हरियाणा: दरिंदगी का शिकार बनी 6 साल की मासूम के परिवार ने शहर छोड़ा

ब्यूरो/अमर उजाला, उकलाना मंडी(हरियाणा) Updated Thu, 08 Feb 2018 09:32 AM IST
6 yr old girl raped and murdered in Hisar, Family left the city
Hisar Rape & Murder - फोटो : File Photo
बीसों वर्ष पुराना घोंसला छोड़ने का दर्द कैसा होता है, यह आज उन परिवारों की आंखों में देखने को मिला, जो नौ दिसंबर को दरिंदगी का शिकार हुई छह वर्षीय मासूम बच्ची को खो चुके हैं। पीड़ित परिवार के सदस्य और साथ की झोपड़ियों में रह रहे पांच परिवार बुधवार सुबह 11 बजे उकलाना मंडी को अलविदा कर गए। दो वाहनों में इनका सामान पैतृक बस्ती दूसरे जिले में ले जाया गया।
बुधवार सुबह जब ये परिवार वाहनों में अपना सामान लाद रहे थे, तब न तो कोई प्रशासन का पदाधिकारी वहां था और न ही इन परिवारों के संघर्ष की लड़ाई लड़ने का एलान करने वाले नेता। वहां थे तो बस वे पड़ोसी, जो इनके हर दुख दर्द में 20 साल से साथ रह रहे थे। जहां पीड़ित परिवार के कुछ सदस्यों की आंखें नम थीं। पड़ोस की महिलाएं भी सुबक रही थीं। 
मासूम के पिता ने बताया कि साहब, अब यहां से दिल भर गया था। जिसकी भूमि थी, वह भी खाली करने का दबाव बना रहा था, हम कल थाना प्रभारी से मिले थे। उन्होंने भी मंजूरी दे दी थी। यह भी कहा कि हमें मात्र चार लाख 12 हजार 500 रुपये की ही सरकारी मदद अब तक मिली है। न तो वादे के अनुसार प्लॉट मिला, ना मकान। अब हम दूसरे जिले में अपनी पैतृक सपेला बस्ती में अपने कुटुंब के साथ रहेंगे। 
आगे पढ़ें

यह था मामला

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

मेरठ में राष्ट्रोदय आज, अनूठे रिकॉर्ड की साक्षी बनेगी क्रांतिधरा

सर संघ चालक मोहन भागवत तीन लाख स्वयं सेवकों को आज संबेधित करेंगे।

25 फरवरी 2018

Related Videos

VIDEO: दो गुटों में चली सरेआम गोलियां, CCTV में कैद हुई वारदात

लुधियाना में दो गुटों के बीच सरेआम गोलीबारी का एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो को पंजाब में होने वाले नगर निगम चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।

21 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen