संपति के मालिकाना हक को लेकर और होगी एफआईआर

Meerut Bureau Updated Wed, 15 Nov 2017 02:30 AM IST
मेरठ। छावनी क्षेत्र में संपत्ति पर मालिकाना हक को लेकर जारी किए गए नोटिसों का जवाब नहीं देने वालों के खिलाफ कैंट बोर्ड एफआईआर दर्ज कराएगा। इस सिलसिले में आठ बैंक प्रबंधकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हो चुकी है। कुछ व्यापारियों के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी है। इन्होंने नोटिस के जवाब नहीं दिए हैं। कुछ के जवाब तर्कसंगत नहीं हैं। संपत्तियों की कुंडली खंगाली जा रही है। ओल्ड ग्रांट की कई संपत्ति ऐसी मिली हैं जिनकी खरीद फरोख्त अवैध ढंग से हुई है।
पिछले दिनों एस्टेट ऑफिसर की ओर से पीपी एक्ट के तहत सदर बाजार, आबूलेन और बांबे बाजार आदि क्षेत्रों में संपत्ति पर काबिज लोगों को नोटिस जारी कर उनसे मालिकाना हक के बारे में पूछा गया था। इनमें से कुछ ने जवाब दिए तो कुछ ने नोटिस का जवाब नहीं दिया। कई ने तो नोटिस स्वीकार ही नहीं किया। एस्टेट ऑफिसर राजीव श्रीवास्तव की ओर से इस सिलसिले में कार्रवाई शुरू हो गई है। सोमवार को आठ बैंक प्रबंधकों के खिलाफ लोकसेवक को सूचना नहीं देने रिपोर्ट दर्ज कराई गई।
कहा कि कैंट बोर्ड आरबीआई को भी इस बारे में पत्र लिखेगा। वर्षों से बिना मालिकाना हक के संपत्ति पर बैंक ऑपरेट करना कई को भारी पड़ने जा रहा है। कुछ व्यापारी भी इस जद में हैं। उन्होंने नोटिस का जवाब नहीं दिया है। अगले चरण में उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी है। कुछ ने कोर्ट जाने की तैयारी कर ली है। उनका कहना है कैंट बोर्ड के पास संपत्ति की जानकारी है। ओल्ड ग्रांट की कई संपत्ति बिना कैंट बोर्ड की मंजूरी की खरीदी और बेची गई। बेचने वाला तो चला गया, अब खरीदने वाला फंसा है। उसके पास वैध कागजात नहीं है।
- आठ बैंक प्रबंधकों के खिलाफ हो चुकी एफआईआर, अब व्यापारी निशाने पर

Spotlight

Most Read

Kanpur

शामतक शादी करने की मोहलत मांग युवती काे ले गया घर, फिर इस हाल में मिली..

यूपी के बांदा में पड़ोसी युवती को अपने घर लिवा ले जाने के बाद शादी से इनकार करने पर क्षुब्ध युवती ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने आरोपी युवक के विरुद्ध आईपीसी की धारा 306 की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। 

20 फरवरी 2018

Related Videos

मेरठ में 12वीं के छात्र ने 10वीं की छात्रा पर एसिड फेंकने की दी धमकी

मेरठ में मनचलों की हरकतों से परेशान दसवीं की छात्रा का पहले स्कूल छूटा और अब 10वीं बोर्ड की तैयारी न होने कि वजह से परीक्षा छूटने की नौबत आ गई है। पीड़ित छात्रा के घरवालों ने थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

20 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen