लखनऊ : तेंदुए के डर से तीसरे दिन भी इलाके की गलियां सूनी, किस्सों में बीत रहा दिन, दहशत में कट रही रात, तस्वीरें

अमर उजाला नेटवर्क, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Tue, 28 Dec 2021 07:25 PM IST
इलाके में पूरे दिन सड़कें सूनी हैं।
1 of 5
विज्ञापन
‘भैया, एक नहीं, तीन-तीन तेंदुए इलाके में घूम रहे हैं। हम तो कमरे में थे। दहाड़ सुनकर निकले तो देखा सड़क पर सामने से तेंदुआ आ रहा था। हमने गेट बंद किया, उधर तेंदुआ प्लॉट में कूद गया। दूसरा तेंदुआ प्रेसीडेंसी स्कूल में बैठा था और तीसरे ने झाडू़-पोछा करने वाली मालती देवी पर हमला कर दिया...।’ रामकिशन ने अपना किस्सा खत्म भी नहीं किया था कि पड़ोसन ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘अब उस प्लॉट के रेट बढ़ जाएंगे। वन विभाग वाले लापरवाह हैं। तेंदुआ सामने दिख रहा था, चाहते तो लपककर पकड़ लेते। आखिन के सामने भाग गवा...’।

गुडम्बा के कल्याणपुर में बीते शनिवार से ऐसा ही माहौल देखने को मिल रहा है। लोग घरों में कैद हैं बाहर निकल रहे हैं तो झुंड में। दिनभर लोग तेंदुए के किस्से मिर्च-मसाला लगाकर सुनते हैं और शाम ढलते ही दहशत उनके चेहरे पर दिखने लगती है। मंगलवार को भी तेंदुए के डर से तीसरे दिन इलाके की गलियां सूनी पड़ी नजर आईं। वन विभाग की टीम पकड़ने के लिए दौड़ रही हैं। हालांकि, अभी तक सफलता नहीं मिली।
People are scared of leopard in Kalyanpuri in Lucknow.
2 of 5
इलाके का मुआयना करने पहुंची ‘अमर उजाला’ की टीम से लोगों ने दहशत में बीती रातों का जिक्र किया। कल्याणपुर के जिस प्लॉट में तेंदुए को पकड़ने के लिए जाल लगाया गया था। उस गली में करीब 20 मकान होंगे। खास बात यह है कि ज्यादातर मकानों में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। लोग छतों पर टहलते दिखे। तेंदुए वाले प्लॉट के सामने रहने वाली मंजू लोहे के गेट के पीछे से झांकते हुए ही बोलीं कि हां, हमने तेंदुए को देखा था। वन विभाग वाले तो कामचोर हैं। कैमरामैन ने साहस दिखाया। उन्होंने अपने कुत्ते बॉक्सर को भी घर के अंदर कर दिया है। पड़ोस में रहने वाली दीप्ती राजपूत ने बताया कि दीवार सिर्फ चार फिट की है, इसलिए बच्चों को बाहर खेलने के लिए भेजा ही नहीं। उन्होंने सड़क से आते तेंदुए को देखा था।
विज्ञापन
विज्ञापन
People are scared of leopard in Kalyanpuri in Lucknow.
3 of 5
छह बजते ही दरवाजे बंद
प्रेसीडेंसी स्कूल परिसर में दोस्तों संग खेलने वाले प्रखर ने ही बेसमेंट में बैठे तेंदुए को सबसे पहले देखा था। सोमवार को शाम के छह बजते ही मां ने दरवाजा बंद कर उसे घर के अंदर कर लिया। यही हाल अन्य घरों पर भी था। लोगों ने लाइटें जलाए रखीं। रात सन्नाटे में बीती। जिनके घरों में सीसीटीवी कैमरे थे, वे रिकॉर्डिंग देखते रहे।
People are scared of leopard in Kalyanpuri in Lucknow.
4 of 5
अफवाहों ने बढ़ाई दहशत
तेंदुए के वीडियो वायरल होते ही अफवाहें भी फैलने लगीं। पुराने वीडियो में तेंदुए के कुत्ते को मारने की बात सामने आती तो दहशत बढ़ जाती है और जैसे ही तेंदुए के पकड़े जाने की अफवाह फैलती, लोग खुश हो जाते। वहीं, लोग व्हाट्सएप ग्रुप पर भी एक-दूसरे का हाल ले रहे हैं। वन विभाग की टीम से भी लगातार संपर्क में हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
People are scared of leopard in Kalyanpuri in Lucknow.
5 of 5
वन विभाग ने की सतर्क रहने की अपील
वन विभाग ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। अनुमान लगाया कि तेंदुआ कुकरैल के रास्ते निकल गया। रेस्क्यू टीम ने आदिल नगर व कल्याणपुर के आसपास तेंदुआ न दिखने का दावा भी किया है। पांच टीमें गश्त कर रही हैं। डीएफओ डॉ. रवि कुमार सिंह ने कहा कि सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों से भी सतर्क रहें। 24 दिसंबर की रात 11 बजे जानकीपुरम के साठ फीटा रोड पर, 25 दिसंबर को कल्याणपुर के एसआर हॉस्पिटल व पूजा नर्सिंग होम के सीसीटीवी कैमरे में और बीती शाम आदिल नगर के प्रेसीडेंसी स्कूल तथा उससे कुछ दूरी पर बने प्लॉट में तेंदुआ देखा गया है। छोटा भरवारा, कुर्सी रोड, आधार खेड़ा तकरोही, सेक्टर चार विकास नगर, इंट्रीगल यूनिवर्सिटी पर रेस्क्यू के लिए मोबाइल टीमें सक्रिय हैं।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00