लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Etawah ›   Bundelkhand Expressway now submerged in Banda and Etawah, cracks appeared

Bundelkhand Expressway: बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे अब बांदा और इटावा में भी धंसा, आईं दरारें

संवाद न्यूज एजेंसी, ताखा (इटावा) Published by: अनुराग सक्सेना Updated Fri, 22 Jul 2022 11:31 PM IST
सार

इटावा में गुरुवार की रात हुई तेज बारिश के बाद बेलाहार से कुदरैल तक एक्सप्रेसवे के लगभग आठ किलोमीटर क्षेत्र में मिट्टी कटान से छह जगह सड़क धंस गई है। कार्यदायी संस्था दिलीप बिल्डकान कंपनी ने इतने क्षेत्र में आवागमन बंद करा दिया है। कर्मचारी एक्सप्रेस-वे दुरुस्त करने में लगे हैं।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर आई दरार
बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर आई दरार - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे लोकार्पण के छठवें दिन शुक्रवार को बांदा और इटावा में भी धंस गया। इटावा में चित्रकूट से आने वाली लेन पर किलोमीटर संख्या 288 से 296 के बीच छह स्थानों पर सड़क के किनारे बारिश में बहे मिले। वहीं, बांदा में मवई से हथौड़ा तक करीब 12 किलोमीटर दूरी में दोनों लेन पर 10 जगह किनारे की मिट्टी बहने से एक्सप्रेस-वे धंस गया। सड़क और पुल पर आठ से 10 जगह दरारें भी आ गईं।



एक्सप्रेस-वे पर दरार आने और सड़क धंसने की सूचना पर उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अॅथारिटी (यूपीडा) के अधिकारियों ने इन क्षेत्रों में आवागमन बंद कराकर मरम्मत शुरू करा दी है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चित्रकूट से शुरू होकर इटावा के कुदरैल के पास आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से जोड़ा गया है। इटावा में गुरुवार की रात हुई तेज बारिश के बाद बेलाहार से कुदरैल तक एक्सप्रेसवे के लगभग आठ किलोमीटर क्षेत्र में मिट्टी कटान से छह जगह सड़क धंस गई है।


कार्यदायी संस्था दिलीप बिल्डकान कंपनी ने इतने क्षेत्र में आवागमन बंद करा दिया है। कर्मचारी एक्सप्रेस-वे दुरुस्त करने में लगे हैं। समय पर अधिकारियों को जानकारी होने से कोई हादसा नहीं हो पाया। दिलीप बिल्डिकान के किलोमीटर संख्या 280 से 296 तक के इंचार्ज सुजीत राय ने बताया कि बारिश से मिट्टी का कटान हो रहा है। इसे ठीक कराया जाएगा।

यूपीडा के एई महावीर सिंह ने बताया कि जहां पर भी सड़क धंस रही है, वहां ट्रैफिक रोककर मरम्मत कराई जा रही है। बांदा में मिट्टी दोनों लेन पर धंसी है। यहां एक्सप्रेस-वे को ज्यादा नुकसान हुआ है। कटान इस तरह का है कि सड़क के नीचे की मिट्टी खाली हो गई है जबकि ऊपर से कंक्रीट और डामर की लेप दिख रही है। इससे हादसे की आशंका बनी हुई। यहां चहितारा, मवई, जारी अथौड़ा, बरगहनी, कनवारा में बने अंडरब्रिज पर दरारें आ गई हैं। इनकी मरम्मत की जा रही है।

कटान रोकने के लिए नहीं लगाया जियो सेल 

इटावा में बुंदेखंड एक्सप्रेसवे के किनारे मिट्टी की कटान रोकने के लिए जियो सेल (काले रंग की चार इंच की पट्टी) लगाई जानी है। यह किलोमीटर संख्या 280 से 296 तक कई जगह नहीं लग सकी है। इस सेल में मिट्टी भरने के बाद घास लगाई जाती है, जिससे कटान रोका जा सके। यही स्थिति बांदा की है। यहां भी मवई से हथौड़ा तक जियो सेल नहीं लगाया गया है। 

गुरुवार को जालौन में धंसा था एक्सप्रेस-वे

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे गुरुवार को जालौन के छिरिया सलेमपुर के पास धंस गया था। यहां किलोमीटर संख्या 195 के पास दो फीट चौड़ा, छह फीट लंबा और एक फीट गहरा गड्ढ़ा हो गया था। 

पीएम मोदी ने 16 को किया था लोकार्पण 

चित्रकूट के भरतकूप से इटावा के कुदरैल तक बने 296 किलोमीटर एक्सप्रेसवे का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 जुलाई को जालौन के कैथेरी गांव में किया था। इसके लोकार्पण को अभी छह दिन ही बीते हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00