GMCH 32: हड़ताल पर जा सकते हैं कर्मचारी

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sat, 25 Jan 2014 07:01 PM IST
GMCH-32 Employees Gave Warning of Strike
वेतन बढ़ाने समेत अन्य मांगों को लेकर जीएमसीएच-32 के कांट्रैक्ट पर रखे गए कर्मचारियों ने गेट मीटिंग कर हड़ताल की चेतावनी दी। गुस्साए कर्मचारियों ने कहा कि  उनकी मांगें सालों से पेंडिंग पड़ी हुई है।

कई बार प्रशासन को चिट्ठी भेजी, ज्ञापन दिए, मुलाकात की। लेकिन अब तक एक भी मांग पूरी नहीं हुई है। कर्मचारियों पर काम का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है।

सभी कर्मचारी पूरी ईमानदारी और मेहनत से अपना काम कर रहे हैं, लेकिन उसके बावजूद उनकी नहीं सुनी जा रही। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि 25 जनवरी से सभी कर्मचारी अपनी मांगों के समर्थन में एक हफ्ते तक काले बिल्ले लगाकर काम करेंगे।

उसके बाद एक गेट मीटिंग होगी और काम न करने का फैसला लिया जाएगा। इस दौरान मरीजों को परेशानी आएगी, लेकिन इसकी जिम्मेदारी संस्थान की होगी। मीटिंग में अस्पताल में कांट्रैक्ट के आधार पर काम करने वाले सभी कर्मचारी शामिल थे।

कर्मचारी नेता ओम कैलाश ने बताया कि यहां कई ऐसे कर्मचारी हैं जो 10 से 15 सालों से एक ही तनख्वाह पर काम कर रहे हैं। सालों में महंगाई कहां से कहां पहुंच गई, लेकिन कर्मचारियों की तनख्वाह जस की तस है।

इससे उनमें तनाव बढ़ता जा रहा है। इस बारे में कई बार शिकायत दी लेकिन कुछ भी नहीं हुआ। गेट मीटिंग के दौरान कर्मचारियों ने मौजूदा डायरेक्टर के खिलाफ नारेबाजी भी की।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि अब तक सभी डायरेक्टर उन्हें अपना कर्मचारी मानते थे। लेकिन जब से नए डायरेक्टर आए हैं, उन्होंने कांट्रैक्ट के कर्मचारियों को अपने संस्थान का मानने से मना कर दिया। इससे भी कर्मचारी खासे नाराज हैं।

ये हैं प्रमुख मांगे
1. समान कार्य, समान वेतन।
2. कर्मचारियों को इंफेक्शन से बचाने के लिए हेपेटाइटिस-बी के इंजेक्शन लगवाना।
3. सभी कर्मचारियों को सिनियोरिटी के दायरे में लाया जाए।
4. कर्मचारियों को पूरा बोनस मिले।
5. पीएफ और ग्रेच्युटी की पूरी जानकारी देना।
6. ईएसआई की पूर्ण सुविधा का मिलना।
7. सभी कर्मचारियों को फ्री मेडिकल चेकअप।

Spotlight

Most Read

Ballia

अभाविप ने फूंका केरल सरकार का पुतला

कार्यकर्ता की हत्‍या के विरोध में फूटा गुस्सा

21 जनवरी 2018

Related Videos

नशे के शिकार लोगों को ऐसे सही रास्ता दिखाने का काम कर रहे हैं ये दो भाई

पूरा पंजाब नशे की गिरफ्त में हैं। बेरोजगारी और आसानी से मिलने वाला नशे का सामान इसके लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार माना जाता है।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper