विज्ञापन

मंदिरों के शहर जम्मू में बढ़े आपराधिक मामले, पढ़िए क्या हैं पुलिस के दावे और हकीकत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Wed, 08 Jan 2020 01:13 AM IST
जम्मू कश्मीर पुलिस
जम्मू कश्मीर पुलिस - फोटो : सोशल मीडिया
ख़बर सुनें
बीते साल पुलिस ने ड्रग्स पर बड़ी मात्रा में कार्रवाई करने का दावा किया है। साथ ही विभिन्न आपराधिक मामलों पर भी काबू पाने की बात कही। लेकिन मंदिरों के शहर जम्मू में थानों में दर्ज होने वाले मामलों की संख्या बढ़ी है।
विज्ञापन
इसमें ड्रग्स और रोड एक्सीडेंट के अधिक मामले सामने आए हैं। नगरोटा और दोमाना दो ऐसे थाने हैं, जहां सबसे अधिक केस दर्ज किए गए हैं। पुलिस का महिला थाना सबसे कम एफआईआर लगाने में शामिल रहा। 2019 में जम्मू जिले के विभिन्न थानों में 4773 केस दर्ज किए गए हैं, जबकि 2018 में करीब 4200 मामले दर्ज हुए थे।

जानकारी के अनुसार वूमेन सेल में 23, बस स्टैंड 67, खौड़ 68, अरनिया 83, सिटी 94, पीर मिट्ठा 72, बाग ए बाहु 101, जानीपुर 150, झज्जर कोटली 174, मीरां साहिब 175, गंग्याल 148, कानाचक 186, नवाबाद 186, छन्नी 196, पक्का डंगा 208, बख्शी नगर 219, बिश्नाह 230, अखनूर 235, सतवारी 262, 309 गांधी नगर, त्रिकुटा नगर 318, दोमाना 423, नगरोटा 473 मामले दर्ज हुए हैं। शहर में रैश ड्राइविंग के मामलों में भी इजाफा हुआ है। आसपास के इलाकों में रोड एक्सीडेंट भी बढ़े हैं।
विज्ञापन

Recommended

त्योहारों के मौसम में ऐसे बढ़ाएं रिश्तों में मिठास
Dholpur Fresh (Advertorial)

त्योहारों के मौसम में ऐसे बढ़ाएं रिश्तों में मिठास

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Jammu

जम्मू-कश्मीर विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष समेत चार की नजरबंदी हटी, महबूबा-उमर-फारूख अभी भी कैद में

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद नजरबंद चार और कश्मीरी नेताओं की नजरबंदी हटा दी गई हैं। इनमें पीडीपी के एक पूर्व मंत्री तथा विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष भी शामिल हैं। इससे पहले गुरुवार को पांच नेताओं को एमएलए हॉस्टल से रिहा किया गया था।

17 जनवरी 2020

विज्ञापन

निर्भया की मां आशा देवी ने कहा- ‘चुनाव लड़ने की ख़बरें गलत’

निर्भया की मां आशा देवी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव लड़ने की खबरों को गलत बताया। उन्होंने कहा की मेरा राजनीति से कोई नाता नहीं है।

17 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us