बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

खेत से चुराई तीन मोटर समेत दो गिरफ्तार


गदरपुर में खेतों में सिंचाई के लिए लगाई गई मोटर की चोरी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है। उनके पास से चोरी की तीन मोटर बरामद की हुईं।
बुधवार सुबह करीब छह बजे सूचना पर एसआई गणेश दत्त भट्ट ने सिपाही जितेंद्र सिंह, प्रेम पुरी के साथ कैलाशपुरी रोड पर एक कार को रोका। तलाशी में टीम को कार में छिपाकर रखी बिजली की तीन मोटरें बरामद र्हुइं। कार में सवार अनिल रावत और गोविंदा निवासी ग्राम रामजीवनपुर नंबर तीन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार दोनों ने 23 जून को अपने साथियों के साथ उक्त मोटरों को गदरपुर और रजपुरा गांव के खेतों से चुराई थी। अनिल रावत और गोविंदा के खिलाफ धारा-379 एवं 411 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें

पड़ोस में रहने वाले दंपति पर मारपीट का आरोप

कोतवाली पुलिस ने दबोचा गैंगस्टर का आरोपी


रुद्रपुर में लगातार आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वाले एक गैंगस्टर के आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। बृहस्पतिवार को पुलिस मामले का खुलासा कर सकती है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ समय पूर्व रुद्रपुर सिटी क्लब के बाहर दो पक्षों के बीच हुए विवाद में दोनों पक्ष के लोगों ने अवैध असलहों से फायरिंग कर क्षेत्र में दहशत फैला दी थी। मामले में दो लोग गोली लगने से घायल हुए थे। पुलिस फायरिंग करने वाले सभी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी धरपकड़ में जुटी थी। इधर बुधवार देर शाम पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर मामले में नामजद एक युवक को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि पकड़े गए युवक के खिलाफ पुलिस द्वारा गैंगस्टर की कार्रवाई भी की गई है। साथ ही पकड़े गये गैंगस्टर ने सप्ताह भर पूर्व रोडवेज स्टेशन के पास फायरिंग करके क्षेत्र में दहशत भी फैलाई थी। पुलिस को पकड़े गये गैंगस्टर के पास कई अवैध हथियार होने का अंदेशा है। फिलहाल पुलिस पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: पति ने पत्नी को लाठी से पीट-पीटकर मार डाला, फिर खुद भी फांसी लगाकर दी जान 

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में अगस्त्यमुनि ब्लॉक के जगोठ गांव में एक पति ने पहले पत्नी को लाठी से पीट पीटकर मार डाला, इसके बाद खुद भी फांसी लगाकर जान दे दी। दोनों की दो साल पहले ही शादी हुई थी। पुलिस ने शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल रुद्रप्रयाग भेजा है। 

जानकारी के मुताबिक, बीते बुधवार की सुबह लगभग साढ़े सात बजे जगोठ गांव निवासी बलदेव (33), पुत्र स्व. दर्शन लाल की अपनी पत्नी ज्योति उर्फ सोनाली (20) से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। पत्नी को कमरे में ले जाकर बलदेव ने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया।
 

दोनों के बीच झगड़ा होता रहा, जिसे लोगों ने भी सुना। कुछ समय बाद बलदेव की मां घर लौटीं। उन्होंने बेटे-बहू को आवाज दी तो कोई जवाब नहीं मिला। जब बहुत देर तक खटखटाने पर भी बेटे-बहू के कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो उन्होंने पड़ोसियों को बुलाया। 
... और पढ़ें

पड़ोसी महिला को चाकू से गोदकर उतारा मौत के घाट, तीन दिन में तीन महिलाओं की हो चुकी हत्या

दो महिलाओं की हत्या के बाद मंगलवार को उत्तराखंड के रुद्रपुर की बीएसएनएल कॉलोनी में दिनदहाड़े एक युवक ने अधेड़ महिला की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी और फरार हो गया। तीन दिन के भीतर तीन महिलाओं की हत्याओं से शहर में दहशत का वातावरण है। एसएसपी बरिंदरजीत सिंह समेत पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के थाना कुंडा क्षेत्र के नवाती का पूर्वा जनवा मऊ के रहने वाले रतिभान सिंह बीएसएनल में लाइनमैन हैं। वह बीएसएनएल कॉलोनी में मकान संख्या 2/6 में परिवार के साथ रहते हैं। उनके दो बेटे दिल्ली में नौकरी करते हैं और बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है। सोमवार रात किसी काम से वह गांव गए थे।

घर में उनकी पत्नी रीता सिंह (50) और बेटी रेखा थीं। मंगलवार को रेखा सुबह स्कूल पढ़ाने के लिए चली गई। इसी दौरान दोपहर में करीब 12 बजे रतिभान सिंह का पड़ोसी राहुल ने रीता सिंह पर चाकुओं से ताबड़तोड़ हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया और फरार हो गया।
... और पढ़ें

घर के बंटवारे को लेकर बुजुर्ग मां से की मारपीट


रुद्रपुर के आवास विकास वार्ड नौ निवासी सत्या पत्नी लखविंदर सिंह ने पुलिस को सौंपी तहरीर में कहा है कि उनका बेटा और बहू घर का बंटवारा करना चाहते हैं। इसी बात को लेकर अक्सर घर में कलेश होता है।
बीती चार जुलाई की शाम को उनका बेटा उनके कमरे में घुस आया और पिता लखविंदर से मारपीट करने लगा। इसी दौरान सत्या वहां पहुंचीं तो बेटे ने घर का बंटवारा करने की बात कही। सत्या ने जब इसका विरोध किया तो बेटे ने सत्या से भी मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच बहू भी वहां पहुंचकर सास को मारने लगी, जिससे सत्या गंभीर रूप से घायल हो गई। शोर सुनकर पड़ोस के लोग एकत्र हुए तो बेटा और बहू अपने कमरे में चले गए। उन्होंने जिला अस्पताल में इलाज कराया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

पुलिस ने एक और व्यक्ति को किया गिरफ्तार

रुद्रप्रयाग। बीते दिनों मुख्यालय में सामने आए देह व्यापार के मामले में कोतवाली पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने विवेचना के दौरान उक्त आरोपी को गिरफ्तार किया है। पीड़िता की शिकायत के आधार पर कोतवाली रुद्रप्रयाग में देह व्यापार अधिनियम व पोक्सो अधिनियम में अभियोग पंजीकृत किया गया था। प्रारंभिक पूछताछ एवं विवेचना में पुलिस द्वारा तीन अभियुक्तों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि विवेचना के दौरान पीड़िता का शोषण करने के आरोप में एक और व्यक्ति प्रकाश सिंह निवासी धुएली (कमेड़ा) रुद्रप्रयाग को गिरफ्तार किया गया है। इस प्रकरण में अब तक चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। ... और पढ़ें

खैर तस्करों पर गैंगस्टर लगाने की तैयारी में पुलिस प्रशासन


रुद्रपुर में जिले में खैर की लकड़ी की तस्करी करने वालों के खिलाफ अब पुलिस प्रशासन गैंगस्टर के तहत कार्रवाई करने की तैयारी में है।
पुलिस रिकार्ड के अनुुसार बीते चार माह में पुलिस ने जिले भर में खैर तस्करी के आठ मामले पकड़े गए हैं। जिसमें 25 मार्च को गदरपुर, 12 अप्रैल को कुंडा, 12 और 13 अप्रैल को ही केलाखेड़ा, पांच जून को बाजपुर, 19 जून को भी बाजपुर, 23 जून को गदरपुर और 24 जून को रुद्रपुर में पुलिस ने भारी मात्रा में अवैध खैर की लकड़ी बरामद की। गदरपुर क्षेत्र में सबसे अधिक खैर तस्करी का काम होता है। एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने बताया कि खैर तस्करी पर रोकथाम लगाने के लिए अब खैर तस्करी में लिप्त लोगों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। तस्करों को चिह्नित करने के लिए एसओजी को विशेष लक्ष्य दिया गया है। साथ ही थानों की पुलिस से भी पुराने तस्करों की सूची मांगी गई है। वन विभाग की सहायता भी इस अभियान में ली जाएगी।
... और पढ़ें

