विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

देहरादून: नए ट्रैफिक प्लान का ट्रायल आज, रूट चार्ट देखकर ही घर से निकलें

पुलिस के नए ट्रैफिक प्लान का ट्रायल आज (रविवार) सुबह सात बजे से होगा।

19 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रुद्र प्रयाग

रविवार, 19 जनवरी 2020

सेना दिवस: मिनी मैराथन के दस विजेताओं को किया सम्मानित

सेना दिवस के अवसर पर मिनी मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया, जिसमें विजेता रहे राहुल सिंह, नवीन रावत, साहिल सिंह, प्रमोद सिंह, अर्चना, मनीश बडोला, विकास रावत, रोहित, सोनम, कंचन आदि को मेजर ऋषभ और सीडीओ द्वारा मेडल भी प्रदान किए गए। इस मौके पर गुलाबराय मैदान में 10-जम्मू-कश्मीर लाइट इनफैंट्ररी द्वारा सैन्य शस्त्रों की प्रदर्शनी भी लगाई गई।
बुधवार को आयोजित समारोह का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी सरदार सिंह चौहान ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि हमारे जवान विषम परिस्थितियों में भी देश की सीमाओं की रक्षा के लिए तैनात हैं। यह दिन देश के प्रति समर्पण और कुर्बानी देने की प्रेरणा का पवित्र अवसर माना जाता है। इसके बाद रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड बाईपास पर मिनी मैराथन का आयोजन भी किया गया। गुलाबराय मैदान में आयोजित सैन्य शस्त्रों की प्रदर्शनी में सेना के अधिकारियों व जवानों ने लोगों को हैंड हैल्ड थर्मल इमेजर, इंसास राइफल, एके-47, स्नाइपर राइफल, ग्रीनेड लॉंचर, मोर्टार, मशीन गन के बारे में जानकारी दी गई। इस अवसर पर ओआईसी ईसीएचएस कर्नल जेपी काला, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल आरएल थापा, मेजर शिवा समेत अनूप नेगी मेमोरियल, शिशु विद्या मंदिर, बेलनी व अन्य स्कूली बच्चे, प्रशासनिक व सेना के अधिकारी तथा जवान उपस्थित थे।
... और पढ़ें

