिवार के लिए यह किसी उत्सव से कम नहीं था। पहले अर्घ्य देकर पूजा पूरी की, उसके बाद शुरू हुआ सेल्फी का सिलसिला। इसके बाद वीडिया कॉलिंग कर दूर बैठे अपनों को छठ पूजा का ऑनलाइन दर्शन कराया लोगों ने।
Pics of Chhath Pooja on the bank of river gomati in Lucknow.
4 of 5
एकदम मेले जैसा माहौल
लक्ष्मण मेला स्थल पर चारों तरफ पेड़ों पर लगी रंग बिरंगी लाइटें, आतिशबाजी, आसमान में उड़तीं कंदीलें। कहीं बिक रही थी बाम्बे मिठाई तो कहीं फूंक मारकर चलने वाली फिरकी एकदम मेले जैसे माहौल का अहसास करा रही थी।
विज्ञापन
विज्ञापन
Pics of Chhath Pooja on the bank of river gomati in Lucknow.
5 of 5
सांस्कृतिक मंच भी सजा
अखिल भारतीय भोजपुरी समाज द्वारा आयोजित पूजा स्थल पर स्थानीय कलाकारों ने गीत-संगीत-नृत्य से समां बांधा और भोर तक प्रस्तुतियां चलती रहीं।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00