Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   weather jammu kashmir: 150 feet of Jammu-Srinagar highway washed away, 133 people rescued and two trekkers missing

मानसून से पहले मौसम का कहर: जम्मू-श्रीनगर हाईवे का 150 फुट हिस्सा बहा, 133 लोग रेस्क्यू और दो ट्रेकर लापता, छह जिलों में स्कूल बंद

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू Published by: विमल शर्मा Updated Thu, 23 Jun 2022 03:20 AM IST
सार

मानसून से पहले हुए तेज बारिश के कारण उधमपुर से रामबन तक जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर 33 जगह भूस्खलन होने से एक हजार से अधिक वाहन फंस गए। श्रीनगर में झेलम खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। इससे घाटी में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। अनंतनाग में दो ट्रेकर लापता हो गए। यहां 11 लोगों के साथ सिंथन टॉप से 50, रियासी से 05, शोपियां से 27  को रेस्क्यू किया गया। हिमाचल सीमा पर बनी में बिजली गिरने से दो चरवाहे झुलसे और 44 मवेशियों की मौत हो गई है। 

श्रीनगर में रेस्क्यू चलाते सुरक्षाकर्मी
श्रीनगर में रेस्क्यू चलाते सुरक्षाकर्मी - फोटो : बासित जरगर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मानसून से पहले ही तेज बारिश और उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी ने जम्मू-कश्मीर में कोहराम मचा दिया। उधमपुर से 16 किलोमीटर दूर समरोली के देवाल में पहाड़ से आए मलबे के साथ जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे का 150 फुट हिस्सा तवी नदी में समा गया। हाईवे निर्माण में लगी मशीनरी भी बह गई। उधमपुर से रामबन तक 33 स्थानों पर भूस्खलन से हाईवे बंद हो गया है। एक हजार से अधिक वाहन जगह-जगह फंस गए हैं। रामबन जिले के पीड़ा में नाले पर बन रहा पुल बह गया। कई संपर्क सड़कें भी ध्वस्त हो गई हैं।

कश्मीर घाटी में झेलम नदी खतरे के निशान से ऊपर

कश्मीर घाटी में झेलम नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। घाटी में बाढ़ के खतरे के बीच बुधवार को लोगों के घरों में पानी घुस गया। अनंतनाग में ट्रेकिंग करने गए दल के दो ट्रेकर लापता हो गए हैं। रामबन, डोडा, किश्तवाड़, अनंतनाग, श्रीनगर और बारामुला जिलों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं। जिला स्तर पर प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं।

उत्तराखंड निवासी डॉ. महेश और गांदरबल के डॉ. शकील लापता

पहलगाम प्रशासन के अनुसार अपर लिद्दर इलाके में 13 ट्रेकरों का दल बर्फबारी में फंस गया था। आपदा प्रबंधन टीमों ने 11 को बचा लिया है, लेकिन उत्तराखंड निवासी डॉ. महेश और गगनगीर गांदरबल के डॉ. शकील लापता हो गए हैं। वहीं, किश्तवाड़ में सिंथन टॉप पर मंगलवार आधी रात को बर्फबारी में दस वाहनों में सवार 50 यात्री फंस गए, जिन्हें रेस्क्यू कर लिया गया है। रियासी की अंस नदी की बाढ़ में फंसे पांच लोग बचा लिए गए।

बारिश में फंसे 27 बक्करवालों को सुरक्षित निकाला

शोपियां में हुई बारिश में फंसे 27 बक्करवालों को पुलिस ने सुरक्षित निकाल लिया। उधमपुर में पंचैरी के लटियार में उफने नाले में महिंद्रा वाहन बह गया। चालक ने छलांग लगाकर अपनी जान बचाई। जम्मू-कश्मीर व हिमाचल सीमा पर स्थित बनी के सिरगढ़ और मनकोट में बिजली गिरने से 44 मवेशियों की मौत हो गई। दो चरवाहे बुरी तरह से झुलस गए। चिनाब और तवी नदी समेत संभाग के ज्यादातर नदी-नाले उफान पर हैं। रियासी में चिनाब पर बने सलाल बांध के फ्लशिंग गेट खोलने पड़े। इससे चिनाब का जलस्तर बढ़ गया।

लोगाें से नदी-नालों के आसपास न जाने की अपील

अखनूर में बुधवार शाम को चिनाब का पानी 28 गेज तक पहुंच गया था। जम्मू में तवी नदी भी उफान पर रही। कश्मीर के अनंतनाग जिले के संगम इलाके में झेलम का जलस्तर 18.18 फुट पहुंच गया। 18 फुट खतरे का निशान है। प्रशासन ने लोगाें से नदी-नालों के आसपास न जाने की अपील की है। कश्मीर घाटी में झेलम जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे, जम्मू संभाग को कश्मीर से जोड़ने वाले वैकल्पिक मार्ग मुगल रोड और सिंथन मार्ग बंद हैं, जिसे खुलने में समय लग सकता है। पीड़ा इलाके में नवनिर्मित पुल नाले में बहा। कटड़ा में चॉपर, बैटरी कार, रोपवे सेवा जारी रही।

अमरनाथ गुफा के पास फिर बर्फबारी

जून माह में श्री अमरनाथ गुफा के पास दूसरी बार बर्फबारी हुई है। बुधवार को गुफा के पास फिर सफेदी छा गई। शेशनाग के पास बर्फबारी से लंगर कमेटी का किचन शेड ध्वस्त हो गया। कमेटी सदस्य ने बताया कि बर्फ के भार से किचन शेड गिर गया है, लेकिन किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

आज भी बंद रहेगा राष्ट्रीय राजमार्ग

यातायात विभाग की ओर से देर शाम जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार, जम्मू-श्रीनगर हाईवे वीरवार को भी बंद रहेगा। हाईवे पर जिस प्रकार का नुकसान हुआ है उसके कारण यातायात बहाल करने में समय लगेेगा। लोगों को सलाह दी गई है कि वह हाईवे की स्थिति स्पष्ट होने के बाद ही यात्रा के लिए निकलें।

उधमपुर में बिजली गिरने से एक की मौत

उधमपुर जिले में डुडू बसंतगढ़ के दूरदराज इलाके में बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। चार अन्य बुरी तरह से झुलस गए। प्राथमिक उपचार के बाद घायलों को एयरलिफ्ट कर अस्पताल पहुंचाया गया।

भूस्खलन, बाढ़ से बंद सड़कें तेजी से बहाल की जाएं: मंडलायुक्त 

मंडलायुक्त रमेश कुमार ने बाढ़ या भूस्खलन की वजह से बंद पड़ीं सड़कों को तेजी से खोलने के संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं। बुधवार को संभाग में बाढ़ प्रबंधन उपायों की समीक्षा करते हुए मंडलायुक्त ने यह निर्देश जारी किए। उन्होंने इस अवसर पर जिला उपायुक्तों को खराब मौसम से पहुंचे नुकसान का आकलन करने के लिए भी कहा। 

स्थान     बारिश मिमी

बटोत     44.2 
कोकरनाग 14 
काजीगुंड  08
श्रीनगर  03 
 गुलमर्ग  10 
बनिहाल 09 
जम्मू     01 
कटड़ा 0.8
भद्रवाह 02

तापमान अधिकतम

जम्मू     32. 5
श्रीनगर 17.7 
पहलगाम 13.3 
गुलमर्ग  8.0 
कुपवाड़ा 14.1
बनिहाल 17.4
बटोत 17.7
कटड़ा   30.0

आज खुल जाएगा मौसम 

मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के अनुसार जम्मू-कश्मीर में वीरवार को मौसम खुल जाएगा और तापमान में भी बढ़ोतरी होगी। हालांकि कुछ एक स्थानों पर बारिश हो सकती है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00