ऐसे तो नहीं हारेगा कोरोना: रोजाना 356 लॉकडाउन उल्लंघन के मामले, 137 एफआईआर, 194 गिरफ्तारी

मोहित धुपड़, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: ajay kumar Updated Wed, 15 Apr 2020 01:10 AM IST
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें
एक ओर जहां पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है, वहीं देश के साथ-साथ हरियाणा में भी इस बीमारी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। राज्य सरकार और पुलिस नरम और सख्त दोनों तरह के हथकंडे अपनाकर लोगों को जागरूक करते हुए महामारी से लड़ने के लिए उनके सहयोग की लगातार अपील कर रही हैं। 
विज्ञापन


मगर प्रदेश के लोग शायद अभी तक अपनी जिम्मेदारी को पूरी तरह समझने को तैयार नहीं है। नतीजतन लॉकडाउन के 21 दिन के पहले चरण में पुलिस के अनुसार राज्य के लोगों में उतनी ज्यादा गंभीरता नहीं दिखी, जिसकी उम्मीद की जा रही थी। पुलिस कर्मचारी इस लॉकडाउन में एक ओर जहां लोगों  को जागरूक, मदद और खाना बांटते दिखाई दिए तो वहीं उल्लंघन करने वाले कई लोगों को पुलिस की लाठियां भी झेलनी पड़ी। 


पुलिस द्वारा लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई और उन्हें गिरफ्तार भी किया गया। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के गृहनगर अंबाला में लॉकडाउन उल्लंघन के सबसे ज्यादा मामले सामने आए। हरियाणा में लॉकडाउन के पहले चरण में उल्लंघन के कुल 7373 मामले सामने आए, जिसके तहत कुल 2876 एफआईआर दर्ज की गई। वहीं 4073 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया। यानि हरियाणा में इस दौरान रोजाना उल्लंघन के औसतन 351 मामलों में 137 एफआईआर दर्ज हुई। इसके अंतर्गत रोजाना औसतन 194 लोगों की गिरफ्तारियां हुई।

अच्छी बात यह रही कि केवल नूंह जिले को छोड़कर प्रदेश के अन्य किसी भी जिले में कानून-व्यवस्था बिगड़ने की कोई घटना सामने नहीं आई। हां, कई जगहों पर अल्पसंख्यकों पर हमले की घटनाएं भी सामने आई। जिस पर पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए 89 से अधिक ज्ञात व अज्ञात पर 19 एफआईआर दर्ज की। अभी तक 28 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। 

कई बार, कई जगह और कई लोगों को पुलिस का ये सख्त रवैया नागवार भी गुजरा। मगर हरियाणा पुलिस के आला अधिकारी का कहना है कि पुलिस की सख्ती खुद पुलिस के लिए नहीं, बल्कि हरियाणा के लोगों के बीच इस खतरनाक संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए की जा रही है। खैर, बुधवार 15 अप्रैल से लॉकडाउन का दूसरा चरण शुरू हो रहा है। हरियाणा सरकार भी तैयार है और पुलिस भी।
 
कोरोना से निपटने के लिए अब जन आंदोलन की आवश्यकता है। आज पूरी दुनिया इससे जूझ रही है। सिविल व पुलिस प्रशासन इस बीमारी से अकेले नहीं निपट सकता, जब तक जनता इसमें पूरा साथ न दे। चूंकि इस खतरनाक बीमारी को रोकना हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी है, इसलिए आने वाले दिनों में भी सभी एकजुटता, संयम और अनुशासन के साथ सरकार व पुलिस का सहयोग करते हुए कोरोना के संक्रमण से बचे रहने के लिए लाकॅडाउन व सामाजिक दूरी का पूर्णत: पालन करें। जरूरत पड़ी तो पुलिस सख्त भी दिखेगी। - मनोज यादव, डीजीपी 

  • ज़िला         उल्लंघन      एफआईआर        गिरफ्तार
  • अंबाला        2171            167               224
  • भिवानी        36                 36                56
  • दादरी          52                 52                 86
  • फरीदाबाद    442              442               595
  • फतेहाबाद     323             101               125
  • गुरुग्राम         841             364               471
  • हिसार          265             133                212
  • हांसी           251              82                  136
  • झज्जर        107             107                 146
  • जींद            440             79                   78
  • कैथल          73               73                   102
  • करनाल        85               85                   121
  • कुरुक्षेत्र        74               74                    97
  • नारनौल       62               62                    79
  • नूंह             42               42                     35
  • पलवल       1240           108                  137
  • पंचकूला      75               75                    144
  • पानीपत      108             108                  176
  • रेवाड़ी         110             110                  192
  • रोहतक       187             187                   295
  • सिरसा        110             110                  210
  • सोनीपत      247             247                  301
  • यमुनानगर    32              32                     55
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00