बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पेगासेस जासूसी मामले में व्हाट्सएप ने सरकार से मांगी लिखित माफी

टेक डेस्क, अमर उजाला Published by: गौरव पाण्डेय Updated Thu, 21 Nov 2019 05:13 AM IST

सार

  • कंपनी के प्रवक्ता ने कहा, भारत की चिंताओं को दूर करने के लिए प्रतिबद्ध
  • पेगासेस स्पाइवेयर को इस्राइल की एनएसओ कंपनी ने विकसित किया था 
  • कई भारतीय नेताओं, पत्रकारों व सामाजिक कार्यकर्ताओं की जासूसी हुई थी
  • सरकार ने व्हाट्सएप को नोटिस जारी कर साइबर हमले पर जानकारी मांगी थी
विज्ञापन
WhatsApp seeks written apology from government in Pegasus espionage case
ख़बर सुनें

विस्तार

व्हाट्सएप ने पेगासेस जासूसी सॉफ्टवेयर के जरिये भारतीयों की सूचनाएं चुराने के मामले में सरकार से लिखित में माफी मांग ली है। साथ ही भरोसा जताया है कि इससे जुड़ी चिंताओं को दूर करने को सभी सुरक्षा उपाय सुनिश्चित किए जा रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि सरकार ने व्हाट्सएप से अपनी सुरक्षा को मजबूत करने का निर्देश देते हुए कहा था कि अगर भविष्य में उसकी सुरक्षा में सेंध लगती है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। गौरतलब है कि पिछले महीने स्पाइवेयर पेगासस का इस्तेमाल कर व्हाट्सएप के जरिए कई भारतीय नेताओं, पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की जासूसी करने का खुलासा हुआ था।
विज्ञापन


व्हाट्सएप के प्रवक्ता ने सरकार को भेजे ई-मेल में कहा, कंपनी भारतीय यूजर्स की निजता की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है। यूजर्स के डाटा पर संभावित खतरे को देखते हुए हमने सभी मैसेज और कॉल को उच्च सुरक्षा प्रदान की है। यहां सरकार भी अहम भूमिका निभाती है और हम भी यूजर्स की निजता और सुरक्षा से जुड़े संवेदनशील मुद्दों पर सरकार से साथ मिलकर काम करने को प्रतिबद्ध हैं। हमें खेद है कि हम इन मुद्दों को लेकर सरकार की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे, लेकिन भविष्य में हम और सतर्कता बरतेंगे। प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी सरकार की सभी जायज चिंताओं को दूर करने को लेकर मिलकर काम करने को तैयार है।

121 भारतीयों की हुई थी जासूसी

पेगासेस स्पाइवेयर को इस्राइल की एनएसओ कंपनी ने बनाया था और करीब 1400 लोगों की जासूसी में इस्तेमाल किया गया। इनमें से 121 भारतीय थे। मामला सामने आने के बाद सरकार ने व्हाट्सएप को नोटिस जारी कर साइबर हमले पर जानकारी मांगी थी। व्हाट्सएप ने सरकार को बताया कि सितंबर में ही उसने इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी-इन) को अलर्ट कर दिया था।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live news update of latest mobile reviews apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking news from Tech and more Hindi News.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X