विज्ञापन
विज्ञापन

महबूबा की मांग- अटल का सपना पूरा करें मोदी, जहां से छोड़ी थी पाक से बातचीत वहां से करें दोबारा शुरू

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Tue, 04 Sep 2018 07:23 PM IST
पीडीपी कार्याकर्ताओं को संबोधित करतीं महबूबा मुफ्ती
पीडीपी कार्याकर्ताओं को संबोधित करतीं महबूबा मुफ्ती - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
जब तक केंद्र की मोदी सरकार पाकिस्तान के साथ अपने संबंध नहीं सुधारेगी तब तक जम्मू-कश्मीर राज्य में हलात ठीक नहीं हो सकते। यह कहना है राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीडीपी की राज्य अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती का। महबूबा मंगलवार को राजोरी दौरे के दौरान पीडीपी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रही थी। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि मैं अपने देश के प्रधानमंत्री से अपील करना चाहती हूं कि अभी पाकिस्तान के जो नए प्रधानमंत्री बने हैं इमरान खान साहब उनसे मिल कर, जहां पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने बात छोड़ दी थी वहां से फिर से पाकिस्तान के साथ बात शुरू कर दी जाए। ताकि जम्मू-कश्मीर में यह जो अफरा तफरी का माहौल है यह खत्म हो जाए। 
विज्ञापन
विज्ञापन
राज्य में खून खराबा बंद हो जाए, बेगुनाह लोगों के कत्ल बंद हो जाएं। महबूबा ने साफ साफ शब्दों में कहा कि जब तक हमारा देश व पाकिस्तान एक साथ नहीं होते तब तक हमारे राज्य से गरीबी व मुफलिसी नहीं जाएगी। दोनों देश अपना अधिक पैसा बंदूके, हथियर, गोला बारूद खरीदने में लगा देते हैं। यदि वहीं पैसा अस्पतालों में खर्च करें, गरीब बच्चों की पढ़ाई पर लगाएं तो यहां के बच्चों का भविष्य संवर जाए। 

महबूबा ने कहा कि हमारे अस्पतालें में डॉक्टर नहीं हैं। स्कूलों में शिक्षक नहीं हैं। जो हाल पाकिस्तान में है वैसा ही हाल हमारे जम्मू-कश्मीर में है। महबूबा ने कहा कि पीडीपी का एजेंडा और मुफ्ती सईद का एजेंडा रास्ते खोलो, नौशेरा के जंगल खोलो, इस कश्मीर को उस कश्मीर के साथ मिलाओ। रास्तों के माध्यम से बातचीत करो, पाकिस्तन से भी और कश्मीर की जनता से भी, इसके बगैर कोई चारा नहीं है, पीडीपी का यही एजेंडा जम्मू-कश्मीर का आज है और जम्मू कश्मीर का कल होगा। 

वहीं महबूबा ने जनता को पीडीपी के साथ जुड़ने की अपील करते हुए कहा कि पीडीपी मात्र एक सियासी पार्टी नहीं है, बल्कि यह एक इतिहास है। पीडीपी मुफ्ती साहब की 50 साल की मेहनत का निचोड़ है। उन्होंने कहा कि मुफ्ती सईद ने भाजपा के साथ हाथ मिलाने का एक मात्र मकसद था जम्मू-कश्मीर की जनता की भलाई। भाजपा जैसी पार्टी के साथ जाने का फेसला केवल जनता के लिए किया गया था ताकि जम्मू-कश्मीर को इस मूसीबत से बचाया जा सके, लेकिन भाजपा ने हमारे साथ व राज्य की जनता के साथ धोखा किया है। जब तक हमारे साथ सत्ता में थे तब भी अड़चने पैदा करते रहते थे ताकि जम्मू-कश्मीर में तरक्की न हो सके।  

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री ने 35-ए को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए जम्मू-कश्मीर से 35-ए और धारा 370 को नहीं हटाने दिया जाएगा। यह दोनों हमारे राज्य की अपनी एक अलग पहचान हैं और इस पहचान को बचाए रखने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। साफ-साफ शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि अगर यह टूटा तो जम्मू-कश्मीर राज्य के रिश्ते भारत देश के साथ खत्म हो जाएंगे।

 

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Jammu

J&K: गिरफ्तार आतंकी ने खोले कई राज, बताया- दहशत की राह पर चलने के लिए कैसे उसे बरगलाया  

जम्मू कश्मीर में सेना ने मोहम्मद वकार नाम के एक आतंकी को प्रेस कॉन्फ्रेंस में सामने लाकर कई बड़े खुलासे किए।

24 अप्रैल 2019

विज्ञापन

बारामुला के कश्मीरी पंडितों के लिए उधमपुर में बनाया गया विशेष पोलिंग बूथ

जम्मू-कश्मीर में जम्मू-पुंछ और बारामुला लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ। बारामुला छोड़ कर जम्मू संभाग में रह रहे कश्मीरी पंडितों के लिए उधमपुर में एक विशेष पोलिंग बूथ की व्यवस्था की गई। देखिए ये रिपोर्ट।

11 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election