पति की नौकरी छूटने के सदमे से पत्नी की मौत

रुद्रपुर। पुराना जिला अस्पताल परिसर स्थित आवास में सोमवार मध्यरात्रि हृदयगति रुकने से स्वास्थ्य विभाग के पूर्व डीपीएम (जिला कार्यक्रम प्रबंधक) की पत्नी का निधन हो गया। परिजनों का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर कार्यरत पति की नौकरी छूटने से वह सदमे में थीं। इसी तनाव ने उनकी जान ले ली।
ऊधमसिंह नगर में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के डीपीएम रहे नीरज सक्सेना करीब 15 वर्षों से संविदा पर कार्यरत थे। गत अक्तूबर में उनकी नौकरी का नवीनीकरण नहीं हुआ। उनकी नौकरी छूटने से पत्नी आभा सक्सेना (49) तनाव में थीं और सोमवार मध्यरात्रि हृदयगति रुकने से उनकी मौत हो गई। उनके पुत्र उजाला सक्सेना और मोहित सक्सेना ने बताया कि उनके पिता की नौकरी छूटने के बाद मां काफी तनाव में थी, जिसका उन्हें सदमा लग गया था। उन्हें कोई बीमारी नहीं थी। इसी सदमे ने उनकी जान ले ली। उन्होंने कहा कि घर में पैसे की कमी नहीं थी, लेकिन पिता को नौकरी से हटाने की कार्रवाई ने उन्हें भीतर तक तोड़ दिया था।
नौकरी को लेकर कोेर्ट में याचिका डाली है पूर्व डीपीएम ने
पूर्व डीपीएम के बेटे मोहित ने कहा कि उनके पिता ने नौकरी का नवीनीकरण नहीं करने के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर कर रखी है। सोमवार रात करीब 11 बजे भोजन के बाद उनके मां-पिता ने इस पर चर्चा भी की थी। मध्यरात्रि करीब एक बजे मां को हार्टअटैक पड़ गया। उन्हें निजी अस्पतालों के बाद जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस संबंध में सीएमओ डॉ. शैलजा भट्ट ने कहा कि राज्य व जिला स्वास्थ्य कमेटी की मूल्यांकन रिपोर्ट के बाद डीपीएम पद पर नीरज सक्सेना का नवीनीकरण नहीं किया था। सीएमओ ने गमगीन परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की।
कैंची धाम मंदिर गया था दंपति
रुद्रपुर। परिजनों का कहना है कि नौकरी छूटने के बाद आभा पति के साथ कैंची धाम मंदिर भी गईं थीं, जहां दंपती ने पूजा अर्चना की थी। आभा समाज में अपने पति की प्रतिष्ठा के लिए संघर्ष कर रहीं थीं। वह कहती थीं, उनके पति बेहद ईमानदार और कर्तव्य के प्रति समर्पित हैं। वह न्यायालय में दायर याचिका के बारे में जानकारी प्राप्त करती रहतीं थीं।
स्वास्थ्य विभाग में आर्थिक असुरक्षा से जूझ रहे हैं कर्मचारी
रुद्रपुर। जिले में स्वास्थ्य विभाग में महत्वपूर्ण पदों पर अधिकारी व कर्मचारी संविदा पर कार्यरत हैं। नवीनीकरण के नाम पर हमेशा उनकी नौकरी पर तलवार लटकी रहती है। जिला स्वास्थ्य कमेटी उनके कार्यों का मूल्यांकन करती है। पिछले वर्ष संविदा पर कार्यरत कई अधिकारियों ने इस्तीफे भी दिए थे, जबकि कुछ आयुष चिकित्सकों को नौकरी से हटा दिया था। इस बार डीपीएम पद पर नीरज सक्सेना का भी नवीनीकरण नहीं हुआ था। परिजनों का कहना है कि उन्हें पूर्व डीएम ने सराहनीय कार्यों के लिए प्रशस्ति पत्र भी दिया था।
... और पढ़ें

यूएसनगर के शैक्षिक संस्थानों की एक हफ्ते में शुरु होगी जांच

रुद्रपुर। ऊधमसिंह नगर के शैक्षिक संस्थानों में एसआईटी जांच एक सप्ताह बाद शुरू हो जाएगी। इस संबंध में एसपी सिटी देवेंद्र पींचा ने समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। तय हुआ कि 19 जनवरी तक सभी छात्रों के दस्तावेज समाज कल्याण विभाग एसआईटी को दे देगा।
यूएस नगर के 215 शैक्षिक संस्थानों में एक लाख 30 हजार से अधिक छात्रों को फर्जी दाखिला दिखाकर करोड़ों की छात्रवृत्ति बांटी गई है। बाहरी राज्यों के शैक्षिक संस्थानों की जांच लगभग पूरी होने के बाद अब एसआईटी यहां अपनी जांच शुरू करने जा रही है।
मंगलवार को एसपी सिटी देवेंद्र पींचा ने समाज कल्याण अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बताया कि जिन छात्रों के नाम पर घोटाला हुआ उनकी लिस्ट जल्द सौंपी जाए, जिससे इस जांच को जल्द पूरा किया जा सके। बताया कि समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने दस्तावेज रविवार तक देने की बात कही है। दस्तावेज मिलने के बाद से ही एसआईटी मामले की जांच शुरू कर देगी। बताते चलें कि बाहरी राज्यों में दर्शाए गए 3023 छात्रों को फर्जी छात्रवृत्ति देने का खुलासा हुआ था, जिसमें जसपुर, किच्छा, कुंडा, काशीपुर के छात्र सबसे अधिक थे।
इन छात्रों को नोटिस देने के बाद लगातार सत्यापन की कार्रवाई की जा रही है। साथ ही टीम अभी तक 15 शैक्षिक संस्थानों व 18 से अधिक बिचौलियों पर मुकदमा दर्ज कर चुकी है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए जल्द दबिशें दी जाएंगी। सितारगंज के दो बिचौलियों को चार दिन पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।
... और पढ़ें

उत्तराखंडः बर्फ से लकदक हुईं वादियां, शीतलहर ने किया बेहाल, लोगों की मुश्किलें बढ़ी

snowfall snowfall

बेमौसम बारिश से मटर, लाही और गेहूं की फसल को भारी नुकसान

रुद्रपुर। तराई में लगातार दो दिन से जारी बारिश से रबी की फसलों को भारी नुकसान हुआ है। कई गांवों में बारिश का पानी खेतों में जमा होने से मटर, लाही, गेहूं की फसलें खराब हो गई हैं। मौसम वैज्ञानिकों ने शनिवार को भी जिले में बारिश की संभावना जताई है।
रुद्रपुर विकासखंड के भूरारानी, बिंदुखेड़ा, अर्जुनपुर, दानपुर, मलसी, मलसा, बिगवाड़ा, फुलुसुगी, गंगापुर, शिमला पिस्तौर, छतरपुर, धरमपुर, मटकोटा में बारिश से मटर और लाही की फसलों को बहुत नुकसान पहुंचा है। कुछ खेतों में मटर व लाही की खेती पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है। भारतीय किसान संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष ठाकुर जगदीश सिंह ने कहा कि यदि बारिश नहीं रुकी तो गेहूं की फसल को भारी नुकसान हो सकता है। किसानों को इस नुकसान की भरपाई के लिए सरकार से मुआवजे की मांग की जाएगी। बगवाड़ा निवासी विक्रमजीत सिंह ने कहा कि समतल खेतों से बारिश के पानी की निकासी नहीं होने से गेेहूं की फसल खराब हो रही है। पंतनगर कृषि विवि के मौसम वैज्ञानिक डॉ. आरके सिंह ने कहा कि यह बारिश गेहूं, जौ की फसल व आम के लिए तो फायदेमंद है, लेकिन आलू, सरसों, मटर, टमाटर के लिए नुकसानदायक है। सब्जियों में रोग लगने की आशंका बढ़ गई है।
डॉ. सिंह ने कहा कि जिले में 50 एमएम बारिश हुई। शनिवार को 18 एमएम बारिश के साथ ही कुछ स्थानों पर ओले पड़ने की संभावना है। इसके बाद शीतलहर के साथ कड़ाके की ठंड रहेगी। रविवार को न्यनूतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस पहुंच सकता है। मुख्य उद्यान अधिकारी हरीश तिवारी ने कहा कि जसपुर, काशीपुर, सितारगंज व रुद्रपुर में कई गांवों में मटर की खेती को नुकसान पहुंचा है। हालांकि किसानों ने अभी नुकसान की शिकायत नहीं की है।
ऊधमसिंह नगर में बारिश से गेहूं और लाही की फसलों को हुए नुकसान का सर्वे कराया जा रहा है। इसके आधार पर किसानों को मुआवजा दिया जाएगा। - डॉ. अभय सक्सेना, मुख्य कृषि अधिकारी
रुद्रपुर बाजार में विशालकाय पेड़ गिरा
रुद्रपुर। रुद्रपुर मुख्य बाजार में आंबेडकर पार्क के पास शुक्रवार को बारिश के चलते पेड़ गिर गया। इससे व्यापारियों में अफरातफरी मच गई और मार्ग अवरुद्ध हो गया। इस कारण बाटा चौक के सामने से मुख्य बाजार के लिए रास्ता बाधित हो गया।
बेमौसमी बारिश से रुद्रपुर बाजार में कीचड़ ही कीचड़
रुद्रपुर। बेमौसम बारिश से शुक्रवार को रुद्रपुर बाजार में सड़कें कीचड़ से सराबोर रहीं। रुद्रपुर के मुख्य बाजार समेत वीर हकीकत मार्ग, सिब्बल सिनेमा मार्ग, पुरानी इलाहाबाद गली आदि जगहों पर नगर निगम की ओर से नाली निर्माण करवाया जा रहा है। बृहस्पतिवार रात से शुरू हुई बारिश शुक्रवार अपराह्न तक जारी रहने के कारण नालियों से निकाली गई मिट्टी के ढेर सड़कों पर बिखर गए, जिससे सड़कें कीचड़ से लबालब हो गईं। सिब्बल सिनेमा मार्ग पर कई पैदल और बाइक सवार कीचड़ पर रपट गए। कुछ स्थानों पर नालियों का पानी बेसमेंट में घुस गया, जिसे इंजन से निकाला गया।
मेयर रामपाल सिंह ने कहा कि कीचड़ की समस्या की शिकायतें उनके पास सुबह से आ रही हैं। इस पर ठेकेदार को नालियों के किनारे पड़ी मिट्टी को हटाने को कहा गया है। ब्यूरो
बारिश ने उड़ाई बिजली, परेशान उपभोक्ता
खटीमा। ऊर्जा निगम के एई पवन उप्रेती ने बताया कि शुक्रवार सुबह 10:30 बजे पहेनिया फीडर की लाइन में सुबह फाल्ट आया। इससे पहेनिया, सैजना, बिरिया मझोला, भूड़ा किशनी, कुमराह, महोनिया आदि गांवों में बिजली आपूर्ति ठप हुई। दोपहर मरम्मत के बाद आपूर्ति सुचारु हो सकी, जबकि टनकपुर रोड पर रोडवेज के आसपास के क्षेत्र में भी फाल्ट से बिजली बाधित रही।
चनकपुर विद्यालय में जलभराव, बच्चे परेशान
बाजपुर। बारिश और शीतलहर से जनजीवन प्रभावित रहा। गांव चनकपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय परिसर में जलभराव से बच्चों को दिक्कत का सामना करना पड़ा। इसके अलावा कच्चे मार्गों पर लोगों का चलना मुश्किल हो गया। शुक्रवार को शाम चार बजे तक बूंदाबांदी से दिनभर सूर्य देवता के दर्शन नहीं हुए। इधर कनिष्ठ उपप्रमुख तेजेंद्र सिंह ने बताया कि बीडीसी की बैठक में चनकपुर स्कूल परिसर में मिट्टी भरान करने का प्रस्ताव रखा जाएगा।
... और पढ़ें

