ग्रामीण क्षेत्रों में पूरी होगी शिक्षकों की कमी

जयपुर/इंटरनेट डेस्क Updated Mon, 12 Nov 2012 04:51 PM IST
shortage of teachers in rural areas will be completed
शहर और कस्बा क्षेत्र के स्कूलों में बिना जरूरत के रूके हुए शिक्षकों को अब गांव में नौकरी करनी पड़ेगी। इन्हें शिक्षकों की कमी से जूझ रहे विद्यालयों में नियुक्त किया जाएगा। शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षा अधिकार कानून की पालना में इन अधिशेष अध्यापकों को ढूंढ कर अन्य विद्यालयों में भेजने की तैयारी की जा रही है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यालयों में शिक्षकों की कमी के पूरा होने और शिक्षण व्यवस्था में सुधार होने की बात कही जा रही है।

इन अधिशेष शिक्षकों को माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में से ढूंढा जा रहा है। इन दिनों इन स्कूलों से मिडिल स्तर की कक्षाओं को अलग कर तृतीय श्रेणी शिक्षकों को प्रारम्भिक शिक्षा विभाग के सेटअप में लाने की कवायद की जा रही है। जानकारों का कहना है कि निदेशालय स्तर पर अगले माह इस कवायद को पूरा कर लिया जाएगा। इसके जरिए शिक्षा अधिकार कानून के तहत प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों को लगाया जाएगा।

अभी ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षण व्यवस्था की हालत बेहद खराब है। यहां विद्यालयों में शिक्षकों की काफी कमी है। उस पर शहरी क्षेत्र के शिक्षक गांवों के विद्यालयों में नौकरी करने से कतराते हैं। अधिशेष शिक्षकों की नियुक्ति का फायदा ग्रामीण क्षेत्र और दूरदराज के स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को शिक्षकों की उपलब्धता होने पर मिलेगा। हालांकि हाल ही में पंचायतीराज की ओर से प्रदेशभर में करीब तीस हजार शिक्षकों में से अधिकतर को ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में ही नियुक्ति दिए जाने से गांवों के स्कूलों की हालत में सुधार हुआ है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: मुरादाबाद ‘मल कांड’ पार्ट टू... जयपुर से

आपको याद होगी मुरादाबाद की वो तस्वीर जब खुले में शौच कर रहे लोगों पर स्वच्छता अभियान के तहत लोगों को जागरुक करने के लिए तैनात वॉलिंटियर का कहर टूटा।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper