पंजाब में वारदात: गैंगस्टर कुलबीर नरुआना की हत्या, साथी ने ही सीने में उतारीं चार गोलियां, दूसरे को गाड़ी से कुचला

संवाद न्यूज एजेंसी, बठिंडा (पंजाब) Published by: निवेदिता वर्मा Updated Wed, 07 Jul 2021 10:00 AM IST

सार

पंजाब के बठिंडा का गांव नरुआना बुधवार सुबह गोलियों की आवाजों से गूंज गया। गैंगस्टर कुलबीर नरुआना को उसी की गाड़ी में गोलियों से भून दिया गया। बचाने आए उसके एक साथी को आरोपी ने गाड़ी से कुचल डाला। वहीं लगातार फायरिंग से ग्रामीण दहशत में आ गए। 
 
बठिंडा में गैंगस्टर कुलबीर नरुआना की हत्या।
बठिंडा में गैंगस्टर कुलबीर नरुआना की हत्या। - फोटो : फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बठिंडा के गांव नरुआना में रहने वाले गैंगस्टर कुलबीर नरुआना की बुधवार सुबह गोली मार कर हत्या कर दी गई। मृतक के साथी मन्ना निवासी तलवंडी साबो ने गैंगस्टर को उसी की गाड़ी में चार गोलियां मारी। इसके बाद आरोपी ने कुलबीर के एक साथी चमकौर सिंह को गाड़ी तले कुचल कर मौत के घाट उतार दिया। घटना को अंजाम देने के बाद जब आरोपी फरार हो रहा था तो कुलबीर के अन्य साथियों ने उस पर फायरिंग की। आरोपी को एक गोली लगी लेकिन वह भागने में कामयाब हो गया। हालांकि पुलिस ने घटना के कुछ समय बाद ही आरोपी को जख्मी हालत में गिरफ्तार कर लिया। 
विज्ञापन


जानकारी के अनुसार गैंगस्टर कुलबीर नरुआना बुधवार सुबह अपने साथी मन्ना के साथ था। मन्ना ने चाय पीने की इच्छा जाहिर की। इस पर नरुआना ने अपने एक साथी को चाय लेने घर के अंदर भेज दिया और खुद मन्ना के साथ अपनी गाड़ी में बैठ गया। जैसे ही कुलबीर ने गाड़ी के दरवाजे बंद किए तो मन्ना ने एक-एक कर चार गोलियां उसके सीने में उतार दी। कुलबीर की मौके पर ही मौत हो गई। गोलियों की अवाज सुनकर कुलबीर का दूसरा साथी चमकौर सिंह आगे आया तो आरोपी ने पहले उसके पैर पर गोली मारी और फिर उसे गाड़ी के नीचे कुचल डाला।



घटना को अंजाम देने के बाद जब आरोपी फरार हो रहा था तो कुलबीर के साथियों ने उस पर फायरिंग की। एक गोली आरोपी को लगी लेकिन आरोपी जख्मी हालत में फरार हो गया। घटना का पता चलते ही पुलिस ने आरोपी को कुछ ही समय में जख्मी हालत में धर दबोचा।

अपराध की दुनिया छोड़ धीरे-धीरे मुख्य धारा में लौट रहा था कुलबीर 
गैंगस्टर कुलबीर नरुआना अपराध की दुनिया को छोड़ धीरे धीरे मुख्य धारा में लौट रहा था। पिछले कुछ साल से कुलबीर नरुआना अपने गांव एवं आस पास के गांव की गरीब लड़कियों की शादी करवाकर समाज सेवा करने में जुटा हुआ था। कुलबीर पर कुछ दिन पहले भी जानलेवा हमला हुआ था। 21 जून को कुलबीर नरुआना अपने साथियों समेत बाईपास से गुजर रहा था तो एक गाड़ी सवार युवकों ने उस पर लगातार 10 फायर किए थे। कुलबीर की गाड़ी बुलेटप्रूफ थी, जिस कारण उसे और उसके साथियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00