कांग्रेसी पार्षद का अपहरण, 20 लाख की फिरौती मांगी

रुद्रपुर। दो दिन पहले घर में दुकान का किराया वसूलने की बात कहकर निकले कांग्रेसी पार्षद अमित मिश्रा का अपहरण हो गया है। अज्ञात बदमाशों ने पार्षद को जिंदा छोड़ने के एवज में परिजनों को कॉल कर 20 लाख रुपये की फिरौती मांगी है। तहरीर पर पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कर पार्षद की तलाश शुरू कर दी है। जिले की एसओजी समेत पुलिस की कई टीमें बदमाशों की तलाश में दबिश दे रहीं हैं। प्रापर्टी के विवाद को पुलिस अपहरण की वजह मान रही है।
प्रीत विहार रुद्रपुर निवासी अमित मिश्रा वार्ड 21 से कांग्रेसी पार्षद हैं। बीते बुधवार की शाम वह परिजनों से दुकानों का किराया वसूलने की बात कहकर निकले थे लेकिन देर रात तक घर नहीं पहुंचे। शुक्रवार को उनकी मां सविता मिश्रा पत्नी स्व. संतोष कुमार ने कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि उनका बेटा स्कूटी से गया था। देर शाम बेटे का किसी अन्य नंबर से फोन आया और उसने अपना मोबाइल स्विच ऑफ होने की बात कही।
इसके बाद न तो बेटा घर आया ना ही उसका मोबाइल नंबर मिल रहा है। देर रात उनके मोबाइल फोन पर 9557670102 नंबर से कॉल आया, जिसने उनके बेटे का अपहरण करने की बात कहकर उसे छोड़ने की एवज में 20 लाख रुपये की फिरौती मांगी है। सविता मिश्रा ने बताया दोबारा उस नंबर पर बात नहीं हो पाई। उन्होंने बेटे के साथ अनहोनी की आशंका जताते हुए पुलिस से उसे सुरक्षित बरामद करने की मांग की है। कोतवाल केसी भट्ट ने बताया कि पार्षद की मां की तहरीर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पार्षद की तलाश की जा रही है।
बदमाशों के करीब पहुंची पुलिस
रुद्रपुर। पार्षद के अपहरण की सूचना ने पुलिस के होश उड़ा दिए हैं। उच्चाधिकारियों से लेकर सभी थाना, चौकी प्रभारी बदमाशों की तलाश में जुट गए हैं। एसओजी की कई टीमें अलग-अलग स्थानों पर दबिश देकर पार्षद की खोज में लगीं हैं। सूत्रों के अनुसार पुलिस अपहर्ताओं के करीब पहुंच गई है। इसमें स्थानीय युवक के शामिल होने का भी अंदेशा है।
परिजनों से मिलने पहुंचे पूर्व मंत्री बेहड़
रुद्रपुर। पार्षद के अपहरण की सूचना पर पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ उसके परिजनों से मिले। उन्होंने बताया कि पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं, शहर के अन्य पार्षदों ने पुलिस से लापता अमित मिश्रा को सकुशल बरामद करने की मांग की है। परिजनों को लापता अमित के घर नहीं आने पर अनहोनी का डर सता रहा है।
... और पढ़ें

तप्तकुंड में निर्माण कार्य का विरोध

केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव गौरीकुंड में मंदाकिनी नदी किनारे स्थित तप्तकुंड के हक-हकूकधारियों, ब्राह्मणों, निजी भूमि स्वामियों ने सरकार व प्रशासन पर उपेक्षा का आरोप लगाया है। कहा कि बिना उनकी अनुमति के तप्तकुंड में निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं। प्रभावितों ने इस संबंध में जिलाधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा है।
हक-हकूकधारियों का कहना है कि तप्तकुंड के चारों तरफ 210 निजी भूमि है, जो रविग्राम के ग्रामीणों, केदारनाथ मंदिर के पुरोहितों व अन्य हक-हकूकधारियों की है। कहा कि आपदा से पूर्व यहां जमलोकी परिवारों की लगभग 600 वर्ग की जमीन तप्तकुंड के चारों तरफ थी। प्राचीन काल से वह कुंड में पूजा-अर्चना करते आ रहे थे, लेकिन आपदा के बाद से उनके सामने आर्थिक संकट बना हुआ है। बीते पांच वर्षों से शासन, प्रशासन को अवगत कराने के बाद भी उनकी सुध नहीं ली गई है। कहा कि एक तरफ केदारनाथ व सोनप्रयाग में आपदा प्रभावितों को दुकान व मकान बनाकर दिए गए, लेकिन तप्तकुंड के हक-हकूकधारियों की अनदेखी की गई है। उन्होंने अन्य प्रभावितों की तर्ज पर उन्हें भी आवास व दुकान बनाने की मांग की है। ज्ञापन में पूर्व प्रधान रामेश्वर जमलोकी, पूर्व क्षेपंस संजय जमलोकी, पंडित अतुल जमलोकी, अशोक जमलोकी, अरविंद जमलोकी आदि के हस्ताक्षर हैं। इधर, डीएम घिल्डियाल ने बताया कि मामले के बारे में जानकारी अर्जित की जा रही है। नियमों के तहत प्रभावितों के हितों का पूरा ध्यान रखा जाएगा। (संवाद)
... और पढ़ें