रंपुरा में युवक पर हमला, बाइक भी तोड़ी

दराती से वार करने की दोषी महिला को 3 साल की सजा

रुद्रप्रयाग। दरांती से हमला करने के मामले में दोषी महिला को जिला अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत ने तीन साल के सश्रम कारावास और 25 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। अर्थदंड अदा न करने पर उसे छह माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। मामले की पैरवी सरकार की ओर से शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुदर्शन चौधरी ने की।
घटनाक्रम के मुताबिक 21 अक्तूबर 2017 को चौकी जखोली में गुड्डी देवी पत्नी विक्रम सिंह ने तहरीर देते हुए आरोप लगाया कि 16 अक्टूबर 2017 को वह अपनी गोशाला से घर आ रही थी, तभी प्रीति देवी ने अचानक रास्ते में आकर उस पर दरांती से प्रहार कर दिया, जिससे उसके (गुड्डी देवी) सिर पर गहरी चोट आई और बाएं हाथ की हड्डी टूट गई। मामले में आरोपी महिला को दोषमुक्त कर दिया गया था, लेकिन चोटिल महिला के परिजनों द्वारा निचली कोर्ट के फैसले के खिलाफ जिला अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत में अपील दायर कर दी गई। न्यायालय में डॉक्टर ने अपने बयानों में मेडिकल रिपोर्ट में गुड्डी देवी के सिर, हाथ और शरीर में चोट की पुष्टि की। जिला अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नंदन सिंह की अदालत ने मामले में सुनवाई के बाद प्रीति देवी को दोषी पाते हुए तीन वर्ष के सश्रम कारावास और 25 हजार रुपये के जुर्माने से भी दंडित किया। अर्थदंड न देने की स्थिति में दोषी को छह माह का अतिरिक्त सश्रम कारावास भुगतना होगा।
... और पढ़ें

गबन के आरोपियों को तीन-तीन साल की सजा

रुद्रप्रयाग। थाना ऊखीमठ क्षेत्र के साधन सहकारी समिति मिनी बैंक दैड़ा में लाखों रुपयों के गबन के मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट संजय सिंह की अदालत ने दो लोगों को तीन-तीन वर्ष के कारावास के साथ ही दो-दो हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। जुर्माना अदा न करने पर अभियुक्तों को दो माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। मामले में एक आरोपी की पहले ही विवेचना के दौरान मौत हो चुकी है।
वित्तीय वर्ष 2010-11 में मिनी बैंक दैड़ा में ऑडिट किए जाने पर भारी अनियमितता एवं गबन का मामला सामने आया था। इसके बाद जिला सहायक निबंधक की ओर से बैंक की जांच के लिए कमेटी गठित की गई। कमेटी में सहायक विकास अधिकारी युद्धवीर सिंह भंडारी एवं जिला सहकारी बैंक प्रबंधक ऊखीमठ सौ सिंह शामिल थे। कमेटी की ओर से मिनी बैंक के अभिलेखों का अध्ययन करने पर पता चला कि मिनी बैंक दैड़ा में सचिव धीरेंद्र सिंह बर्त्वाल और कर्मचारी यशवंत सिंह व दर्शन सिंह ने 29 लाख 63 हजार 334 का गबन किया है। मामले में विवेचना के दौरान तत्कालीन सचिव धीरेंद्र सिंह बर्त्वाल की पहले ही मृत्यु हो चुकी है। न्यायालय ने यशवंत सिंह व दर्शन सिंह को तीन-तीन वर्ष के कारावास और दो-दो हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। ब्यूरो
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन