अपने ही गढ़ में 'युवराज' का विरोध

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 23 Jan 2014 11:09 AM IST
rahul fleet got black flag in Amethi
पहले अमेठी से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे कुमार विश्वास पर अंड़े फेंके गए, अब कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी अमेठी की जनता के कोपभाजन का शिकार बने हैं।

गौरीगंज में बिजली-पानी-सड़क की समस्याओं को लेकर काली साड़ी पहने रीता सिंह जनकल्याण समिति की करीब 60 कार्यकर्ताओं ने हाथ में काले झंडे लेकर ‘राहुल वापस जाओ’ और मुर्दाबाद के नारे लगाए।

इससे नाराज कांग्रेस कार्यकर्ता उन पर टूट पड़े और महिलाओं को जमकर पीटा। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को भी हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

किसी भी पक्ष ने थाने में देर रात तक कोई तहरीर नहीं दी है।

उधर, जायस में भी राहुल को काले झंडे दिखाने का प्रयास किया गया। प्रदर्शनकारियों की कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मामूली झड़प भी हुई।

वे 'राहुल वापस जाओ और मुर्दाबाद' के नारे लगाने लगीं।

महिलाओं का आरोप है कि क्षेत्र में बिजली, पानी, सड़कों की व्यवस्था नहीं है। इससे जनता को काफी दिक्कतें हैं।

वह तो अपनी शिकायत करने गई थीं। कांग्रेस दफ्तर से बाहर निकले और प्रदर्शनकारी महिलाओं को मारने के लिए दौड़ पड़े। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने महिलाओं को जमकर पीटा।

इस दौरान रीता सिंह जनकल्याण समिति की महिलाओं और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी नोकझोंक भी हुई।
protest of rahul gandhi in amethi
समिति की राष्ट्रीय अध्यक्ष रीता सिंह ने बताया कि पुरुष पुलिस कर्मियों ने महिलाओं के साथ अभद्रता की है जबकि कांग्रेसियों ने मारपीट की। घटना की तहरीर वे थाने में देंगी।

इस बाबत सीओ गौरीगंज नवीन कुमार सिंह ने रीता सिंह के आरोप को निराधार बताया।

उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों ने समिति की महिलाओं और कांग्रेसियों को तितर-बितर किया था। पुलिस ने कोई अभद्रता नहीं की है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

संघर्ष से लेकर यूपी के डीजीपी बनने तक ऐसा रहा है ओपी सिंह का सफर

कई दिनों के इंतजार के बाद ओपी सिंह ने आखिरकार उत्तर प्रदेश के डीजीपी पद का भार संभाल लिया। पद ग्रहण करने के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि अपराधी सामने आएंगे, गोली चलाएंगे तो पुलिस उनसे निपटेगी।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls