लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   Jammu and Kashmir: Two companies applied for providing taxi service like Ola-Uber, documents are being scrutinized

जम्मू-कश्मीर: ओला-उबर जैसी टैक्सी सेवा देने के लिए दो कंपनियों ने किया आवेदन, दस्तावेजों की हो रही जांच

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: करिश्मा चिब Updated Tue, 27 Jul 2021 07:06 PM IST
सार

परिवहन विभाग कंपनियों के दस्तावेजों की कर रहा जांच, मोबाइल एप आधारित टैक्सी सेवा जल्द होगी शुरू।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

जम्मू-कश्मीर में ओला-उबर की तर्ज पर मोबाइल ऐप आधारित टैक्सी एग्रीगेटर योजना के लिए दो कंपनियों ने आवेदन किया है। इसमें एक कंपनी जम्मू और दूसरी श्रीनगर से है। दोनों कंपनियों ने योजना से संबंधित दस्तावेज व अन्य जानकारी उपलब्ध करवाई है। विभाग इनकी जांच कर रहा है। कोविड के कारण इस प्रक्रिया में देरी हुई, अब विभाग इस योजना को जल्द शुरू करेगा।



टैक्सी एग्रीगेटर योजना में अब तक स्थानीय कंपनियों ने अपनी इच्छा दिखाई है। टैक्सी सेवा जम्मू और श्रीगनर में शुरू होगी, जो ओला और उबर की तरह ही काम करेगी। परिवहन विभाग की मंजूरी मिलने के बाद कंपनियां सेवा शुरू कर सकेंगी। इस सेवा के शुरू होने से आम लोगों को सबसे ज्यादा सुविधा मिलेगी। अपने मोबाइल एप के माध्यम से टैक्सी बुक करवा सकेंगे।


परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि फिलहाल दो ही कंपनियों ने आवेदन किया है। श्रीनगर में आरटीओ पद खाली होने से वहां पर इसे गति नहीं मिली है, लेकिन जम्मू में आवेदकों के आवेदन की जांच चल रही है। कोविड के कारण इस प्रक्रिया में देरी हुई है, लेकिन अभी इसे जल्द पूरा किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- राष्ट्रपति ने कहा: हिंसा कभी 'कश्मीरियत' का हिस्सा नहीं रही, कवयित्री लल्लेश्वरी की कृतियों का किया जिक्र

योजना के तहत पांच वर्षों का लाइसेंस मिलेगा, जिसके बाद कंपनी के लाइसेंस का नवीकरण उसी सेवाओं को देखकर किया जाएगा। योजना का हिस्सा बनने वाले कंपनी के पास 250 टैक्सी, ऑटो का बेड़ा होना चाहिए व कंपनी अधिनियम के तहत पंजीकृत होनी चाहिए।

टैक्सी एग्रीगेटर योजना में अब तक दो कंपनियों ने आवेदन किया है। इसमें एक जम्मू और दूसरी श्रीगनर की कंपनी है। इनके दस्तावेजों की जांच की जा रही है। योजना से संबंधित विस्तृत जानकरी पहले ही सार्वजनिक है। -प्रदीप कुमार, परिवहन आयुक्त

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00