तुंगनाथ की डोली पहुंची सारी गांव

तृतीय केदार तुंगनाथ की दिवारा यात्रा रात्रि प्रवास के लिए सारी पहुंच गई है। जहां पर ग्रामीणों ने आराध्य देवता का भव्य स्वागत कर अर्घ्य लगाया। इस मौके पर ध्याणियों व भक्तों ने पूजा-अर्चना कर सुख-समृद्धि की मनौतियां मांगी।
रिमझिम बारिश में भी पंचपुरोहितों द्वारा आराध्य देवता की विशेष पूजा-अर्चना की गई। महाभिषेक, रुद्राभिषेक और आरती के बाद भोग लगाया गया। ग्रामीणों ने देवता के दर्शन कर पूजा-अर्चना करते श्रृंगार व भेंट अर्पित की। इसके बाद तृतीय केदार ने गांव के घर-घर का भ्रमण करते हुए ध्याणियों व भक्तों की कुलशक्षेम पूछते हुए आशीर्वाद दिया। दोपहर बाद, आराध्य गांव से विदा लेते हुए मस्तूरा, खरबासा, पापड़ी का भ्रमण करते हुए रात्रि प्रवास के लिए पर्यटक ग्राम सारी पहुंचे। जहां पर पंचायती चौक में आराध्य की पूजा-अर्चना के साथ पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ स्वागत किया गया। मठापति राम प्रसाद मैठाणी ने बताया कि देवता की डोली दो दिन तक गांव में विश्राम करेगी। इसके बाद क्षेत्र के अन्य गूठ गांवों का भ्रमण करेगी। इस मौके पर ग्राम प्रधान योगेंद्र सिंह नेगी, सरपंच जगदीश नेगी, राकेश नेगी, महावीर नेगी, सुखवीर नेगी, मुकेश नेगी, गिरीश नेगी, प्रवीन नेगी, अर्जुन नेगी, जगत सिंह नेगी आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

फायर सीजन में मातृशक्ति के सहयोग से बचेंगे जंगल

वनों की सुरक्षा और संवर्धन में गांव के महिला मंगल दल अहम भूमिका निभाएंगे। इसके लिए वन विभाग ने महिलाओं को प्रशिक्षण भी दिया है। साथ ही उन्हें वनाग्नि बुझाने समेत अन्य कार्यों के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है। इसके लिए विभाग द्वारा उन्हें प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। बेहतर कार्य पर, उन्हें पुरस्कृत भी किया जाएगा।
रुद्रप्रयाग वन प्रभाग द्वारा मयाली में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि जल, जंगल और जमीन के संरक्षण में महिलाएं अहम भूमिका निभा रही है। अब, वन विभाग द्वारा वनों की सुरक्षा व संवर्धन में महिलाओं का सहयोग बेहतरीन पहल है। कहा कि इस व्यवस्था से जहां वनों का विकास होगा। वहीं, कई परिवारों की आर्थिकी को भी बल मिलेगा। कहा कि बीते दस वर्षों तक गांवों में परंपररा थी कि वनों में आग लगने पर सभी ग्रामीण आग बुझाने जाते थे। अब, एक बार फिर मातृ शक्ति के सहयोग से वनों को आग से बचाने के साथ वनों के विकास में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि फायर सीजन में बेहतर कार्य करने वाले महिला मंगल दलों को विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर डीएफओ वैभव कुमार ने कहा कि प्रभाग की सभी सात रेंजों में महिला मंगल दलों के माध्यम से वनीकरण के अनुरक्षण का कार्य कराया जा रहा है। इसके लिए ममंद को लगभग सात सौ रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मानदेय भी दिया जाएगा। मौके पर पर्यावरणविद् जगत सिंह जंगली व राजेंद्र गोस्वामी ने कहा कि वनों का संरक्षण बिना जन सहभागिता के नहीं हो सकता है। बैठक में उप जिलाधिकारी एनएस नगन्याल, एसडीओ महिपाल सिंह सिरोही, तहसीलदार शालिनी मौर्य समेत अन्य अधिकारी-कर्मचारियों समेत महिला मंगल दल के सदस्य मौजूद थे।
... और पढ़ें

फिर बर्फ के आगोश में समाए देवभूमि के 650 से ज्यादा गांव, कई जगह रास्ते बंद, तस्वीरें...

