लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

पांच नदियों से घिरा है गोरखपुर, बाढ़ से बचाव के लिए बनीं 86 चौकियां, एनडीआरएफ की दो कंपनी अलर्ट

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Published by: vivek shukla Updated Fri, 10 Jul 2020 09:50 AM IST
gorakhpur river news
1 of 5
विज्ञापन
नदियों के जलस्तर बढ़ने के साथ ही बाढ़ से निपटने की तैयारी तेज कर दी गई है। गोरखपुर में 86 बाढ़ चौकियां बनाई गई हैं। घाघरा के कटान को देखते हुए गोला और खजनी तहसील क्षेत्र में एनडीआरएफ की दो यूनिट तैनात की गई है। एनडीआरएफ के पास स्टीमर, नाव पर्याप्त संख्या में है। एसडीआरफ की टीमें भी अलर्ट हैं। नाव, स्टीमर अलग से मंगाए जा रहे हैं।
बुढ़नपुरा गांव स्थित तपस्वी कुटी का तटबंध।
2 of 5
घाघरा, राप्ती और रोहिन नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। केंद्रीय जल आयोग से मिले आंकड़ों के मुताबिक अयोध्या में घाघरा नदी का जलस्तर खतरे के निशान के पास है। यह नदी गोरखपुर के खजनी, गोला तहसील क्षेत्र होकर बहती है। इसकी चपेट में कई गांव आ सकते हैं। इस वजह से हाई अलर्ट घोषित किया गया है। बुधवार की सुबह इस नदी का जलस्तर जहां 92. 410 मीटर रिकार्ड किया गया था, वहीं शाम चार बजे 92.750 मीटर पहुंच गया।
विज्ञापन
गोला बाजार के पास घाघरा नदी का जलस्तर।
3 of 5
8 घंटे में ही जलस्तर 340 सेंटीमीटर बढ़ गया। इसी तरह गोरखपुर के राजघाट में राप्ती का जलस्तर सुबह 73. 180 मीटर था, जो शाम को  73.240 मीटर पहुंच गया। आठ घंटे में इस नदी का जलस्तर 60 सेंटीमीटर बढ़ा है। त्रिमुहानी घाट पर रोहिन नदी का जलस्तर सुबह 79.360 मीटर था, जो शाम को 79.670 मीटर हो गया।
बड़हलगंज के पास सरयू नदी का जलस्तर।
4 of 5
पांच नदियों से घिरा है गोरखपुर
गोरखपुर पांच नदियों से घिरा है। जिले से होकर गुजरने वाली नदियों पर 68 तटबंध हैं। इसकी कुल लंबाई 457. 7 किलोमीटर है। गोरखपुर में घाघरा नदी का क्षेत्र 77 किलोमीटर है। राप्ती नदी 134 किलोमीटर की लंबाई में बहती है। रोहिन नदी 30 किलोमीटर, कुआनो 23 और गोर्रा नदी 17 किलोमीटर की लंबाई में बहती है।
विज्ञापन
विज्ञापन
gorakhpur news
5 of 5
सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता रूपेश कुमार खरे ने बताया कि घाघरा नदी के शाहपुर खड़कपुर सुपाई तटबंध पर तीन बड़ी प्रोजेक्ट इस साल स्वीकृत हुए थे। तीनों प्रोजेक्ट बाढ़ निरोधक थे। 15 जून के पहले काम पूरा होना था लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से दिक्कत हो गई। लॉकडाउन में कामकाज नहीं हो सका। कहीं भी कोई खतरा नहीं है। सब कुछ नियंत्रण में है।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00