Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Meerut ›   Baba Ramdev from asked funny questions on Facebook Live in meerut

बाबा रामदेव से फेसबुक Live पर पूछे गए मजेदार सवाल, हंसते- हंसते दिए जवाब

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Published by: कपिल kapil Updated Mon, 24 Dec 2018 09:15 PM IST
बाबा रामदेव
बाबा रामदेव - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

अमर उजाला कार्यालय में आयोजित ‘संवाद’ में योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि देश की जनता किसी भी राजनीतिक दल की बपौती या बंधक नहीं है। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर के सवाल पर कहा कि अब नहीं बना तो कभी नहीं बनेगा। दिलचस्प बात यह है कि उन्होंने फेसबुक लाइव पर पूछे गए सवालों के जवाब भी हंसते- हंसते दिए।

विज्ञापन

बाबा रामदेव
बाबा रामदेव - फोटो : अमर उजाला
1. बाबा रामदेव से पहला सवाल पूछा गया कि आपके प्रोडेक्ट पहले से अब महंगे हो रहे हैं? 
 बाबा रावदेव ने जवाब में कहा लोग पतंजलि के बारे में अफवाह फैला रहे हैं, जबकि अन्य कंपनियों के मुकाबले हमारे प्रोडक्ट आधी कीमत में आसानी से मिल जाते हैं।

बाबा रामदेव
बाबा रामदेव - फोटो : अमर उजाला
2. क्या आप आईफोन रखते हैं ?
बाबा अपने साथ गेरुए रंग का झोला लेकर चलते हैं। इसमें स्मार्टफोन और डायरी होती है। बाबा कहते हैं कि ये झोला ही मेरा ऑफिस है। इसमें सस्ता फोन रखता हूं। अब हम तो फोन बनाते नहीं, जिस कंपनी का भी रखते हैं उसकी ब्रांडिंग होती है। पहले चाइनीज फोन रखते थे, अब अपनी ही देश की कंपनी का है। ये कोई 4-5 हजार रुपये कीमत का है। इसमें कोई चक्करबाजी नहीं है।

बाबा रामदेव
बाबा रामदेव - फोटो : अमर उजाला
3. फेसबुक लाइव पर सवाल आया- बाबा जी आपके अनुसार, हनुमान जी की क्या जाति?
हनुमान की जाति पर आ रहे बयानों पर बाबा रामदेव ने कहा कि हनुमानजी हमारे पूर्वज थे। पूर्वजों को किसी जाति में नहीं ढालना चाहिए। हनुमानजी जिस समय थे उस समय कोई जाति या वर्ण व्यवस्था नहीं थी।

बाबा रामदेव
बाबा रामदेव - फोटो : अमर उजाला
4. 2014 के चुनाव से पहले आपने काले धन को लेकर आंदोलन किया था। क्या आप मानते हैं कि इन साढ़े चार साल में काला धन आया?
देखो सरकार ने काले धन पर कार्रवाई तो की है। ये सही है कि बाहर से जितना काला धन आना था, उतना नहीं आया। लेकिन देश के अंदर वाला एक बार आया, फिर वो वापस। पहले काले से सफेद और फिर सफेद से काला। ये सर्किल टूटना चाहिए था। जैसे करेंसी वापस ली थी तो बड़े नोट नहीं छापने चाहिए थे।

बाबा रामदेव
बाबा रामदेव - फोटो : अमर उजाला
5. बाबा रामदेव से पूछा गया कि योगीजी से कितनी अपेक्षाएं?
अच्छी बात है कि आजादी के बाद देश के सबसे बड़े सूबे का मुख्यमंत्री कोई योगी बनता है। योगियों के लिए यह फक्र की बात है। योगीजी से बहुत अपेक्षाएं हैं। हम आशा और विश्वास रखते हैं कि वो हर अपेक्षा पर खरे उतरेंगे। योगीजी के हाथ किसी ने नहीं बांधे हैं। औद्योगिक क्षेत्र में प्रदेश लगातार विकास कर रहा है।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00