अगर बच्चे के पैर मुड़े हुए हैं तो ये खबर पढ़ें

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 24 Jan 2014 03:12 PM IST
Research Related to Clubfoot Problem in Childs
क्लबफुट की बीमारी कितने दिन में ठीक हो जाएगी, अब इसका पता आसानी से पता चल जाएगा। पीजीआई के आर्थोपेडिक टीम ने एक रिसर्च के जरिए यह कामयाबी पाई है।

पीजीआई के डिपार्टमेंट ऑफ आर्थोपेडिक के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. निर्मल राज गोपीनाथन ने बताया कि क्लबफुट बीमारी एक हजार बच्चों में से एक बच्चे को होती है।

बच्चों की पतली और छोटी हड्डियों के कारण इसका पता नहीं पाता था, लेकिन अल्ट्रासोनोग्राफी की मदद से पूर्वानुमान लगाया जा सकता है कि कितने दिन तक बच्चों की हड्डियां ठीक होंगी।

यानी कितने दिन तक बच्चों के प्लास्टर लगाया जा सकता है। इस विधि से बच्चों की हड्डियों के सीधे होने की प्रक्रिया पर भी नजर रखी जा सकती है।

डा. निर्मल राज ने बताया कि अब तक इस दिशा की ओर कोई रिसर्च नहीं हुई है। यह रिसर्च अब भी जारी है। उनके इस रिसर्च पेपर को हाल ही में आयोजित 20वें एनुअल कांफ्रेंस ऑफ पीडियाट्रिक आर्थोपेडिक सोसाइटी आफ इंडिया में बेस्ट पीओएसआई पेपर के अवार्ड से सम्मानित किया गया।

यह रिसर्च आर्थोपेडिक और रेडियोडायग्नोसिस विभाग के साथ मिलकर की गई थी। रिसर्च टीम में डॉ. निर्मल राज के अलावा डॉ. पेबम सुदेश, डॉ. महेश प्रकाश और डॉ. उदय शामिल थे।

क्या है क्लबफुट:
यह एक जन्मजात बीमारी है। इसमें बच्चे का एक या दोनों पैर टखने की अंदर की तरफ मुड़े होते हैं। इलाज न होने होने की सूरत में मरीज को पैर टेढ़ा करके चलना पड़ता है।

डाक्टरों के मुताबिक हर एक हजार में से एक बच्चे को यह समस्या आती है। पचास फीसदी लोगों के दोनों पैर प्रभावित होते हैं। तकनीकी विकास से इसका इलाज संभव हो पाया है।

जागरूकता के अभाव में अब भी लोग इलाज कराने के लिए आगे नहीं आते और मरीज को जीवन भर अपंगता झेलनी पड़ती है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

शिवपाल के जन्मदिन पर अखिलेश ने उन्हें इस अंदाज में दी बधाई, जानें- क्या बोले

शिवपाल यादव ने अपने समर्थकों संग लखनऊ स्थित आवास पर जन्मदिन मनाया। अखिलेश यादव ने उन्हें मीडिया के माध्यम से बधाई दी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: चंडीगढ़ का ये चेहरा देख चौंक उठेंगे आप!

‘द ग्रीन सिटी ऑफ इंडिया’ के नाम से मशहूर चंडीगढ़ में आकर्षक और खूबसूरत जगहों की कोई कमी नहीं है। ये शहर आधुनिक भारत का पहला योजनाबद्ध शहर है। लेकिन इस शहर को खूबसूरत बनाये रखने वाले मजदूर कैसे रहते हैं यह देख आप हैरान हो जायेंगे।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper