पुतले फूंके, ट्रेनों के आगे किया प्रदर्शन

Etah Updated Fri, 21 Sep 2012 12:00 PM IST
कासगंज। महंगाई और एफडीआई के विरोध में जिला मुख्यालय पर जुलूस, प्रदर्शन, पुतला दहन, केंद्र सरकार की प्रतिकात्मक शव यात्रा निकाली गई। कासगंज जंक्शन रेलवे स्टेशन परिसर में ट्रेनों के आगे विभिन्न संगठनों ने प्रदर्शन किया। दिन भर महंगाई को लेकर सड़कों पर हंगामा होता रहा।
व्यापार मंडल कंछल गुट ने बंद के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की प्रतिकात्मक शवयात्रा निकाली। शिवाजी चौक पर उसका दहन किया। रेलवे स्टेशन परिसर में भी ट्रेन के आगे व्यापारियों ने प्रदर्शन किया। व्यापार मंडल के प्रदेश मंत्री सतीश गुप्ता, जिलाध्यक्ष सुरेश वार्ष्णेय, महामंत्री अखिलेश अग्रवाल, मंडल अध्यक्ष दविन्दर चंडौक ने महंगाई और एफडीआई पर तीखा विरोध जताया। अनिल अग्रवाल, सतेंद्र पंडा, अरुण माहेश्वरी, रविकांत सक्सेना, राजवीर सिंह थे।
व्यापार मंडल मिश्रा गुट ने जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया गया। बारहद्वारी पर प्रधानमंत्री के पुतला दहन से पूर्व पिंडदान किया गया। जिलाध्यक्ष अनिल माहेश्वरी, प्रदीप गुप्ता, जितेंद्र वार्ष्णेय, नगर अध्यक्ष राजेंद्र गुप्ता, महामंत्री कृष्ण मुरारी, किशोर अग्रवाल, दीपू केला, सुमन गुप्ता थे। व्यापार मंडल बंसल गुट ने रेलवे स्टेशन पर कलकत्ता आगरा जाने वाली सुपरफास्ट ट्रेन के आगे पहुंचकर प्रदर्शन किया। वाहन रैली निकाली। जिलाध्यक्ष दीपक गुप्ता, जिला महामंत्री संजय कुमार सिंह, अशोक अग्रवाल, अवनीश अग्रवाल, ग्रीश चंद्र मोहम्मद आमिर, साकिर अली, अनीस थे।
समाजवादी पार्टी ने भी एफडीआई और महंगाई का विरोध किया। बाजार बंद कराए और प्रदर्शन किया। जिलाध्यक्ष विक्रम यादव, जिला महामंत्री कौसर हमीद, कृष्ण गोपाल अग्रवाल, दीपक वाल्मीकि, नगर अध्यक्ष चाहत मियां, नरेंद्र सिंह यादव, जब्बार भाई, कैप्टन लतीफ, केपी सिंह थे।
भाजपा ने महंगाई और एफडीआई के लिए यूपीए की केंद्र सरकार को जिम्मेदार बताया। जुलूस प्रदर्शन के दौरान जिला संयोजक अनिल पुंढीर, रजनीकांत माहेश्वरी, पालिकाध्यक्ष रुप किशोर कुशवाहा, ज्ञान प्रकाश गुप्ता, प्रेम गुप्ता, मुकेश बिड़ला, नीरज शर्मा, राजीव माहेश्वरी थे। शिवसेना के नेत्रपाल वर्मा, दीपक माहेश्वरी, विनोद गुप्ता, मनोज ठाकुर, अनिल, अजय यादव, सोनू गुप्ता ने प्रदर्शन किया। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी ने जुलूस निकाल कलेक्ट्रेट पर ज्ञापन सौंपा। जिला मंत्री कर्मवीर सिंह एडवोकेट, सादिकराम, नेपाल सिंह, वीरेंद्र सिंह, ईश्वरी प्रसाद, ओमप्रकाश प्रतिहार, यतेंद्र कुमार शर्मा, सुनील कुमार थे।
अखिल भारतीय युवा यादव महासभा के अजीत यादव, रामकृष्ण यादव, अजय यादव, अभिषेक यादव, आलोक यादव, अनिल पाठक, मोनू यादव, बौबी यादव ने केंद्र सरकार का विरोध किया।
व्यापारी एकता समिति के प्रदेश अध्यक्ष विनोद गुप्ता ने कहा कि एफडीआई एवं महंगाई के विरोध में राजनीतिक दल दिखावा कर रहे हैं। राजनीतिक दल यूपीए सरकार को अंदर से समर्थन दे रहे हैं और बाहर विरोध का प्रदर्शन कर रहे हैं, यह कैसा विरोध है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से सीख लेनी चाहिए। केंद्र सरकार की नीतियां जनविरोधी हैं, जिससे जनता व व्यापारी त्रस्त हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में एक नवजात की इस बात पर दी बलि

शुक्रवार को एटा के सरकारी अस्पताल से लापता बच्चे का शव मिला। मृतक के पिता ने पड़ोसी पर बच्चे की बलि के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

13 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper