भाकियू का एक्सईएन दफ्तर पर हंमागा

अमर उजाला ब्यूरो/ मुजफ्फरनगर Updated Sat, 14 Jan 2017 12:09 AM IST
Power Corporation office
एक्सईएन कार्यालय में हंगामा करते भाकियू कार्यकर्ता। - फोटो : अमर उजाला
खतौली में भाकियू कार्यकर्ताओं ने जर्जर तारों को बदलवाने समेत कई समस्याओं को लेकर एक्सईएन कार्यालय पर प्रदर्शन कर हंगामा किया। एसई, एक्सईएन, एसडीओ का घेराव कर नारेबाजी की।    
भाकियू नगर अध्यक्ष मनोज सहरावत के नेतृत्व में कार्यकर्ता एक्सईएन कार्यालय पर पहुंचे। इस दौरान एमडी कार्यालय से आए एसई एसके बंसल, एक्सईएन अमित कुमार, एसडीओ टाउन मनोज कुमार और देहात एसडीओ के साथ बैठक कर राजस्व वसूली की समीक्षा कर रहे थे। भाकियू कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए कार्यालय में घुस गए। उनका कहना था कि तिगाई, रायपुर नंगली, दाहौड़ आदि गांव में जर्जर तार नहीं बदवाए गए, जिस कारण किसानों की फसलें बर्बाद हो रही हैं। उन्हें मुआवजा भी नहीं मिल सका है। 

रायपुर नंगली में दलित महिला के नाम एक लाख रुपये का फर्जी बिल है। जबकि उसके नाम कोई नलकूप का कनेक्शन ही नहीं है। इन मांगों को लेकर कई बार भाकियू प्रदर्शन कर चुकी है। अधिकारियों ने शीघ्र समस्या का समाधान कराने का आश्वासन देकर कार्यकर्ताओं को शांत किया। उधर, जिलाध्यक्ष राजू अहलावत ने चेतावनी दी कि किसान नलकूप का बिल प्रति माह नहीं एक वर्ष में जमा कराएगा। किसान पर दबाव बनाया गया तो अधिकारियों के कार्यालय की तालाबंदी की जाएगी। इस दौरान बिट्टू, अमित राजपूत, हर्ष सोम, सीटू, सचिन, रविंद्र, आशीष, हिमांशु, गुड्डू, राजेंद्र, ललित त्यागी, हरिओम आदि शामिल रहे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

हिंदी न अंग्रेजी, इस भाषा में छपवाया शादी का कार्ड, रस्में भी परंपरागत

संस्कृत से दूर भागती युवा पीढ़ी को समस्त भाषाओं की जननी संस्कृत का महत्व समझाने का बीड़ा मेरठ शहर के युगल ने उठाया है।

16 फरवरी 2018

Related Videos

कड़ी सुरक्षा के बीच मुजफ्फरनगर में हटाई गई सड़क पर आने वाली मस्जिद

गुरुवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मुजफ्फरनगर में मस्जिद हटाई गई। जिले के मंसूरपुर में रेलवे क्रासिंग पर बन रहे फ्लाई ओवर के नीचे आ रही थी मस्जिद। पुल का निर्माण NH-58 बनने के समय से ही रुका था। पुल अधूरा होने की वजह से सैंकड़ों दुर्घटनाएं हो चुकी है ।

16 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen