बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

किसानों ने भाजपा सांसद को दिखाए काले झंडे, गाड़ी घेरी

Amar Ujala Bureau अमर उजाला ब्यूरो
Updated Fri, 02 Oct 2020 12:48 AM IST
विज्ञापन
pradarsan
pradarsan - फोटो : Yamuna Nagar

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
कृषि कानूनों को लेकर किसानों ने अब खुलकर भाजपा नेताओं का विरोध शुरू कर दिया है। वीरवार को गांव ऊंचा चांदना और बकाना में भाजपा सांसद नायाब सैनी और पूर्व मंत्री कर्णदेव कांबोज के काफिले का किसानों ने घेराव किया और उन्हें काले झंडे दिखाकर अपना विरोध जताया। भाजपा के दोनों नेता इन गांवों में कृषि कानूनों से लोगों को अवगत कराकर वापस लौट रहे थे। किसानों ने दोनों नेताओं के सामने ही प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के विरुद्ध नारेबाजी की। किसानों का कहना था कि जब तक यह कानून वापस नहीं होते तब तक वे सड़कों पर रहेंगे। उन्होंने कहा सरकार काले कानून बना रही है। सभी किसान आज आर्थिक स्थिति से जूझ रहे हैं।
विज्ञापन

गांव बकाना में किसानों ने सांसद नायब सिंह सैनी व पूर्व राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज को दोपहर के लगभग ढाई बजे चिलचिलाती धूप में लगभग 30 मिनट तक रोककर उन्हें धान की खरीद व कृषि कानूनों को लेकर खरी खोटी सुनाई। किसानों के साथ काफी देर तक उनकी बहस हुई। सांसद ने किसानों को जल्द धान की खरीद और कृषि कानूनों के लाभ गिनवाये। लेकिन किसान उनकी बातों से जरा भी संतुष्ट नहीं हुए। बाद में डीएसपी रादौर रणधीर सिंह अपील पर किसानों ने गांव बकाना में सड़क पर वाहन खड़े करके लगाया गया जाम खोल दिया।

भाकियू प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप नगला, जिला प्रधान सुभाष गुर्जर व जयपाल चमरोडी ने किसान कई कई दिनों से मंडियों में अपनी धान की फसल को बेचने के लिए भूखे प्यासे बैठे हुए है। लेकिन उनकी फसल को खरीदा नहीं जा रहा है। किसानों की फसल मंडियों में औने पौने दाम पर बिक रहीं है। काले कानून बनाकर किसानों को बर्बाद किया जा रहा है। पहले किसानों की मक्के की फसल औने पौने दाम पर बिकी और अब धान की फसल का भी यही हाल है। किसान सड़कों पर संघर्ष कर रहें है। लेकिन सरकार सोई हुई है। उन्होने कहा कि किसान विरोधी फैसले लेने पर अब किसान यूनियन सरकार के मंत्रियों, विधायकों व सांसदों को इसी प्रकार क्षेत्र के गांव व शहरों में आने पर उनका काले झंडों से स्वागत करेगी। इस अवसर पर प्रदीप नगला प्रदेश उपाध्यक्ष, जयपाल चंमरोडी जिला उपाध्यक्ष, अशोक शर्मा खजूरी मंडल उपाध्यक्ष, उदय सिंह कुंजल प्रधान रादौर, रमेश ढिल्लो जिला महासचिव, मोहनलाल मुंडाखेड़ा प्रधान छछरोली, सुखदेव सिंह सलेमपुर प्रधान बिलासपुर, बाजिंद्र सिंह राणा प्रधान सरस्वती नगर, सतवीर सिंह मसाना जटांन, कर्णवीर सलेमपुर, सुभाष चमरोड़ी, साहब सिंह खजूरी, कर्मवीर बरेहडी प्रधान जठलाना, पवन गोयल दामला, धर्मवीर अमलोहा, नायब सिंह, कंवरपाल समय सिंह, जगपाल सिंह पूर्व सरपंच धौडंग, पप्पू सिलीकंला, रघुवीर सिंह जुब्बल, गुरदयाल सिंह कंबोज, ओम प्रकाश शर्मा आदि किसान मौजूद रहे।
किसानों के द्वारा सांसद को काले झंडे दिखाये जाने की खुफिया एजेंसियों को इसकी भनक तक नहीं लगी। इस दौरान जब लगभग दोपहर ढाई बजे सांसद नायब सिंह सैनी व पूर्व राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज अपने काफिले के साथ गांव खजूरी से बकाना की ओर आ रहे थे तो गांव बकाना के पास चौराहे पर भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसानों ने अचानक उनके रास्ते में जाम लगा दिया और उनके मौके पर पहुंचते ही उन्हे काले झंडे दिखाकर उनका विरोध किया। किसानों द्वारा अचानक सांसद व पूर्व राज्यमंत्री को काले झंडे दिखाने व उनका रास्ता रोकने पर सुरक्षा एजेंसियों व पुलिस में हड़कंप मच गया। किसानों के अचानक विरोध करने को लेकर प्रशासन की ओर से मौके पर गिने चुने पुलिस कर्मचारी मौजूद थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us