मदर एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल में 24 X 7 सेवा

अमर उजाला, गुड़गांव Updated Wed, 29 Jan 2014 05:20 PM IST
mother and child care hospital in gurgaon
हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने सेक्टर 10 के मदर एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल का चार्ज जिला स्वास्थ्य विभाग को दे दिया है।

ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है, जो कि अस्पताल के रखरखाव की निगरानी करेगी।

जिला स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस अस्पताल का शिलान्यास छह अप्रैल 2002 को किया गया था। अस्पताल पर करीब साढ़े 17 करोड़ रूपये की राशि खर्च हुई है। इस अस्पताल का उद्घाटन 2012 को कर दिया गया था, लेकिन कार्य अधूरे होने की वजह से हुडा ने इसका चार्ज नहीं दिया था।

अब यह अस्पताल पूरी तरह से तैयार हो चुका है। ऐसे में हुडा ने इसका चार्ज स्वास्थ्य विभाग को दे दिया है। सिविल सर्जन डा. पुष्पा बिश्नोई ने अस्पताल के रखरखाव की निगरानी के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है।

इस कमेटी में मदर एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक डा. जयभगवान जाटान, डा. धर्म सिंह और डा. शुभा बंसल शामिल हैं। डा. जयभगवान जाटान ने बताया कि अस्पताल में अब केवल छोटी मोटी कमियां रह गई है। हुडा के संबंधित अधिकारियों ने भरोसा दिलाया है कि तीन माह के भीतर तमाम कमियों को दूर कर दिया जाएगा।

प्रसव वार्ड में आने लगी मरीज
डा. जाटान ने बताया कि मदर एंड चाइल्ड केयर में हाल ही में 24 घंटे सातों दिन डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसमें गायनी के मरीजों ने आना भी शुरू कर दिया है। जल्द ही यहां पर आपातकालीन सेवाएं भी शुरू हो जाएंगी।

Spotlight

Most Read

Rohtak

सीएम को भेजा पत्र

सीएम को भेजा पत्र

23 जनवरी 2018

Rohtak

एमटीएफसी

23 जनवरी 2018

Related Videos

छात्रों से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किया ये ‘अनुरोध’

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुग्राम के SGT विश्वविद्यालय के पांचवें दीक्षांत समारोह में शिरकत की। यहां उन्होंने छात्रों को संबिधित भी किया।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper