आशियाना में बिल्डर कंपनी के खिलाफ केस दर्ज, विधिक अधिकारी बोले- हो चुका है समझौता

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 27 Jun 2020 04:44 PM IST
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
रियल एस्टेट कंपनी प्रताप हाइट्स प्राइवेट लिमिटेड के संचालक वीरेंद्र प्रताप सिंह ने लखनऊ के आशियाना थाने में ओमेक्स कंपनी के अधिकारियों व कर्मचारियों पर धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कराया है। इंस्पेक्टर संजय राय ने बताया कि एफआईआर कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुई है। वीरेंद्र का आरोप है कि ओमेक्स कंपनी ने उन्हें जो प्लॉट बेचा था, उस पर पहले से ही लोन ले रखा था।
विज्ञापन

इस पर कंपनी के अधिकारियों ने संपर्क किया तो उन्होंने रुपया लौटाने का आश्वासन दिया, लेकिन कई महीने बीतने के बाद भी रुपया नहीं दिया। उधर, ओमेक्स कंपनी के विधिक अधिकारी के मुताबिक वीरेंद्र प्रताप सिंह से 28 फरवरी को ही थाने में समझौता हो चुका है और वह ढाई करोड़ रुपये के प्लॉट के बदले कंपनी से तीन करोड़ रुपये ले चुके हैं।
इंस्पेक्टर ने बताया कि वीरेंद्र प्रताप सिंह आशियाना के कानपुर रोड स्थित एलडीए कॉलोनी सेक्टर आई में रहते हैं। उन्होंने मोनार्क विलेज प्राइवेट लिमिटेड, ओमेक्स लिमिटेड व जेआरएस प्रो प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ ठगी का आरोप लगाया है। वीरेंद्र का कहना है कि तीनों कंपनियों के नाम से सरोजनीनगर के औरंगाबाद खालसा में काफी जमीन है।
यहां कंपनी के अधिकारियों से बातचीत के बाद उन्होंने 6000 रुपये प्रति वर्ग फुट के हिसाब से करीब ढाई करोड़ रुपये में प्लॉट खरीदा और सारी रकम का भुगतान भी कर दिया। 16 फरवरी 2019 को प्लॉट का बैनामा हो गया। वीरेंद्र का कहना है कि उन्होंने प्लाॅट पर निर्माण के लिए कोटक महिंद्रा बैंक में लोन के लिए आवेदन किया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

तीन माह में गलती सुधारने का किया वादा

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us