बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

2015: बेटियों से उम्मीद, बदलेगी लखनऊ की तस्वीर

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 01 Jan 2015 04:23 PM IST
विज्ञापन
review 2014 girls will lead.
ख़बर सुनें
नए साल से सबको अलग-अलग उम्मीदें है। अगर बीते साल पर नजर डालें तो लखनऊ की बेटियां सुनहरे भविष्य की जमीन पहले ही तैयार कर चुकी हैं।
विज्ञापन


राजधानी में दो लाख 12 हजार 989 लड़कियां 20-24 साल की हैं। यानी उस आयु वर्ग से जो किसी देश की दशा और दिशा बदल सकती है, विकास को दिशा दे सकती है।

यही नहीं दो लाख 40 हजार 941 लड़कियां 15-19 की आयु वर्ग की है। यानी विकास को स्थायी दिशा और उसको मुकाम तक पहुंचाने की पूरी क्षमता। चाहे तो सेक्टर हो, उसमें मजबूत कदम रख वे विकास में अपनी भागीदारी बढ़ा भी रही है।


ज्यादा दूर नहीं जाएं सिर्फ 2014 में ही झांकें तो पता चलता है कि किस तरह बेटियां सफलता का परचम फहरा खुद को साबित कर रही हैं। उनमें कामयाबी का जुनून है।

यूपी सीपीएमटी में आलिया जेहरा ने चौथी रैंक हासिल की। वहीं सीमा सिंह इंडियन कॉस्ट एकाउंटेंट ऑफ इंडिया, लखनऊ की महिला अध्यक्ष चुनी गईं।

केजीएमयू में बीडीएस में शिखा गुप्ता छात्रों को कहीं पीछे छोड़ टॉप पर पहुंच गई। कैट के रिजल्ट में सृष्टि अग्रवाल ने 99.15 परसेंटाइल लाकर जता दिया कि बेटियों के लिए 100 परसेंटाइल अब दूर नहीं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

अकाउंटिंग में भी होगा कब्जा

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X