इस तरह किसानों के परिवारों को सात साल बाद मिल पाई बीमा राशि

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल Updated Thu, 08 Feb 2018 02:07 PM IST
family of died farmers gets insurance claim payout after Seven Long Years
प्रतीकात्मक तस्वीर
मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य इलाके कहे जाने पर आलीराजपुर के करीब 350 उपेक्षित किसानों के परिवार को बीमा राशि मिली। किसान के परिजनों को यह राशि मिलने में किसानों को 7 साल का समय लग गया। परिजनों को यह राशि उस योजना के तहत मिला है, जिसमें उनका समूह बीमा कराया गया था।    
दिसंबर 2017 में किसानों से जुड़े इस विशेष मुद्दों को मीडिया ने उठाया था। अखबारों और टीवी चैनलों पर आने के बाद एलआईसी ने 336 किसानों के जीवन बीमा के 84 लाख रुपये का भुगतान किया। अतिरिक्त सचिव शेखर वर्मा ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि यह अब तक का सबसे बड़ा क्लेम का सेटलमेंट किया गया। उन्होंने कहा कि शायद ही किसी ग्रुप इंश्योरेंस में इतने बड़े केस का एक बार में निपटारा हो पाया है।

जिला सहकारी बैंक की शाखा, झबुआ के इंश्योरेंस इंचार्ज राजेश राठौर ने बताया कि मैं बीमा कंपनी के अधिकारियों के संपर्क में बना हुआ हूं और संबंधित दस्तावेज तैयार करवा रहा हूं। उन्होंने बताया कि 64 केसों का निपटारा अभी बाकी है। 

इस बारे में शेखर वर्मा ने बात करते हुए कहा कि पहली बार इसकी जानकारी मुझे तब लगी जब मैं साल 2014 में जनसुनवाई कर रहा था। इस दौरान एक किसान का परिवार मेरे पास आया और बीमा कंपनी से जुड़े दस्तावेज दिखाई। मैंने उनके दस्तावेज देखे और एक कैंप का आयोजन करवाया। जहां उन किसान परिवारों की शिकायतों के लिए विंडो थी, जिनकी बीमा राशि अब तक नहीं मिल पाई है। 

हमारे पास 400 से ज्यादा परिवार आए जिनकी शिकायत थी कि बीमा राशि का भुगतान अब तक नहीं हुआ है। मैंने बीमा कंपनियों के अधिकारियों से इस बारे में चर्चा की और रोडमैप बनाया गया कि किस तरीके से उन किसानों के नुकसान की भरपाई की जाएगी। 

दरअसल एलआइसी ने जिला सहकारी बैंक के साथ मिलकर किसानों का समूह बीमा कराया। किसानों के परिवारों को मुआवजा मिलने में देरी के पीछे बीमा कंपनियों नोडल एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराया।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bihar

तेज प्रताप ने छोड़ा सरकारी बंगला, नीतीश पर लगाया 'भूत' छोड़ने का आरोप

भूत की वजह से तेज प्रताप यादव ने खाली किया अपना सरकारी बंगला।

22 फरवरी 2018

Related Videos

बीजेपी सांसद ने खुद हाथ से साफ किया स्कूल का टॉयलेट, शुरू हो गई तारीफ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'स्वच्छ भारत अभियान' पर भले ही बीजेपी के सभी सांसद गंभीर न हों लेकिन मध्य प्रदेश की रीवा लोकसभा सीट से सांसद जनार्दन मिश्र ने कुछ ऐसा किया कि हर जगह उनकी तारीफ हो रही है।

18 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen