नए-पुराने नौकर ने ही ली थी जान

अमर उजाला, जालंधर Updated Fri, 24 Jan 2014 10:10 PM IST
servants, killed, old, lady, jalandhar
स्थानीय कमिशनरेट पुलिस की टीम ने बुजुर्ग महिला की हत्या के मामले का भंडाफोड़ कर दो आरोपियों को काबू कर लिया है। इस सनसनीखेज हत्याकांड का तानाबाना घर में रहने वाले नौकर ने ही पुराने नौकर के साथ मिलकर बुना था। पुलिस ने लूट की राशि को भी बरामद कर लिया है।



डीसीपी राहुल एस, एसीपी मॉडल टाउन मनप्रीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि 21 जनवरी सुबह बस स्टैंड के पास ग्रीन पार्क में 80 साल की बुजुर्ग महिला रक्षा नैयर का खून से लथपथ शव मिला था। हत्या की जांच के लिए एक उच्चस्तरीय टीम का गठन एसीपी मनप्रीत सिंह ढिल्लों की अध्यक्षता में किया गया था। डीसीपी राहुल एस ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली, जिसकी बिनाह पर सुरेश कुमार पुत्र राम जिआवन निवासी गांव हाजीपुर थाना डी जिला रायबरेली, यूपी और राम सुख पुत्र सुच्छा निवासी गांव हाजीपुर थाना डी जिला रायबरेली के रूप में हुई। दोनों के पास से पुलिस को 36 हजार की नकदी और 20 हजार का नया मोबाइल फोन मिला।



डीसीपी राहुल एस ने बताया कि पुलिस ने दोनों से सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने नैयर हत्याकांड की परतें खोल दी। एसीपी ढिल्लो ने बताया कि सुरेश कुमार रक्षा नैय्यर की कोठी में ही नौकर था। वह पेंटर का काम करता था लेकिन उसकी पत्नी सीमा घर का काम करती थी। जबकि रामसुख उर्फ दलीप जालंधर के गुरुनानकपुरा मोहल्ला में रहता है और वह काफी समय पहले रक्षा नैयर के घर पर नौकर था। उसने घर में चोरी कर ली थी, जिसके बाद उसको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। उसको मामले में सजा हो गई थी और वह सजा पूरी करने के बाद बाहर आ गया था।



एसीपी मनप्रीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि सुरेश कुमार व रामसुख दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं और पुराने परिचित हैं। रामसुख व सुरेश ने आपस में मिलकर कोठी में चोरी की योजना बनाई। दोनों को यकीन था कि रक्षा नैयर के पास काफी पैसा है क्योंकि उसका बेटा अमेरिका में है। 20 जनवरी की रात को सुरेश ने मुख्य द्वार खोलकर रामसुख को अंदर बुला लिया और बाहर बने बाथरूम में छिपा दिया।



रात को साढ़े आठ बजे रक्षा नैयर जब बाथरूम गई तो सुरेश ने रामसुख को कोठी के अंदर एंट्री करवाई और उसको छत पर बैठा दिया। रात को रक्षा नैयर ने अपने बेटे से अमेरिका बात की और सो गई। रात को साढ़े 12 बजे रामसुख ने कोठी का अंदर का दरवाजा खोला और सुरेश को बुला लिया।


दोनों ने छत पर जाकर एक हॉकी और नीले रंग का अटैची उठाई और नीचे आ गए। दोनों जैसे ही घर के भीतर अलमारी खोलकर तलाशी लेने लगे, रक्षा की नींद खुल गई। सुरेश ने उस पर हॉकी से प्रहार कर दिया। सिर पर चोट लगने से वह ढेर हो गई। खून देखकर दलीप को घबराहट हो गई, उसने बाथरूम में जाकर उल्टी की और बाद में उसने ड्राइंग रूम में भी उल्टी की। सुरेश ने देखा कि दलीप की हालत बिगड़ गई तो उसने फ्रीजर से दूध निकालकर चाय बनाई और दलीप को नार्मल किया।


बाद में दोनों ने अलमारी से नकदी निकाली और बाहर आकर सुरेश के कमरे में रुक गए। रात को ढाई बजे सुरेश ने रामसुख को दीवार फांदकर बाहर निकाला और रामसुख अटैची रिक्शा पर रखकर गुरुनानकपुरा चला आया। रामसुख ने उसी दिन लूट के पैसों से 20 हजार का मोबाइल और 4200 रुपये का डेक खरीदा। जबकि 36 हजार की नकदी उसके पास ही थी।

Spotlight

Most Read

Budaun

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

21 जनवरी 2018

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper