बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सैफुल्ला के घरवालों ने किया लाश लेने से इंकार, देखें क्या बोले पिता

टीम डिजिटल/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 09 Mar 2017 02:15 AM IST
विज्ञापन
आतंकी
आतंकी
ख़बर सुनें
यूपी एटीएस के हाथों लखनऊ में मारे गए आईएस से जुड़े आतंकी सैफुल्ला का शव लेने से पिता सरताज ने इनकार कर दिया। कानपुर के जाजमऊ में रहने वाले सरताज ने कहा कि जो देश का नहीं, वह मेरा बेटा नहीं हो सकता। उसे यही सजा मिलनी चाहिए थी। सैफुल्ला के दो भाइयों ने भी शव को सुपुर्द-ए-खाक करने से इनकार कर दिया।
विज्ञापन


जाजमऊ के मनोहर नगर में रहने वाले सरताज प्राइवेट नौकरी करते हैं। दो बेटे खालिद और मुजाहिद साथ में रहने के साथ ही टेनरी में प्राइवेट नौकरी करते हैं। छोटा बेटा सैफुल्ला ढाई महीने पहले घर छोड़कर चला गया था।


वह कहां और किसके साथ था, उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी। पिता ने बताया कि कोई काम-धंधा नहीं करने पर उसे डांटा-मारा था। वह उनकी कोई बात ही नहीं सुनता था। काम-धंधा करने को कहते थे पर वह सुनता नहीं था। इससे उससे चिढ़ हो गई थी। पिता ने बताया कि मंगलवार को वह रिश्तेदारी में शादी में गए थे, वहीं शाम को इस बारे में पता चला था। फिर रिश्तेदारों ने वहीं रोक लिया था।

हाईस्कूल और इंटर 80 फीसदी से पास किया
सैफुल्ला के पिता सरताज ने बताया कि बेटे ने जाजमऊ के जेपीआरएन इंटर कॉलेज से हाईस्कूल और इंटर 80 फीसदी से अधिक अंकों से पास किया था। मनोहर लाल डिग्री कॉलेज से 2016 में बीकॉम सेकेंड ईयर की पढ़ाई पूरी की थी। इसके बाद पढ़ाई और काम-धंधा कुछ नहीं करने पर अक्सर डांटता था लेकिन वह सुनता नहीं था।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X