'My Result Plus
'My Result Plus

हत्या के बाद दफनाए शव को एक साल बाद जमीन खोदकर निकलवाया, ये है मामला

अमर उजाला टीम डिजिटल/जयपुर Updated Fri, 12 Jan 2018 08:09 PM IST
जमीन में दफनाए शव को निकलवाती पुलिस
जमीन में दफनाए शव को निकलवाती पुलिस - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
जोधपुर शहर के सूरसागर थाना क्षेत्र में एक साल पहले हुए ब्लाइंड मर्डर का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने मामले में आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
दरअसल जोधपुर के प्रताप नगर थाना क्षेत्र के मसूरिया नट बस्ती निवासी सूर्य भगवती देवी नट ने रिपोर्ट दी थी कि उसकी बेटी संतरा की एक साल पहले विनोद, सुनीता, महबूब उर्फ महमूद, महेश और अर्जुन ने हत्या कर शव को दफना दिया। भगवती के बयान के बाद सूरसागर पुलिस ने इस मामले में सभी संदिग्ध आरोपियों से गहनता से पूछताछ की। आरोपियों ने एक साल पूर्व संतरा की हत्या कर जोधपुर के कबीर नगर इलाके में स्थित महबूब उर्फ महमूद के मकान के सामने पुरानी रेलवे लाइन के पास शव दफनाने की बात कबूल की।

इसके बाद आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने चिन्हित जगह पर जाकर खुदाई करवाई तो एक महिला का कंकाल मिला। पुलिस ने मृतका के कंकाल को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए महात्मा गांधी अस्पताल मोर्चरी में रखवाया है।

फिलहाल पुलिस ने इस मामले में विनोद, महबूब उर्फ महमूद, महेश और अर्जुन को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू की है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। पुलिस अब यह तस्दीक करने में जुटी हैं कि यह कंकाल संतरा का ही हैं। साथ ही, आरोपियों से उसकी हत्या के कारणों के बारे में भी पूछताछ कर रही हैं।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Bareilly

सत्संग के बहाने प्रधान की पौत्री को ले भागा बाबा

लोकेशन बदायूं के बार्डर पर स्थित गांव में मिलने पर छापामारी, लेकिन खाली हाथ लौटी पुलिस 

23 अप्रैल 2018

Related Videos

मेट्रो स्टेशन पर सुरक्षाकर्मी ने ही की छात्रा के साथ गंदी हरकत, पुलिस पर लगे ये आरोप

जयपुर के सिविल लाइन्स मेट्रो स्टेशन पर एक बीएड की छात्रा से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। छेड़छाड़ का आरोप मेट्रो स्टेशन पर तैनात एक सुरक्षाकर्मी पर ही लगा है। इस बीच पुलिस पर भी आरोप लगा है। देखिए क्या है पूरा मामला।

23 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen