डॉक्टर खेलता रहा गेम, बुजुर्ग ने तड़प-तड़प कर तोड़ा दम

ब्यूरो/अमरउजाला, लखनऊ Updated Mon, 10 Oct 2016 07:23 PM IST
विज्ञापन
डेमो
डेमो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
उत्तर रेलवे के इंडोर अस्पताल में डॉक्टर मोबाइल पर वीडियो गेम खेलता रहा और फैजाबाद निवासी रेलकर्मी मथुरा प्रसाद पांडेय (74) ने दम तोड़ दिया। 
विज्ञापन

मरीज को ऑक्सीजन सिलेंडर व स्ट्रेचर नहीं मिला, जिससे एंबुलेंस में ही प्राण निकल गए। परिवारीजनों ने जमकर रेलमंत्री व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी व हंगामा किया।
खौफजदा डॉक्टर भाग गया और मामला शांत होने पर वापस लौटा। अस्पतालों में डॉक्टरों की ह्रदयहीनता का एक सुबूत बृहस्पतिवार रात उस वक्त मिला, जब फैजाबाद से इलाज के लिए आए रेलकर्मी मथुरा प्रसाद पांडेय ऑक्सीजन के लिए तड़पते रहे।
बेटे ह्रदयनारायण पांडेय ने बताया कि पिता 2003 में मुगलसराय में सीनियर लोको इंस्पेक्टर पद से रिटायर हुए थे। उन्हें दिल व गुर्दे की बीमारी थी। फैजाबाद में उनका इलाज चल रहा था।

20 दिन पहले उन्हें इलाज के लिए राजधानी लाया गया था और अवध हॉस्पिटल के आईसीयू में एडमिट कराया था, जहां 15 दिन भर्ती रखा गया। 

चूंकि, पिताजी रेलवे अस्पताल में इलाज की जिद पर अड़े थे, इसलिए फैजाबाद जाकर उत्तर रेलवे के इंडोर अस्पताल के लिए रेफर करवाया। बृहस्पतिवार शाम पांच बजे फैजाबाद से एंबुलेंस में उन्हें लेकर निकले और रात नौ बजे अस्पताल पहुंचे। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

परिवारीजनों ने अस्पताल में ‌क‌िया हंगामा

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us