उत्तराखंड: भारी बर्फबारी से फिर बढ़ी ठंड, धनोल्टी जाने पर रोक, दो जिलों में बंद रहेंगे स्कूल

प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में शुक्रवार को भी मौसम खराब रहा। पर्वतीय क्षेत्रों में बृहस्पतिवार देर रात से शुरू हुआ बारिश और बर्फबारी का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा। भारी बर्फबारी के चलते सैकड़ों गांव फिर अलग-थलग पड़ गए हैं। मौसम के बिगड़े मिजाज को देखते हुए रुद्रप्रयाग और चमोली जिले में शनिवार को कक्षा एक से 12वीं तक के समस्त सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। आंगनबाड़ी केंद्र भी बंद रहेंगे। 

चमोली जिले में बदरीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब के साथ ही करीब 85 गांव बर्फ में कैद हो गए हैं। बदरीनाथ हाईवे हनुमान चट्टी से आगे पुन: अवरुद्घ हो गया है, जबकि मलारी हाईवे भी सुरांईथोटा से आगे बर्फ जमने से बंद हो गया है। उत्तरकाशी जिले की निचली घाटियों में बारिश और यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम समेत ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी से सीमांत जिला फिर शीतलहर की चपेट में है।

समुद्र सतह से दो हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में फिर से बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। रुद्रप्रयाग जिले में केदारनाथ धाम समेत मद्महेश्वर, तुंगनाथ, चोपता आदि क्षेत्रों में भारी बर्फबारी हुई है। जनपद में पचास से अधिक गांव फिर से बर्फ के आगोश में आ गए हैं। केदारनाथ धाम में बीते 24 घंटों में लगभग चार फीट नई बर्फ जम चुकी है। यहां पहले से काफी बर्फ मौजूद है। मंदिर परिसर, मंदिर मार्ग समेत सभी निर्माण स्थल बर्फ से लकदक बने हुए हैं। जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग का धाम से संपर्क कटा हुआ है। साथ ही पुनर्निर्माण कार्य भी ठप पड़े हुए हैं। 
... और पढ़ें

एसआईटी 12 नए शैक्षिक संस्थानों पर दर्ज कराएगी केस

रुद्रपुर। पहली बार एसआईटी बाहरी राज्यों के एक दर्जन कॉलेजों में एक साथ मुकदमा दर्ज कराएगी। छात्रों के दस्तावेजों के भौतिक सत्यापन के बाद 12 शैक्षिक संस्थानों में गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। संस्थानों के नामों की लिस्ट तैयार कर केस दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। अब तक 15 संस्थानों और 30 बिचौलियों पर एसआईटी मुकदमा दर्ज करा चुकी है। हाल ही में सितारंगज के संजय और संजय सिंह समेत आठ बिचौलियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।
वर्ष 2011-12 में एसटी, एससी एवं ओबीसी छात्रों को मनमाने ढंग से छात्रवृत्ति बांटने का खेल शुरू हुआ। आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने के लिए एसआईटी का गठन किया गया। एसआईटी की जांच के बाद राज्य के बाहरी कालेजों में करोड़ों का घोटाला सामने आया। ऊधमसिंह नगर के तीन हजार से अधिक छात्रों को बाहरी राज्यों के शैक्षिक संस्थानों में प्रवेश दिखाकर छात्रवृत्ति बांट दी गई। छात्रों के दस्तावेजों के भौतिक सत्यापन में 2500 से अधिक छात्रों के नाम फर्जीवाड़ा पकड़ में आया।
एसआईटी ने अभी तक 1500 से अधिक छात्रों के दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन किया है। इसमें जसपुर, किच्छा, कुंडा और सितारंगज के अधिकांश छात्रों के नाम पर गलत तरीके से छात्रवृत्ति लिए जाने का मामला सामने आया है। एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा ने कहा कि अब तक बाहरी राज्यों के 15 शैक्षिक संस्थानों के खिलाफ जिले के अलग-अलग थानों में केस दर्ज किया जा चुका है। इसके साथ ही 30 बिचौलियों को चिन्हित कर केस दर्ज किया गया है। इसमें आठ को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने कहा कि एसआईटी जांच में बाहरी राज्यों के एक दर्जन संस्थानों में फिर से घोटाला सामने आया है। जल्द इन संस्थानों के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।
इन 30 बिचौलियों पर दर्ज हैं मुकदमे
रुद्रपुर। दिग्विजय सिंह, उदयराज सिंह, धीरेंद्र, राजेंद्र, अंकित अग्रवाल, इरशाद, प्रेम प्रकाश मौर्य, प्रदीप कुमार, महेश कुमार, संजय, संजय सिंह, महिपाल, कमलजीत सिंह, पावेश, सत्येंद्र कुमार, प्रमोद सैनी, चंद्रप्रकाश, जगरूप सिंह, पवन कुमार, तेजपाल सिंह, मनोज कुमार, अनुज कुमार, दिलीप, अंकित, बसंत, प्रिंस राणा, रंजीत, सोनू वाल्मीकि, जगरूप और धर्मेंद्र सैनी।
एसआईटी ने दर्ज किए छात्र-छात्राओं के बयान
जसपुर। छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआईटी की टीम बृहस्पतिवार को जसपुर कोतवाली पहुंची। टीम ने करीब कई छात्र-छात्राओं के बयान दर्ज किए। वहीं, पुलिस टीम को करीब तीस छात्र-छात्राओं के नाम पते गलत मिले। वह तस्दीक नहीं हो सके।
बृहस्पतिवार को एसआईटी प्रभारी भीम भास्कर आर्य उनके सहयोगी निरीक्षक नित्यानंद पंत, विपिन शर्मा जसपुर कोतवाली पहुंचे। वहां पर उनके द्वारा बुलाये गए करीब बीस छात्र-छात्राओं के बयान दर्ज किए गए। बीबी आर्य ने बताया कि अधिकांश लोगों ने बिचौलियों पर आरोप लगाया है। बताया कि उनके दस्तावेज लेकर उनके विभिन्न ट्रेड में फर्जी दाखिले दिखाए हैं। छात्रवृत्ति को हड़प कर सरकार को चूना लगाया गया है। बताया कि छात्र छात्राओें के सत्यापन के लिए कई वार्डों के सभासद, ग्राम प्रधान, बीडीसी सदस्यों का भी सहयोग लिया गया है। कोतवाल उमेद सिंह दानू ने बताया कि एसआईटी द्वारा दी गई छात्र छात्राओं की सूची में दर्ज करीब तीस लोगों के नाम पते गलत हैं। उनकी तस्दीक नहीं हो पाई है। बताया कि पुलिस कमिर्यों ने प्रत्येक गांव जाकर उनके नाम पते ग्रामीणों से पूछे। लेकिन ग्रामीणों ने इन छात्र-छात्राओं का गांव निवासी न होना बताया है।
... और पढ़ें

20 जनवरी से पंतनगर एयरपोर्ट में विजिटर्स पर रोक

पंतनगर। गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा की दृष्टि से देश के कई संस्थानों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। इसी क्रम में 10 जनवरी से पंतनगर एयरपोर्ट को हाई अलर्ट पर रखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। साथ ही एयरपोर्ट में 20 जनवरी से अग्रिम आदेशों तक विजिटर्स के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।
नेपाल और चीन सीमा से लगे होने के कारण पंतनगर एयरपोर्ट संवेदनशील माना जाता है। इसके चलते एयरपोर्ट परिसर को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सुरक्षा के दृष्टिगत 10 जनवरी से एयरपोर्ट में यात्रियों को त्रिस्तरीय सुरक्षा प्रणाली से गुजरना पड़ रहा है। वहीं, अब 20 जनवरी से परिसर में किसी भी विजिटर पर अगले आदेशों तक रोक लगा दी गई है। एयरपोर्ट में आने वाले वाहनों को थ्री लेयर चेकिंग सिस्टम से गुजरना पड़ रहा है। साथ ही यात्रियों को भी एयरपोर्ट के मुख्य द्वार से प्लेन में बोर्डिंग तक त्रिस्तरीय चैकिंग से गुजरना पड़ रहा है। एयरपोर्ट की सुरक्षा में अब तक उत्तराखंड के 32 जवानों को लगाया गया था लेकिन 26 जनवरी को देखते हुए एयरपोर्ट की सुरक्षा में उत्तराखंड पुलिस के 64 जवानों को दिन रात तैनात किया गया है। एयरपोर्ट डायरेक्टर एसके सिंह ने कहा कि 26 जनवरी को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है। संवाद
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us