चोरों के हौसले बुलंद, पुलिस बेबस: टीएचए में दो घरों के ताले तोड़कर लाखों की चोरी

Ghaziabad Bureauगाजियाबाद ब्यूरो Updated Sun, 25 Nov 2018 01:48 AM IST
विज्ञापन
मकान से लाखों की चोरी
मकान से लाखों की चोरी - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
टीएचए में दो घरों के ताले तोड़ उड़ाया लाखों का माल
विज्ञापन

साहिबाबाद। खोड़ा के दीपक विहार में शुक्रवार रात करीब 3:30 बजे चोरों ने पूर्व प्रधान के घर का ताला तोड़कर 50 तोला सोना, दो मोबाइल, एक किलो चांदी और चार लाख रुपये साफ कर दिए। घेर में सोए पूर्व प्रधान जब सुबह घूमने निकला तो उसे चोरी का पता चला। पीड़ित के अनुसार चोरी कम से कम नौ बदमाश शामिल होेंगे। बदमाश कार, बाइक और स्कूटी से आए थे। पुलिस घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। फोरेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए हैं।
जानकारी के मुताबिक, अतर सिंह यादव खोड़ा के दीपक विहार में परिवार के साथ रहते हैं। वह सेना से रिटायर हैं और पूर्व में प्रधान रह चुके हैं। उनके परिवार में बड़े बेटे लोकेश व उसकी पत्नी ललिता और छोटा बेटा दिनेश व अलका एक ही घर में रहते हैं। अतर सिंह घर के पास ही घेर में अपने दो पोते के साथ सोने चले गए थे। शनिवार सुबह करीब चार बजे वह टहलने के लिए सड़क आए तो देखा उनके घर के मेन गेट का ताला टूटा पड़ा है। वह तत्काल घर पहुंचे और बड़े बेटे को ताला टूटने की जानकारी दी। लोकेश ने बताया पहले केवल दो मोबाइल और कुछ रुपये जाने की जानकारी हुई। जब अंदर कमरों में देखा तो 50 तोला सोने के जेवर, एक किलो चांदी और चार लाख रुपये गायब थे। पुलिस ने मौका मुआयना किया।
पड़ोस में लगे सीसीटीवी में कैद हुए बदमाश
पीड़ित के मुताबिक, पड़ोस में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में बदमाश घर के बाहर कार और बाइक पर बैठकर जाते दिख रहे हैं। सीसीटीवी में नौ बदमाश दिख रहे हैैं।। पुलिस ने डीवीआर कब्जे में ले ली है। एसएचओ धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि आसपास के सीसीटीवी कैमरों फुटेज भी खंगाली जा रही है।

राइफल और लैपटॉप नहीं ले गए चोर
पूर्व प्रधान अतर सिंह के घर में घुसे बदमाश घर रखे जेवर और नकदी तो ले गए, लेकिन उनकी घर में रखी राइफल और दो लैपटॉप पर नजर नहीं पड़ी। पीड़ित अतर सिंह ने बताया कि उनका नौकर छूट्टी पर गया है। इसलिए वह पशुओं के पास घेर की रखवाली करने के लिए सोते थे। पुलिस सूत्रों की मानें घटना में किसी करीबी और जानकार का हाथ हो सकता है। जिसे पूरी जानकारी थी कि किस समय घटना को अंजाम देना है और सामान कहां रखा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us