देरी से बढ़ गई लागत, अब फिर बंधी उम्मीद

Ludhiana Updated Wed, 18 Jul 2012 12:00 PM IST
लुधियाना। पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने वर्ष 2009 में लुधियानवियों को मेट्रो रेल का सपना दिखाया था। तब से आज तक इस प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत 6600 करोड़ रुपये से उछल कर दस हजार करोड़ से अधिक हो गई है। अब केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए फंड के साथ हरी झंडी दिखा दी है, नतीजतन लुधियानवियों को अगले पांच साल बाद मेट्रो ट्रेन का सफर मुहैया कराने का फिर से सपना दिखाया जा रहा है।
इस प्रोजेक्ट को लेकर कुछ साल पहले पंजाब सरकार ने दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन के साथ तालमेल किया था। इसके बाद से इस प्र्रोजेक्ट को अमल में लाने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं। माना जाता है कि यह उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इसे हकीकत में बदलने के लिए वह निजी तौर पर इसमें दिलचस्पी भी ले रहे हैं।
बुनियादी सुविधाओं की किल्लत महसूस कर रहे शहरवासियों के ख्वाबों में दिल्ली मेट्रों की तर्ज पर सुखद अहसास तो हो रहा है, क्योंकि 35-40 लाख की आबादी वाले इस शहर में लोगों के लिए कारगर सिटी बस सेवा तक मौजूद नहीं है।
हालत यह है कि शहर में जगह जगह ट्रैफिक जाम ने लोगों को परेशानी में डाल रखा है। शहर की सड़कों पर रोजाना करीब साढ़े तेरह लाख वाहन दौड़ते हैं। जबकि चार लाख साइकिल भी सड़कों का रोज इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे में मेट्रो ट्रेन लुधियानवियों को बड़ी राहत दे सकती है। लोगों का मानना है कि शायद मेट्रो आने के बाद जीवन सुधर जाए। भाग दौड़ भरी जिंदगी में दिन-ब-दिन बढ़ रहे ट्रैफिक के बीच पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम की लुधियानवियों को शिद्दत से दरकार है।

प्रोजेक्ट का संभावित आकार
दिल्ली मेट्रो रेल द्वारा दी डीपीआर के तहत इस प्रोजेक्ट के तहत दो कारीडोर बनाए जाएंगे। इसमें एक कारीडोर 16 किलोमीटर और दूसरा 13 किलोमीटर का होगा। 13 किलोमीटर के गांव गिल से राहों रोड कारीडोर में 7 किलोमीटर अंडरग्राउंड और छह किलोमीटर ओपन में एलिवेटेड रास्ते बनाए जाएंगे। इस कारीडोर में 13 स्टेशन बनाए जाएंगे। जबकि 16 किलोमीटर वाले अयाली चौक से बीबीएमबी पावर हाउस रूट पर 14 स्टेशन होंगे। एलिवेटेड रास्ते बनाने पर अनुमानित खर्च 175 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर आएगा, जबकि अंडरग्राउंड रास्ता बनाने में खर्च 325 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर आएगा।

मेट्रो रेल के प्रस्तावित स्टेशन
लुधियाना। मेट्रो रेल में दो प्रस्तावित रूट होंगे। पहला रूट अयाली चौक से बीबीएमबी पावर हाउस तक होगा। इसमें प्रस्तावित रेलवे स्टेशनों में अयाली चौक, राजगुरू नगर, अगर नगर, वेरका मिल्क प्लांट, पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, आरती चौक, भारत नगर चौक, गुरू नानक स्टेडियम, दुख निवारण गुरूद्वारा, सिविल अस्पताल, समराला चौक, वर्धमान मिल, जमालपुर, बीबीएमबी पावर हाउस होंगे।
दूसरा रूट गांव गिल से राहों रोड तक होगा। इसके प्रस्तावित स्टेशनों में गांव गिल के बाद जीएनई कालेज, शिमलापुरी, एटीआई चौक, सराभा मार्केट गिल रोड, गिल चौक, सिटी बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, दरेसी ग्राउंड, गुरू नानक नगर, बस्ती जोधेवाल, राहों रोड चुंगी तक ट्रेन चलाई जाएगी।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper