आजम की 'नाक' बचाने को निकाला गया रास्ता

शोभित श्रीवास्तव/अमर उजाला, लखनऊ Updated Wed, 22 Jan 2014 09:59 AM IST
soon GZB haj house issue to get solution
गाजियाबाद हज हाउस का मामला जल्दी सुलझने की उम्मीद है।

शीघ्र ही नए प्रस्ताव पर सरकार मुहर लगा सकती है। इसके साथ ही वित्त विभाग भी इसके लिए पैसा जारी कर देगा।
 
गाजियाबाद हज हाउस अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ मंत्री आजम खां के लिए नाक का सवाल बना हुआ था।

वित्त विभाग की आपत्तियों को दूर करने के लिए तोड़ निकाल लिया गया है। सरकार तीन सदस्यीय समिति बनाकर जांच की औपचारिकता पूरी करने के साथ ही इस मामले को हल करने जा रही है।

गाजियाबाद हज हाउस बनाने की घोषणा 2005 में हुई थी। उस समय 226 हाजियों के लिए 3.64 करोड़ रुपये से इसे बनना था।

सरकार ने दो करोड़ रुपये जारी भी कर दिए लेकिन हज हाउस की जमीन पर विवाद हो गया। बाद में न्यायालय ने स्टे दे दिया था।

इसके बाद मायावती सरकार आई और कोर्ट से केस जीतने के बाद 2010 में सरकार ने फिर 2.28 करोड़ रुपये जारी किए। इस बार जब फिर सपा सरकार बनी तो आजम खां को गाजियाबाद हज हाउस की याद आई।

उन्होंने यहां पर एक बड़ा 1886 हाजियों के लिए हज हाउस बनाने का प्रस्ताव बनवा डाला। नया हज हाउस करीब 41.94 करोड़ रुपये से बनाया जाना है।

जब यह प्रस्ताव वित्त विभाग में गया तो वहां आपत्ति लग गई। वित्त विभाग ने पहले दिए गए 4.28 करोड़ रुपये का हिसाब मांग लिया।

चूंकि हज हाउस में कई सारी निर्माण एजेंसियां अलग-अलग समय में काम करा चुकी हैं, इसलिए पुराने हिसाब में हज समिति गड़बड़ा गई।

नए हज हाउस पर जब वित्त विभाग ने आपत्तियां लगाईं तो मंत्री आजम खां नाराज हो गए। उन्होंने मुख्य सचिव जावेद उस्मानी को भी कड़ा पत्र लिख दिया। बाद में अल्पसंख्यक व वित्त विभाग के अधिकारियों को बुलाकर मुख्य सचिव ने मामला जल्दी हल कराने के निर्देश दिए।

पुराने हज हाउस में जितना काम हुआ है उसकी जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच समिति बनी। इसमें लोक निर्माण विभाग के अभियंता, शासन व हज समिति के एक-एक प्रतिनिधि को रखा गया।

समिति बनाने का अनुमोदन खुद मुख्यमंत्री ने किया था।

Spotlight

Most Read

Rohtak

सीएम को भेजा पत्र

सीएम को भेजा पत्र

23 जनवरी 2018

Rohtak

एमटीएफसी

23 जनवरी 2018

Related Videos

योगी सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला, 60 हजार भर्तियां शुरू करने का रास्ता साफ

अवकाश प्राप्त आईएएस अधिकारी चन्द्रभूषण पालीवाल को यूपी अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है। चन्द्रभूषण पालीवाल इससे पहले समाजवादी पार्टी सरकार में नगर विकास के प्रमुख सचिव रह चुके हैं।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper