एक साल बाद भी नहीं हो सका रिंकू हत्या कांड का खुलासा

Haldwani Bureau Updated Fri, 08 Dec 2017 02:17 AM IST
रामनगर (नैनीताल)। सालभर बाद भी रिंकू हत्याकांड का खुलासा नहीं हो सका है। इससे आक्रोशित वाल्मीकि समाज ने बृहस्पतिवार को एसडीएम परितोष वर्मा को ज्ञापन सौंपकर खुलासे की मांग की।
बृजेश उर्फ रिंकू के परिजनों समेत वाल्मीकि समाज ने बृहस्पतिवार को काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। वह जुलूस के रूप में सीओ और एसडीएम कार्यालय पहुंचे। वहां उन्होंने एसडीएम परितोष वर्मा को ज्ञापन सौंपा। बताया कि चार दिसंबर 2016 को बेरहमी से पत्थरों से सिर कूचकर मोहल्ला खताड़ी निवासी बृजेश उर्फ रिंकू की हत्या हुई। अगले दिन उसका शव रेलवे क्रॉसिंग के पास झाड़ियों में मिला था। उसके पिता रतन लाल ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसके बावजूद आरोपी नहीं पकड़े गए। न तो कोई प्रशासनिक अधिकारी उसके घर पहुंचा और न ही परिजनों को आर्थिक मदद मिली। इससे वाल्मीकि समाज में रोष व्याप्त है। जॉन मसीह ने प्रशासन की लापरवाही, कार्यप्रणाली की निंदा की। एसडीएम वर्मा का कहना है कि पुलिस प्रशासन के नजरों में समाज के सभी वर्ग समान हैं। जल्द ही बैठक कर उचित कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान विकास लाल, रोहित, वरुण, राजीव शर्मा, सुशील, शुभम उत्तम, लक्की आदि थे।

Spotlight

Most Read

Meerut

मेडिकल में भाजपाइयों का हंगामा

मेडिकल में भाजपाइयों का हंगामा

25 फरवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen